breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

Bharat Bandh 2020:कल किसानों ने बुलाया भारत बंद,जानें आप पर क्या पड़ेगा असर

ट्रेड, इंडस्‍ट्रीज और बैंकिंग से जुड़ी कई यूनियनों ने भी किसान आंदोलन(Kisan andolan)और 'भारत बंद' (Bharat Bandh) को समर्थन देने की बात कही है...

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

नई दिल्ली:केंद्र सरकार के तीन नए कृषि बिलों (New Farm law 2020)के खिलाफ देशभर के किसानों ने मंगलवार(8 दिसंबर 2020) को भारत बंद का आव्हान किया है।

किसानों(Farmers)ने सरकार पर दबाव बनाने की मंशा से 8 दिसंबर को संपूर्ण भारत बंद बुलाया(Farmers calls bharat bandh on 8th Dec) है। कांग्रेस, लेफ्ट सहित ज्यादातर विपक्ष ने भी भारत बंद का समर्थन किया है।

ममता बनर्जी की टीएमसी ने किसानों का समर्थन तो किया है लेकिन भारत बंद का समर्थन नहीं किया।

किसान संगठन और विपक्षी दल भी देश के अलग-अलग हिस्सों में मंगलवार को भारत बंद के दौरान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे।

इसके अलावा ट्रेड, इंडस्‍ट्रीज और बैंकिंग से जुड़ी कई यूनियनों ने भी किसान आंदोलन(Farmers Protest) और ‘भारत बंद’ (Bharat Bandh) को समर्थन देने की बात कही है।

अर्थात राजनीतिक और संगठन के स्‍तर पर भारत बंद को सफल बनाने की पूरजोर तैयारी है।

देश के विभिन्न  राज्‍यों में ‘भारत बंद’ का अलग-अलग असर देखने को मिल सकता है चूंकि कुछ जगहों पर स्‍थानीय स्‍तर पर बड़े प्रदर्शन की योजना है। आंदोलन का केंद्र मुख्‍य रूप से दिल्‍ली-एनसीआर ही रहेगा।

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

किसान आंदोलन को पूरे देश से मिल रहा समर्थन

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

किसान आंदोलन(Farmers Protest) की शुरुआत में पंजाब और हरियाणा के किसान शामिल थे।

बाद में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान नेताओं ने हिस्सा लिया, लेकिन अब इस आंदोलन में संपूर्ण उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्यप्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों के किसान जुड़ गए हैं।

सबसे ज्यादा कहां पड़ेगाभारत बंद का असर?

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

8 दिसंबर को भारत बंद सुबह आठ बजे से लेकर शाम तक चलेगा। इस दौरान दुकानें एवं कारोबार बंद रहेंगे। एंबुलेंस एवं आपात कार्य को बंद से छूट दी गयी है।

किसानों ने दिल्‍ली के बॉर्डर्स को ब्‍लॉक कर रखा हैपंजाब, हरियाणा समेत देशभर से हजारों किसान यहां पहुंचे हैं। दिल्‍ली को उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा समेत उत्‍तर भारत से जोड़ने वाले अधिकतर रास्‍ते बंद हैं।

मंगलवार को हालात और बिगड़ सकते हैं जब खुले रास्‍तों पर भी किसान इकट्ठा होने की तैयारी कर रहे हैं।

शहर के कुछ ऑटो और टैक्सी संघों ने केन्द्र के नए कृषि कानूनों के विरोध में आठ दिसंबर को बुलाए गए ‘भारत बंद’ के समर्थन का फैसला किया है।

दिल्ली(Delhi) की कई सीमाएं सील कर दी गई हैं। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस द्वारा सोमवार की सुबह ट्विटर पर दी गई जानकारी के अनुसार, सिंघु, औचंडी, पियाओ, मनियारी, मंगेश बॉर्डर बंद है।

इसके अलावा टिकरी और झरोडा बॉर्डर भी बंद है। उधर, उत्तर प्रदेश से दिल्ली में प्रवेश करने वाले मुख्य पथ, राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-24 स्थित गाजीपुर बॉर्डर भी किसानों के आंदोलन के चलते बंद है। इसके अलावा नोएडा लिंक रोड स्थित चिल्ला बॉर्डर भी बंद है।

किसान आंदोलन(Kisan andolan) के चलते सिंघु और टिकरी बॉर्डर के साथ-साथ गाजीपुर बॉर्डर पहले से ही बंद था, लेकिन अब कई और सीमाएं सील कर दी गई हैं।

 

नोएडा में धारा 144 लागू, पूरे यूपी में भारी प्रदर्शन की तैयारी

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

उत्तर प्रदेश में भारतीय किसान यूनियन ने बड़े पैमाने पर प्रदर्शन की तैयारी की है। भाकियू नेता सचिन चौधरी ने कहा कि केंद्र सरकार को हर हाल में तीनों कृषि कानूनों को वापस लेना होगा और जब तक ये कानून वापस नहीं होंगे तब तक उनका आंदोलन जारी रहेगा।

भारत बंद के दौरान सुबह से लेकर दिन के तीन बजे तक बाजार, दुकान, संस्थान को बंद रखने की अपील की गई है।

गौतमबुद्ध नगर जिले में छह दिसंबर से दो जनवरी 2021 तक धारा 144 लागू कर दी गई है। डीएम ने यूं तो COVID-19 को वजह बताया है लेकिन फिलहाल इसे किसान आंदोलन(Farmers Protest) से जोड़कर देखा जा रहा है।

पंजाब में पेट्रोल पंप बंद रहेंगे, असम में भी दिखेगा असर

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

पेट्रोल पंप डीलर्स एसोसिएशन ऑफ पंजाब ने 8 दिसंबर को किसान संगठनों के भारत बंद को समर्थन देने की घोषणा की है। मंगलवार को राज्य के सभी पंप बंद रहेंगे और तेल केवल आपातकालीन सेवाओं के लिए उपलब्ध होगा।

महाराष्‍ट्र और असम की सरकारों ने भी बंद का समर्थन किया है। राज्य के 14 विपक्षी दलों ने मंगलवार को सभी कारखानों, कार्यालयों, बैंकों, अदालतों, शैक्षिक संस्थानों और यातायात को बंद करने की अपील की।

 

कर्नाटक विधानसभा का घेराव

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

कर्नाटक राज्य रैयत संघ ने भारत बंद को अपना समर्थन देने की घोषणा की है। राज्य के किसान नौ दिसंबर को विधानसभा सत्र शुरू होने पर विधान सौध का घेराव करेंगे। संघ की तरफ से कहा गया कि “हम पूरे राज्य के जिला मुख्यालयों, तालुक मुख्यालयों और गांवों में अहिंसक तरह से आंदोलन करते हुए बंद करेंगे।”

 

दक्षिणी राज्‍यों में भारत बंद का खुलकर समर्थन कर रहीं पार्टियां

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

दक्षिण के अधिकतर राज्‍यों की सरकारें किसानों के समर्थन में हैं। तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष और तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने कहा कि पार्टी के नेता और कार्यकर्ता इसमें सक्रियता से शामिल होकर बंद को सफल कराएंगे। ‘

तमिलनाडु में द्रमुक नीत विपक्षी खेमे ने आठ दिसंबर को किसानों द्वारा आहूत ‘भारत बंद’ के प्रति समर्थन जताया और कहा कि कृषि कानूनों को वापस लेने की किसानों की मांग ‘‘पूरी तरह से जायज’’ है।

स्टालिन, द्रमुक के सहयोगी दलों कांग्रेस के तमिलनाडु इकाई के प्रमुख के.एस. अलागिरी, एमडीएमके के संस्थापक वाईको और वाम नेताओं ने साझा बयान जारी किया है।

अभिनेता कमल हासन की मक्काल निधि मय्यम (MNM) ने भी किसानों के प्रदर्शनों को समर्थन दिया है। केरल में भी बंद को राज्‍य सरकार का समर्थन है।

 

 

‘हरियाणा और राजस्‍थान में बंद रहेंगी सारी मंडियां’

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

किसान नेता बलदेव सिंह यादव ने सभी से यह सुनिश्चित करने की अपील की कि भारत बंद शांतिपूर्ण रहे। उन्होंने कहा, ‘‘ हम किसी को भी हिंसक होने की इजाजत नहीं देंगे और ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।

हम सभी से बंद का हिस्सा बनने का आह्वान करते हैं।’’ स्वराज इंडिया के अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने कहा, ‘‘हम अपने रुख पर सदैव अडिग हैं। हमने हमेशा मांग की है कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस ले।

हमने अपना रुख नहीं बदला है। हम उस पर दृढ़ हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘महाराष्ट्र एवं अन्य राज्यों के कई संगठन भी भारत बंद का समर्थन कर रहे हैं। हरियाणा, पंजाब और राजस्थान में सभी मंडियां बंद रहेंगी लेकिन शादियों

को बंद से छूट दी गयी है। कई राजनीतिक दलों ने हमारा समर्थन किया है और हम सभी से बंद में हिस्सा लेने की अपील करते हैं।’’

Kisan andolan-Farmers calls bharat bandh on 8th Dec-know impact

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 3 =

Back to top button