Trending

Holi 2023: जानें कब है होली 7 मार्च या 8 मार्च?किस शुभ मुहूर्त में करें होलिका दहन?

चूंकि होलिका दहन की तारीख पर सुबह के समय तो भद्रा रहेगी। ऐसे में लोगों के बीच कंफ्यूजन बरकरार है कि होली 2023(Holi 2023)आखिर कब है 7 मार्च या 8 मार्च?

Holi-2023-kab-hai-Holika-Dahan-2023-shubh-muhurat-रंग-अबीर का त्यौहार होली(Holi)आने वाला है।

हिंदू पंचागानुसार होली की पूजा यानि होलिका दहन(Holika Dahan 2023) प्रति वर्ष फाल्गुन मास की पूर्णिमा के प्रदोष काल में किया जाता है

और फिर उसके अगले दिन बड़ी होली,जिसे दुल्हंडी(dhulandi) भी कहा जाता है,रंग,पानी,अबीर/गुलाल के साथ धूमधाम से मनाई जाती(Holi Celebration)है।

रंग-पानी के साथ होली चैत्र कृष्ण प्रतिपदा को खेली जाती है

हिंदू धर्म में दिवाली(Diwali)की ही तरह होली(Holi)का भी सर्वाधिक महत्व है। इस दिन सभी अपने गिले-शिकवे भुलाकर एक-दूसरे को रंग लगाते है और होली की शुभकामनाएं(Holi Wishes)देते है।

इतना ही नहीं होली पर खुशी की मिठास गुजिया और नाना-प्रकार के पकवान खाकर बांटी जाती है।

अब सवाल यह है कि इस वर्ष होली कब(Holi-2023-kab-hai)है?

चूंकि होलिका दहन की तारीख पर सुबह के समय तो भद्रा रहेगी। ऐसे में लोगों के बीच कंफ्यूजन बरकरार है कि होली 2023(Holi 2023)आखिर कब है 7 मार्च या 8 मार्च?

होलिका दहन 2023 का शुभ मुहूर्त क्या(Holi-2023-kab-hai-Holika-Dahan-2023-shubh-muhurat)है? चलिए आपके इन सभी सवालों के सटीक जवाब ज्योतिषाचार्य के मुताबिक देते है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

होली या होलिका दहन 2023 कब है?-Holi-2023-kab-hai

 

हिंदू पंचागानुसार, फाल्गुन माह की पूर्णिमा तिथि 06 मार्च दिन मंगलवार को शाम 04 बजकर 17 मिनट पर प्रारंभ होगी और इस तिथि का समापन 07 मार्च, दिन बुधवार को शाम 06 बजकर 09 मिनट पर होगा।

फाल्गुन पूर्णिमा तिथि में प्रदोष काल में होलिका दहन होती है। ऐसे में इस वर्ष होलिका दहन 07 मार्च 2023, दिन मंगलवार को है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

होलिका दहन 2023 का शुभ मुहूर्त-Holika-Dahan-2023-shubh-muhurat

07 मार्च को होलिका दहन का मुहूर्त शाम को 06 बजकर 24 मिनट से रात 08 बजकर 51 मिनट तक है।

इस दिन होलिका दहन का कुल समय 02 घंटे 27 मिनट तक है. इस समय में होलिका पूजा होगी और फिर होलिका में आग लगाई जाएगी।

होलिका दहन के दिन 07 मार्च को भद्रा सुबह 05 बजकर 15 मिनट तक है। ऐसे में प्रदोष काल में होलिका दहन के समय भद्रा का साया नहीं रहेगा।

 

 

 

 

holi 2021: बढ़ा कोरोना का खतरा,होली पर गलती से भी ये सब न करना

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

होली 2023-Holi-2023-kab-hai-Holika-Dahan-2023-shubh-muhurat

होलिका दहन के अगले दिन बड़ी होली,जिसे दुल्हंडी(dhulandi) भी कहते है,मनाई जाती है।

ऐसे में इस साल होली का त्यौहार(Holi 2023)08 मार्च 2023, दिन बुधवार को मनाया जाएगा। 08 मार्च को चैत्र कृष्ण प्रतिपदा तिथि शाम 07 बजकर 42 मिनट तक है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

होली का महत्व- Holi Importance

भगवान विष्णु के परम भक्त प्रह्लाद को आग में जलाकर मारने के लिए उसके पिता हिरण्यकश्यप ने अपनी बहन होलिका को तैयार किया।

होलिका के पास एक चादर थी, जिसको ओढ़ लेने से उस पर आग का प्रभाव नहीं होता था।

इस वजह से वह फाल्गुन पूर्णिमा को प्रह्लाद को आग में लेकर बैठ गई।

भगवान विष्णु की कृपा से भक्त प्रह्लाद बच गए और होलिका जलकर मर गई।

इस वजह से हर साल होलिका दहन किया जाता है और अगले दिन रंगों की होली मनाई जाती है।

होली बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक के रूप में मनाया जाता है।

 

 

 

 

 

Holi Special : अपने प्यारे बालों को रंगों से इस तरह से बचाकर खेलें रंगबिरंगी होली

 

 

 

 

 

 

Holi-2023-kab-hai-Holika-Dahan-2023-shubh-muhurat

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button