breaking_newsअन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल
Trending

Kharmas 2022: शुरू हो गया खरमास या अधिकमास,मलमास;अब न करें ये शुभ काम

खरमास के महीने में कुछ मांगलिक कार्यों की मनाही होती है। खरमास का महीना 14 अप्रैल तक जारी रहेगा।

Kharmas-Adhikmas-Malmass-2022:mein-nahi-kare-ye-shubh-kaam

खरमास(Kharmas)का महीना शुरु हो गया है। हिंदू धर्म में खरमास को ही अधिकमास या मलमास(Kharmas-Adhikmas-Malmass-2022)कहा जाता है।

मान्यता है कि खरमास के महीने में कुछ मांगलिक कार्यों की मनाही होती है।

खरमास का महीना 14 अप्रैल तक जारी रहेगा।

अधिकमास या मलमास की शुरुआत 14 मार्च से हो गई है और 14 अप्रैल की सुबह 8 बजकर 43 मिनट तक खरमास या अधिकमास या मलमास जारी रहेगा।

ज्योतिष शास्त्रानुसार, खरमास(Kharmas 2022)के दौरान सूर्य कुंभ राशि से निकलकर मीन राशि में रहता है।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार,खरमास में कुछ शुभ या मागंलिक कार्यों को करना वर्जित माना जाता(Kharmas-Adhikmas-Malmass-2022:mein-nahi-kare-ye-shubh-kaam)है।

चलिए बताते है विस्तार से इनके बारे में:

Holi 2022: होली पर बालों और त्वचा को नुकसान से बचाने के लिए अपनाएं ये टिप्स

खारमास/अधिकमास/मलमास के दौरान इन कामों को करना है वर्जित

Kharmas-Adhikmas-Malmass-2022:mein-nahi-kare-ye-shubh-kaam:

ऐसी मान्यता है कि खरमास के लगने से अर्थात शुरू हो जाने के बाद से खत्म होने तक कोई भी शुभ काम नहीं किए जाते। यह महीना सूर्यदेव को समर्पित है।

उनका महीना है।इसलिए खरमास के महीने में सूर्यदेव(Suryadev)की पूर्ण श्रद्धाभाव से पूजा-अराधना करनी चाहिए।

इसके साथ ही, खरमास में दान करने को भी शुभ कहा जाता है।

महाशिवरात्रि स्पेशल-शादी के यह फाडू टोटके, तुरंत होगा विवाह

 

खरमास के महीने में लोगों को कई कार्य न करने और उनसे परहेज करने की सलाह दी जाती है। ये कार्य निम्न हैं:

Kharmas-Adhikmas-Malmass-2022:mein-nahi-kare-ye-shubh-kaam:

-मान्यता है कि खरमास में लहसुन और प्याज का सेवन ना करके पूरे माह शाकाहारी भोजन ही करना चाहिए।

-इस दौरान मुंडन, अन्न संस्कार, पहली तीर्थ यात्रा और विवाह आदि भी करने अच्छे नहीं माने जाते।

-खरमास के दौरान नई चीजें जैसे वाहन, गहने या घर आदि ना खरीदने की सलाह दी जाती है।

-माना जाता है कि खरमास में तांबे के बर्तन में रखा हुआ दूध या पानी नहीं पीना चाहिए।

-सूर्य देव की कृपा पाने के लिए इस माह में चारपाई की जगह जमीन पर सोने की सलाह दी जाती है।

 

 

 

Kharmas-Adhikmas-Malmass-2022:mein-nahi-kare-ye-shubh-kaam

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button