breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

WHO ने चेताया-जानलेवा है इस साल कोरोना,बच्चों को कोविड टीका देने की जगह गरीब देशों को दान दें वैक्सीन

वर्तमान में भारत कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है जोकि बहुत घातक और जानलेवा है...

WHO-chief-warns-corona-deadly-this-year-don’t-vaccinate-kids

जिनेवा:पूरे विश्व के लिए इस वर्ष कोरोना की दूसरी लहर बहुत जानलेवा है।यह चेतावनी विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रोस एडहानॉम घेब्रेयसस (Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने दी है।

इतना ही नहीं, डब्ल्यूएचओ चीफ ने अमीर देशों से भी अपील की है कि वे बच्चों को कोविड का टीका न देकर कोरोना वैक्सीन की डोज कोवैक्स(Covax)में दान(WHO-chief-warns-corona-deadly-this-year-don’t-vaccinate-kids)करें।

जिससे कोरोना वैक्सीन(Corona vaccine) की ये डोज गरीब देशों को मिल सकें और उनके देशवासियों की जान बचाई जा सकें।

WHO ने कहा है कि विश्वभर में अभी तक इस महामारी से 33 लाख 46 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

गौरतलब है कि डब्ल्यू चीफ ने यह बातें ऐसे समय में कही हैं जब अमेरिका और कनाडा सरीखे अमीर देश अपने बच्चों और टीनएजर्स को COVID-19 का टीका लगा रहे हैं,

जबकि कई गरीब देशों में अभी तक स्वास्थ्यकर्मियों, डॉक्टरों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी कोरोना का टीका नहीं लग सका है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ने कहा, ‘मैं समझ सकता हूं कि क्यों कुछ देश अपने यहां बच्चों और किशोरों को वैक्सीन देना चाहते हैं, लेकिन फिलहाल मैं उनसे इस पर पुनर्विचार करने और इसके बजाय कोवैक्स को वैक्सीन डोनेट करने की गुजारिश करता हूं।’

WHO-chief-warns-corona-deadly-this-year-don’t-vaccinate-kids

 

जानें क्या है कोवैक्स?

कोवैक्स फसिलटी कोरोना वैक्सीन को लेकर एक ग्लोबल कोलैबोरेशन है।

इसका लक्ष्य वैक्सीन डिवेलपमेंट, प्रॉडक्शन और हर किसी तक इसकी पहुंच बनाने की है।

इस कोलैबोरेशन का नेतृत्व GAVI की तरफ से किया जा रहा है।

GAVI एपिडेमिक प्रिपेयर्डनेस इनोवेशन (CEPI) और WHO का गठजोड़ है।

यही कारण है कि WHO चीफ ने कहा है कि स्वस्थ लोगों को कोविड का टीका लगाने की जगह, अमीर देशों को कोरोना वैक्सीन कोवैक्स ग्लोबल वैक्सीन शेयरिंग स्कीम को दान करना चाहिए।

WHO चीफ ‎टेड्रोस एडहानॉम घेब्रेयसस(WHO chief general Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने कहा कि COVID-19 Vaccine की ज्यादा से ज्यादा सप्लाई केवल अमीद देशों को हुई है, जहां कोविड के लो रिस्क लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है, जबकि गरीब देशों के हाई रिस्क लोग अभी भी वैक्सीन से महरूम हैं।

गौरतलब है कि अब तक 210 देशों में कोविड वैक्सीन की 1.4 बिलियन डोज लोगों को लगाई जा चुकी है।

इनमें से 44% डोज हाई-इनकम वाले देशों के लोगों को लगाई गई है, जबकि इनकी जनसंख्या केवल 16% है।

वहीं, सबसे गरीब 29 देशों में केवल 0.3% वैक्सीन की डोज लगाई गई है, जबकि विश्व में इन देशों की जनसंख्या करीब 10% है।

 

WHO-chief-warns-corona-deadly-this-year-don’t-vaccinate-kids

भारत में कोरोना की दूसरी लहर है घातक और जानलेवा

वर्तमान में भारत कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है जोकि बहुत घातक और जानलेवा (WHO-chief-warns-corona-deadly-this-year)है।

भारत(India) में अभी तकरीबन उतने नए केस सामने आ रहे हैं जितना बाकी दुनिया में कुल मिलाकर नए केस आ रहे हैं।

अभी तक 2 लाख 60 हजार से ज्यादा भारतीयों की कोरोना से मौत हो चुकी हैं।

ठीक इसी प्रकार से जापान(Japan) अभी कोरोना की भीषण चौथी लहर का सामना कर रहा है और वहां ओलिंपिक से महज 10 हफ्ते पहले 3 क्षेत्रों में इमर्जेंसी लगानी पड़ी है।

अब वहां ओलिंपिक गेम्स को रद्द करने की मांग जोर पकड़ने लगी है।

हालांकि अमेरिका में तेजी से वैक्सीनेशन के बाद हालातों में तेजी से सुधार हुआ हैं।

वहां के करीब 60 प्रतिशत वयस्कों को वैक्सीन की एक या दो डोज मिल चुकी हैं।

अमेरिका(US) में गुरुवार से 12 से 15 साल के बच्चों को फाइजर की वैक्सीन लगनी शुरू भी हो चुकी है।

 

WHO-chief-warns-corona-deadly-this-year-don’t-vaccinate-kids

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × five =

Back to top button