breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिक खबरेंविश्वहेल्थ
Trending

ट्रंप की धमकी के बाद भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन के निर्यात पर लगाई मुहर, सोशल मीडिया आया उबाल

सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन की दवा के लिए पीएम मोदी को धमकी देते दिखे...

नई दिल्ली:India Allow export Hydroxychloroquine after Trump threatens- अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकी के बाद भारत ने आखिरकार कोरोना के इलाज में कारगर दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन के निर्यात को मंजूरी दे ही (India Allow export Hydroxychloroquine after Trump threatens) दी।

सोमवार को खबर आई थी कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत को धमकी दी है कि अगर भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन (Hydroxychloroquine) की दवा का अमेरिका को निर्यात नहीं किया तो अमेरिका बदले की कार्रवाई कर सकता है।

जबकि इससे पहले शनिवार को ट्रंप ने इसी दवा के लिए पीएम मोदी से पहले आग्रह करने की बात कही थी और फिर सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन की दवा के लिए पीएम मोदी को धमकी देते दिखे।

उनके इस लहजे की भारत में काफी आलोचना हो रही है। अब ट्रंप की धमकी के 6 घंटे बाद भारत कोरोना के इलाज में कारगर मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन का निर्यात करने पर राजी हो गया (India Allow export Hydroxychloroquine after Trump threatens) है।

हालांकि केंद्र ने मंगलवार को पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि भारत कुछ देशों में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन दवा का निर्यात करेगा,लेकिन पहले देश की जरूरतों को प्राथमिकता देंगे।

अन्य देशों में कोरोना के कितने केस है, इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा। वैसे भारत की स्टेटमेंट अमेरिका की धमकी के 6 घंटे बाद आया है।

हालांकि भारत द्वारा ट्रंप की धमकी दिए जाने के बाद हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन दवा के निर्यात पर लगी रोक हटाने को लेकर सोशल मीडिया पर हैशटैग #डरपोक_मोदी ट्रेंड करने लगा। यूजर्स भारत के इस कदम की आलोचना करने लगे।

गौरतलब है कि मंगलवार को भारतीय समयानुसार तड़के 4 बजे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने धमकी देते हुए कहा था कि अगर भारत उनके व्यक्तिगत आग्रह के बावजूद दवा नहीं भेजता तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

ध्यान दें कि भारत में मलेरिया के इलाज की पुरानी और सस्ती दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन है। देश के स्वास्थ्यकर्मी इस दवा को कोरोना संक्रमण के बीच एंटी वायरल मेडिसिन के रूप में प्रयोग कर रहे है।

इसी कारण भारत ने बीते महीने ही हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था।

नासा के वैज्ञानिकों ने भी मलेरिया निरोधक हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन को कोरोना (Corona) से लड़ने में कारगर बताया था। इसलिए खुद अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप भी अपने देश और खुद अपने लिए भारत से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन दवा की मांग कर रहा है।

 

India Allow export Hydroxychloroquine after Trump threatens

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: