breaking_newsअन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूजमार्केट
Trending

Yes Bank को Axis, HDFC और ICICI की हां, सब करेंगे करोड़ों का निवेश

एचडीएफसी (HDFC) बोर्ड ने भी आज को यस बैंक (Yes Bank) में 1000 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी दे दी है...

नई दिल्ली:Axis,HDFC and ICICI Bank will invest cores in Yes Bank- डूबते को तिनके का सहारा और यस बैंक (Yes Bank) को एसबीआई (SBI) के बाद अब दो और बैंकों का सहारा मिल गया है।

यस बैंक (Yes Bank) में आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) का बोर्ड 1000 करोड़ (1000 crores) रुपए निवेश करेगा और एक्सिस बैंक (Axis Bank) 600 करोड़ (600 crores) रुपए निवेश (Axis,HDFC and ICICI Bank will invest cores in Yes Bank) करेगा।

दरअसल, शुक्रवार को ICICI बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज को बताया है कि वह 10 रुपए प्रति शेयर भाव से यस बैंक के 100 करोड़ शेयर खरीदेगी।

तो दूसरी ओर, एक्सिस बैंक (Axis Bank) ने भी जानकारी दी है कि वह भी यस बैंक में 600 करोड़ रुपये का निवेश (Axis,HDFC and ICICI Bank will invest cores in Yes Bank) करेगा।

एक्सिस बैंक 10 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 60 करोड़ शेयर खरीदने वाला है।

एचडीएफसी (HDFC) बोर्ड ने भी आज को यस बैंक (Yes Bank) में 1000 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी दे दी है।

HDFC बैंक इस निवेश को इक्विटी के द्वारा करेगा। एचडीएफसी (HDFC) 10 रुपये प्रति शेयर के भाव से यस बैंक के 100 करोड़ इक्विटी लेगा।

इससे पहले ICICI के बोर्ड ने भी यस बैंक में निवेश की मंजूरी दे दी है।

ICICI बैंक ने स्टॉक एक्सचेंज (Stock exchange) को आगे जानकारी देते हुए कहा कि, ” Yes बैंक में ICICI बैंक 5 फीसदी हिस्सेदारी ले सकता है। हालांकि यस बैंक की फाइनल शेयरहोल्डिंग रीकंस्ट्रक्शन के बाद ही तय होगी”

गौरतलब है कि यस बैंक में 5 फीसदी हिस्सेदारी लेने के बाद  ICICI बैंक, SBI के बाद सबसे बड़ा हिस्सेदार हो (Axis,HDFC and ICICI Bank will invest cores in Yes Bank) जाएगा।

हालांकि इससे पूर्व गुरुवार को SBI ने बताया था कि वह 10 रुपये प्रति शेयर के भाव से 725 करोड़ शेयर खरीदेगा और इसके द्वारा वह 7250 करोड़ रुपये का निवेश (investment) करेगा।

सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक, LIC भी 10 रुपये प्रति शेयर भाव से यस बैंक के 135 करोड़ शेयर खरीदेगी और 1350 करोड़ रुपए निवेश करेगी।

गौरतलब है कि आरबीआई (RBI) ने बीते हफ्ते 5 मार्च को Yes बैंक के बोर्ड का टेकओवर किया था और उस पर  एक महीने के लिए मोराटोरियम लागू कर दिया था।

इसके अंतर्गत  5 अप्रैल तक यस बैंक (Yes Bank) के खातों से सिर्फ 50,000 रुपये ही निकाले जा सकते है।   

 इसके बाद  RBI ने 6 मार्च को यस बैंक के लिए  पुनर्गठन योजना जारी की थी। इसके अनुसार, SBI यस बैंक में 49 फीसदी हिस्सेदारी लेगा।

रीकंस्ट्रक्शन प्लान के अंतर्गत SBI 3 साल तक यस बैंक (Yes Bank) में कम से कम 26 फीसदी हिस्सेदारी रखेगा।

तो वहीं अब प्राइवेट सेक्टर के बैंक भी 3 साल तक कम से कम 75 फीसदी हिस्सेदारी रखेंगे। 

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने आज जानकारी दी कि यस बैंक (Yes Bank) का ऑथराइज्ड कैपिटल 1110 करोड़ से बढ़ाकर 6200 करोड़ किया जाएगा।

 

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 + 20 =

Back to top button