breaking_newsHome sliderविचारों का झरोखासंपादक की कलम से

ये है विश्व का सबसे उत्कृष्ठ धर्म…जिसके आगे है नतमस्तक हम

आप बताइये कि विश्व का सबसे अच्छा धर्म कौन सा है…?

आप सोच रहे होगें कि विश्व का सबसे अच्छा धर्म या तो हिन्दू या इस्लाम या सिख या फिर ईसाई है, पर नहीं! इनमें से कोई नहीं l

अच्छे धर्म का मतलब यह नहीं है कि किसकी आबादी ज्यादा है या उसे कितने लोग फॉलो करते है बल्कि इसका मतलब है कि वह धर्म जिसके आगे दुनिया के सारे नीति-नियम, मूल्य मायने न रखें, वह धर्म जिसके आगे सारे-रिश्ते नाते छोटे हो जाएं, जहां आप दुश्मन को भी दोस्त बना लें और आपकी निष्ठा केवल उसी धर्म के प्रति हो यानि आप पूरी तरह उस धर्म के पक्के हो और दुनिया की हर चीज उसके आगे नग्णय लगे…वही है सबसे अच्छा धर्म।

विश्व का सबसे अच्छा धर्म है ‘राजनीति’ …

जी हाँ, इनकी संख्या विश्व में बहुत कम होगी, पर जितनी भी है यह अपने धर्म को बखूबी निभाते है। यह कितना भी एक दूसरे से बैर कर लें लेकिन रात को इस धर्म के अनुयायी एक-दूसरे के साथ बाहों में बाहें डाले आपको दिख जायेंगे l इस धर्म की सबसे बड़ी विशेषता है कि यह बाकी धर्मों की तरह दुश्मनी या दोस्ती नहीं रखता। यह सिर्फ और सिर्फ मोह रखता है तो अपने भगवान के प्रति और इनका भगवान है ‘कुर्सी’ l इस भगवान के लिए वह दोस्तों से दुश्मनी भी कर लेते है और बड़े से बड़े दुश्मन को दोस्त भी बना लेते है l इनके लिए इनका भगवान ही सब कुछ है l

इस धर्म के अनुयायी भी बड़े दिलचस्प होते है l वे सबसे पहले अपने छोटे भगवान, खुदा, या रब को मानते है। जब वह मान जाते है तो वह भगवान के बड़े रूप को पूजते है l कोई- कोई विरला ही होता है जिनके वंशज बड़े भगवान रूप को पूजते है और भगवान प्रसन्न हो उनकी मुराद पूरी भी कर देता है l (अगर आप यहाँ नहीं समझे तो मैं आपको यह बता दूं छोटे भगवान मतलब पार्षद,पंचायत या नगरसेवक की कुर्सी, फिर उनसे बड़े भगवान का मतलब है- विधानसभा की कुर्सी, उनसे बड़े भगवान मुख्यमंत्री की कुर्सी, उनसे बड़े भगवान केन्द्रीय मंत्री की कुर्सी और सबसे बड़े भगवान यानि भारत में प्रधानमंत्री की कुर्सी ) तो ये है राजनीति के भगवान। इनको पाने के लिए इस धर्म के भक्त इस तरीके से जुड़ जाते है कि इनको किसी की परवाह  नहीं होती l इस भगवान को प्रसन्न करने के लिए यह अपनी सारी नैतिकता को तांक पर रख देते है l इनका एक मात्र लक्ष्य होता है- अपने भगवान को प्रसन्न कर उनका स्थान लेना l

अब बात करते है कि यह धर्म सबसे अच्छा धर्म क्यों है? … क्यों न हो उसका कारण बताओ …

अन्य धर्मों की तरह इस धर्म में कोई भी नियम नहीं है (रूल्स एंड रेगुलेशन्स )

और धर्मो की तरह यह कट्टरपंथि धर्म नहीं है l

हिंसा तो इस धर्म से बहुत दूर है l

इस धर्म के अनुयायी सभी तरह के लोग है। जात-पात यहाँ नहीं होती l

इस धर्म के सभी लोग (भारत में) सफ़ेद कपड़ा पहनना पसंद करते है l सादगी में रहना इस धर्म की सबसे बड़ी विशेषता है l

चाहे कुछ भी हो जाए इस धर्म के अनुयायी आपसे हमेशा अच्छे से व्यवहार करेंगे l

राजनीति धर्म में कोई भी, कभी भी, कहीं भी आपसे प्यार करने लगता है l आपका सबसे बड़ा दुश्मन भी आपसे गले आकर मिलता है l 

जाने-अनजाने ही सही मैंने इस धर्म से आप लोगों को अवगत करा दिया l अब आपका काम है इस धर्म का प्रचार प्रसार करना या ….. लोग काफी समझदार है l सबको पता है कि क्या करना है, कैसे करना है और क्यों करना है। लेकिन हां, इस धर्म को अपनाने का सबसे बड़ा फायदा है आपका रुतबा समाज में हमेशा एकदम साफ़ रहता है l लोग कम से कम आपके मुंह पर कुछ नहीं कहते l वे हमेशा आपके हितैषी बनकर आपसे मिलते है l

तो आइये विश्व के इस सबसे अच्छे धर्म के बारे में जानिये और लोगों को भी बताएं l

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 − 7 =

Back to top button