breaking_newsअन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल
Trending

Sunday Thoughts : मुकाम वो चाहिए, की जिस दिन भी "हार" जाऊ..!!

जीत खुद आकर कहे माफ़ करना मज़बूरी थी...!!, जब कोई आपके साथ खड़ा न हो तो निराश न हों : सुविचार

sunday-thoughts motivational-quotes suvichar-in-hindi
मुकाम वो चाहिए, की जिस दिन भी “हार” जाऊ..!!
जीत खुद आकर कहे माफ़ करना मज़बूरी थी…!!
जब कोई आपके साथ खड़ा न हो तो निराश न हों ..
(Don’t be disappointed when nobody stands with YOU..)
चाणक्य ने सही कहा (CHANAKYA rightly said)
मैं उन लोगों का आभारी हूं जिन्होंने मुझे छोड़ दिया,
क्योंकि उन्होंने मुझे सिखाया
(I am thankful to those who left me, because they taught me)
‘मैं इसे अकेला कर सकता हूं ….!
( I CAN DO IT ALONE ….!)
अपने आप पर भरोसा करो 
(Trust Your Self)

यह भी पढ़े :

Wednesday Thought : “खुशी” थोड़े समय के लिए सबर देती है, लेकिन, “सबर”….

शुक्रवार सुविचार : जीवन में किसी को रुलाकर हवन भी करवाओगे तो….

गुरुवार सुविचार : हम आ जाते हैं बहुत जल्दी दुनियां की बातों में गुरु की बातों में

मंगलवार सुविचार : चार आने…साँस बारह आने … तेरा एहसास

Tuesday Thoughts : अपमान करना किसी के “स्वभाव” में हो सकता है

Sunday Thoughts : जिंदगी में सबसे ज्यादा दुःख देता है “बीता हुआ सुख”

राफेल घोटाला तो कुछ भी नहीं NDA का बड़ा घोटाला फसल बीमा योजना : पी. साइर्ंनाथ

दिवाली स्पेशल जोक्स : आदरणीय रसगुल्ला मामा सादर प्रणाम, बड़े हर्ष के साथ …..

है परेशान कब और किस दिन काटें नाख़ून या बाल..? लो यह है समाधान…!

(इनपुट सोशल मीडिया से)

sunday-thoughts motivational-quotes suvichar-in-hindi

Show More

Dropadi Kanojiya

द्रोपदी कनौजिया पेशे से टीचर रही है लेकिन अपने लेखन में रुचि के चलते समयधारा के साथ शुरू से ही जुड़ी है। शांत,सौम्य स्वभाव की द्रोपदी कनौजिया की मुख्य रूचि दार्शनिक,धार्मिक लेखन की ओर ज्यादा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen + four =

Back to top button