breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशलाइफस्टाइल
Trending

Surya Grahan 2020:आज है सदी का पहला सूर्यग्रहण,जानें ग्रहण का समय,सावधानियां

21 जून को पड़ने वाले ग्रहण का सूतक काल 20 जून को रात 09:15 बजे शुरू हो गया है...

surya-grahan-2020-date-time-suryagrahan-mein-ye-na-kare-solar-eclipse-2020

नई दिल्ली, (समयधारा) : आज 21जून 2020, रविवार को सदी का पहला सूर्यग्रहण है। 

हमारे देशवासी हमेशा से ग्रहों को अपने दैनिक जीवन में आने वाले प्रभाव से जोड़कर देखते है l 

 इसमें सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण की अपनी अलग ही मान्यता है l 

सूर्यग्रहण और चंद्रग्रहण के दौरान पूजन ध्यान करने के लिए कहा जाता है l 

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सूतक काल में कोई भी शुभ काम करना की मनाही है l यह अशुभ माना जाता है l

कई लोग अपने घरों से कहीं बाहर नहीं जाते हैं, और ग्रहण के अशुभ प्रभाव से बचने का प्रयास करने की कोशिश करते हैं l 

इस दौरान खाना खाने की तो विशेष मनाही होती है l इसलिए कई लोग ग्रहण लगने से पहले ही खाना खा लेती है l 

surya-grahan-2020-date-time-suryagrahan-mein-ye-na-kare-solar-eclipse-2020

 माना जाता है कि खाद्य वस्तुएं ग्रहण की वजह से अपवित्र हो जाती हैं l इसलिए लोग ऐसा करते है l 

खासतौर पर अन्न के विषय में ऐसी मान्यता है l  वहीं प्रेग्नेंट महिलाओं को ग्रहण के वक्त भूख लगे तो वह फलाहार कर सकती हैं l 

 

सूर्य ग्रहण का समय (Surya Grahan date-time) 

अगर हम भारतीय समयानुसार देखें तो यह  सूर्यग्रहण आंशिक रूप से 21जून, सुबह 9 बजकर 15 मिनट पर शुरू होगा।

फिर पूर्ण सूर्य ग्रहण की अवस्था  सुबह 10 बजकर 17 मिनट पर शुरू होगी और दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर सूर्य ग्रहण अपने सबसे ज्यादा प्रभावी रूप में होगा।

इसके पश्चचात यह  3 बजकर 4 मिनट पर खत्म हो जाएगा।

इस वर्ष का  सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse 2020) बाकि अन्य ग्रहणों से काफी अलग है और अभी के बाद यह 2039 में ही देखने को मिलेगा।

 

surya-grahan-2020-date-time-suryagrahan-mein-ye-na-kare-solar-eclipse-2020

सूर्य ग्रहण का सूतक कालSutak Kaal time

सूर्य ग्रहण से पहले और सूर्य ग्रहण के समय कुछ कामों को कहने की मनाही होती है। मान्यता है कि यह वर्जित समय या सूतक काल होता है। जिसमें कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता।

शास्त्रों के अनुसार सूर्यग्रहण लगने से 12 घंटे पहले सूतक काल हो जाता है

सूतक काल 20 तारीख की रात में 9 बजकर 56 मिनट से शुरू हो गया। हां ग्रहण का मध्य 11 बजकर 30 मिनट पर होगा और ग्रहण मोक्ष 1 बजकर 19 मिनट 43 सेकंड रहेगा।

यहां सूर्यग्रहण के दौरान सूर्य करीब 84 प्रतिशत तक छुप जाएगा।

दरअसल, 21 जून को पड़ने जा रहे सूर्यग्रहण की खास बात यह है कि इस बार ग्रहण से 12 घंटे पहले सूतक काल शुरू चुका है ,जोकि अब 21 जून सूर्यग्रहण ख़त्म होने तक जारी रहेगाl

21 जून को पड़ने वाले ग्रहण का सूतक काल 20 जून को रात 09:15 बजे शुरू हो गया है।

यह सूतक काल 21 जून को ग्रहण की समाप्ति पर खत्म होगा। 

वही बात करें देश की राजधानी दिल्ली की तो यहाँ ग्रहण की शुरुआत सुबह 10.20 पर होगी। ग्रहण दोपहर करीब 12.02 पर पूर्ण प्रभाव में रहेगा l

वही इसकी समाप्ति 1.49 पर होगी l देश के कई राज्यों में ग्रहण का समय अलग-अलग होगा l

surya-grahan-2020-date-time-suryagrahan-mein-ye-na-kare-solar-eclipse-2020

 

आप में से कई लोगों को यह पता नहीं होगा की सूर्यग्रहण क्या है 

आपकी जानकारी के लिए बता दे सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा के आ जाने की खगोलिया स्थिति से,

जब सूर्य का प्रकाश पृथ्वी पर नहीं पहुंच पाता है, तो इस स्थिति को ही सूर्य ग्रहण कहा जाता है l 

21-june-2020 suryagrahan-date-time-sutak  solar-eclipse-2020

 

क्यों है यह सूर्यग्रहण सबसे खास

दरअसल, 21 जून को सबसे बड़ा दिन होता है। इस दिन पृथ्वी, सूर्य की परिक्रमा (Summer Solstice Solar Eclipse) करते हुए, सूर्य की ओर अपने अधिकतम झुकाव पर पहुंच जाती है। 

 

सूर्य ग्रहण कहां-कहां दिखेगा

भारत के देहरादून, सिरसा और टिहरी आदि शहरों में पूर्ण सूर्य ग्रहण दिखाई देगा। वहीं देश के अन्य हिस्सों में आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई देगा।

surya-grahan-2020-date-time-suryagrahan-mein-ye-na-kare-solar-eclipse-2020

 

चलिए अब बताते है कि सूर्य ग्रहण के समय क्या करें और क्या न करें-

Solar-eclipse-2020-dos and don’ts

1. ग्रहण काल में भूलकर भी खान-पान, शोर मचाना या किसी भी तरह का शुभ कार्य जैसे कि पूजा-पाठ आदि नहीं करना चाहिए।

2. हालांकि, आप चाहें तो इस दौरान गुरु मंत्र का जाप, किसी भी मंत्र की सिद्धी, रामायण, सुंदरकांड का पाठ आदि कर सकते हैं.

3. सूतक लगने के बाद गर्भवती महिलाओं को घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए. ग्रहण काल में सूर्य की पराबैंगनी किरणे निकलती हैं। यह किरणें गर्भस्थ शिशु के लिए हानिकारक होती हैं।

4. ग्रहण खत्म हो जाने के बाद पवित्र नदियों में स्नान कर के शुद्धिकरण कर लेना चाहिए।

5. सूतक लगने से पहले घर में मौजूद खाने की सभी चीजों में तुलसी के पत्ते या फिर घांस डाल देनी चाहिए।

6. साथ ही घर के मंदिर को सूतक लगने से पहले ही पर्द से ढक दें या फिर उसके कपाट बंद कर दें।

7. माना जाता है कि ग्रहण खत्म होने के बाद मन की शुद्धी के लिए दान-पुण्य करना चाहिए।

surya-grahan-2020-date-time-suryagrahan-mein-ye-na-kare-solar-eclipse-2020

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 4 =

Back to top button