breaking_newsअन्य ताजा खबरेंएप्सटेक न्यूजटेक्नोलॉजीदेशबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

Yes Bank: 24 घंटे तक संकट में रहे PhonePe यूजर्स, Flipkart और Swiggy भी फंसे, Paytm ने उड़ाई खिल्ली

PhonePe ने अब अपने प्लेटफॉर्म पर UPI भुगतान सेवा को लाइव कर दिया है...

नई दिल्ली: Yes Bank moratorium shut PhonePe transactions- प्राइवेट सेक्टर के यस बैंक(Yes Bank Crises) की खस्ता माली हालत ने फोनपे (PhonePe) डिजिटल पेमेंट वॉलेट को भी संकट में डाल दिया। वैसे तकरीबन 24 घंटे तक सर्विस बंद रहने के बाद फोनपे (PhonePe) ने UPI सर्विस को लाइव अब कर दिया (PhonePe UPI service live now) है।

दरअसल, रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) ने यस बैंक (Yes Bank) से पैसों की निकासी सहित कई अन्य बैंकिंग सेवाओं पर भी पाबंदी लगा दी है और इसका असर सबसे ज्यादा डिजिटल पेमेंट वॉलेट एप फोनपे (PhonePe) पर पड़ा है, नतीजतन PhonePe की सर्विस बंद हो गई (Yes Bank moratorium shut PhonePe transactions)

हालांकि फोनपे की सर्विस लगभग 24 घंटे तक प्रभावित रहने के बाद बेंगलुरु स्थित पेमेंट वॉलेट PhonePe ने अब अपने प्लेटफॉर्म पर UPI भुगतान सेवा को लाइव कर दिया है।

गौरतलब है कि Yes Bank पर आरबीआई (RBI) ने कई तरह की पाबंदियां लगाई है, जिसके कारण डिजिटल भुगतान सर्विस प्लेटफॉर्म यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) पर आधारित ट्रांजेक्शन रुक गए (Yes Bank moratorium shut PhonePe transactions) है।

इसके कारण यस बैंक की सबसे बड़ी पेमेंट पार्टनर कंपनी फोनपे (PhonePe) काफी बुरी तरह प्रभावित हुई है।

इतना ही नहीं, फोनपे को फ्लिपकार्ट, स्विगी और मेकमाईट्रिप सरीखी कंपनियों ने भी अपने सिस्टम से हटा दिया है।

साथ ही फ्लिपकार्ट (Flipkart)और स्विगी (Swiggy) ने UPI विकल्प को भी हटा दिया (Flipkart, Swiggy remove UPI) है।

हालांकि इस वॉलेट में पेमेंट करने के लिए जिनका पैसा था, वो फिलहाल फंसा ही रहेगा।

अभी तक फोनपे की ओर इस बाबत कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं हुआ है।

वैसे यस बैंक (Yes Bank) के सीईओ समीर निगम ने एक ट्वीट करके लिखा है कि ‘हमारे बैंकिंग भागीदार यस बैंक (Yes Bank) पर पाबंदियों के कारण पेमेंट एप की सर्विसेज बाधित हुई हैं। हमें इस लंबी रुकावट के लिए खेद है। सर्विसेज जल्द ही शुरू हो जाएंगी।‘

गौरतलब है कि गुरुवार को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने Yes Bank पर स्थगन प्रस्ताव रखा, जिसके बाद यस बैंक ग्राहक अब प्रति महीना मात्र 50,000 रुपये पैसा निकाल सकते है।

YesBankcrisislatestupdate-EDregisteredmoneylaunderingcaseRanaKapoor_optimized

इतना ही नहीं, यस बैंक के पूर्व संस्थापक राणा कपूर (Yes Bank founder Rana Kapoor) पर भी ईडी ने  शुक्रवार को मनी लॉन्ड्रिंग केस दर्ज किया है और लुक आउट नोटिस जारी कर दिया है।

Yes Bank की खराब माली हालत की खबर ने न केवल ग्राहकों पर गाज गिराई बल्कि भारत में विभिन्न थर्ड पार्टी एप्लीकेशन्स व फिनटेक स्टार्टअप्स को भी बुरी तरह प्रभावित कर दिया।

इन्हीं डिजिटल पेमेंट एप्स में से एक PhonePe है, जिसने पूरी तरह से आउटेज का सामना तभी से करना शुरू कर दिया था,जबसे यस बैंक के स्थगन की घोषणा सार्वजनिक हुई थी।

कई फोनपे (PhonePe) यूजर्स ने सोशल मीडिया पर भी फोनपे से ट्रांजेक्शन नहीं कर पाने की परेशानी लिखी।

यस बैंक के संकट (Yes Bank Crises) का असर सिर्फ फोनपे पर ही नहीं बल्कि यस बैंक की स्वंय की एप और अन्य सेवाओं सहित नेटबैंकिंग सेवाओं पर भी पड़ा है। इनका एक्ससे फिलहाल बंद हो गया है।

दूसरे शब्दों में कहें तो, अगर आप यस बैंक खाताधारक है तो अभी फिलहाल आप अपने फंड को किसी अन्य बैंक में ट्रांसफर नहीं कर सकेंगे।

इतना ही नहीं, आप नेटबैंकिंग का इस्तेमाल कहीं ओर पेमेंट करने के लिए भी नहीं कर सकेंगे। वैसे वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि घबराने की जरूरत नहीं है।

बैंक सभी तरह की देनदारी चुकाएगा और सरकार व आरबीआई स्थिति पर नियंत्रण रखें हुए है।

 

पेटीएम (Paytm) ने उड़ाई खिल्ली- Paytm make fun

यस बैंक के कारण फोनपे की सर्विस बंद (Yes Bank moratorium shut PhonePe transactions) होने से पेटीएम (Paytm) ने उसकी खिल्ली उड़ाई है।

सोशल मीडिया पर पेटीएम ने फोनपे को टैग करते हुए ट्वीट किया कि ‘आपको पेटीएम बैंक के यूपीआई प्लेटफॉर्म पर आमंत्रित करते हैं और इससे आपका कारोबार कई गुना तक बढ़ सकता है। चलिए, तेज चलते हैं।’

इस पर फोनपे (PhonePe)ने जवाब दिया कि , ‘अगर आपका यूपीआई प्लेटफॉर्म इतना ही सरल होता तो हमने खुद ही आपसे संपर्क कर लिया होता।’

 
Yes Bank moratorium shut PhonePe transactions

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 13 =

Back to top button