breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबिजनेसबिजनेस न्यूजमार्केट
Trending

नए साल में आपको टेक होम सैलरी मिलेगी कम, बढ़ेगा PF, जानें क्या है कारण

दरअसल, सरकार ने नए पारिश्रमिक नियम के तहत जिन ड्राफ्ट नियमों की अधिसूचना जारी की है, उसके तहत कंपनियों को अपने सैलरी पैकेज के स्ट्रक्चर में बदलाव लाना पड़ेगा...

New Wage Code 2019:Your take-home salary expected reduce in next year 

नई दिल्ली: कर्मचारियों को अगले वर्ष अप्रैल 2021 से टेक होम सैलरी या इन-हैंड सैलरी कम मिल सकती है। चूंकि अगले वित्त वर्ष के आरंभ में टेक-होम सैलरी (Take-Home Salary) के कंपोनेंट या स्ट्रक्चर (Salary Structure) में अहम बदलाव किए जा सकते हैं।

जोकि नए नियम Code on Wages, 2019 के अंतर्गत आते हैं।

दरअसल, सरकार ने नए पारिश्रमिक नियम के तहत जिन ड्राफ्ट नियमों की अधिसूचना जारी की है, उसके तहत कंपनियों को अपने सैलरी पैकेज के स्ट्रक्चर में बदलाव लाना पड़ेगा।

ये सभी नए नियम Code on Wages, 2019 के अंतर्गत आते हैं, जोकि संभवत: अगले वर्ष अप्रैल से प्रभावी होने वाला है।

नए पारिश्रमिक नियमों के तहत अलाउंस कंपोनेंट(allowance component) अर्थात सैलरी के साथ मिलने वाले भत्ते, कुल सैलरी या CTC से 50 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकते
और इसका सीधा अर्थ है कि बेसिक सैलरी (Basic Salary),सैलरी स्ट्रक्चर का 50 फीसदी होगी।
New Wage Code 2019:Your take-home salary expected reduce in next year 
दरअसल, इस नियम का पालन करने के लिए, कंपनियों को सैलरी के बेसिक पे कंपोनेंट को बढ़ाना होगा, जिसके चलते ग्रेच्युटी पेमेंट(Gratuity Payment) और कर्मचारी की ओर से भरे जाने वाले प्रॉविडेंट फंड(provident fund)की रकम बढ़ जाएगी।
रिटायरमेंट के लिए डाली जाने वाली रकम बढ़ने का अर्थ है कि आपकी टेक-होम सैलरी कम(Your take-home salary expected reduce) हो जाएगी लेकिन आपका रिटायरमेंट फंड बढ़ेगा।
मौजूदा वक्त में ज्यादातर प्राइवेट कंपनियां कुल CTC के बड़े हिस्से में गैर-भत्ते वाला हिस्सा कम और भत्ते वाला हिस्सा ज्यादा रखने को वरीयता देती हैं।
वैसे, नया नियम आ जाने के बाद से यह बदल जाएगा। संभावना है कि इन नियमों से प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों की सैलरी प्रभावित होगी क्योंकि आमतौर पर उन्हें ज्यादा भत्ता मिलता है।
नए नियमों के अनुसार, कंपनियों को 50 फीसदी बेसिक सैलरी की अनिवार्यता को पूरा करने के लिए उनकी बेसिक सैलरी को बढ़ाना होगा।
इन नियमों से भले ही टेक-होम सैलरी घट (Take home salary cut) जाएगी, लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि इससे लोगों को बेहतर सामाजिक सुरक्षा और रिटायरमेंट बेनेफिट्स मिलेंगे।
New Wage Code 2019:Your take-home salary expected reduce in next year 
(इनपुट एजेंसी से भी)
Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − nine =

Back to top button