breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराज्यों की खबरें
Trending

चक्रवात Yaas आज दोपहर रोद्र रूप के साथ ओडिशा-पश्चिम बंगाल के तटों से टकराएगा

आपदा बल ने पांच राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में तैनाती के लिए कुल 112 टीमों को तैयार किया है.ओडिशा में सबसे अधिक 52 और बंगाल में 45 टीमों को तैनात किया गया है। इनके अलावा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में बाकी टीमों को तैनात किया गया है।

CYCLONE YAAS live updates in hindi

अभी-अभी साइक्लोन यास से जुड़ी एक महत्वपूर्ण जानकारी भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने साझा की 

एक ट्वीट कर IMD ने कहा  बहुत गंभीर चक्रवाती तूफान ‘यास’ जो धामरा के  40 km मध्य में व 90km बलासोर के दक्षिण-दक्षिणपूर्व में स्थित है,

वह ओडिशा और पश्चिम बंगाल तटों व धामरा के उत्तर और बालासोर के दक्षिण में 26 मई को दोपहर 130-140 किमी प्रति घंटे की हवा की गति के साथ एक वीएससीएस के रूप में टकराएगा l 

(VERY SEVERE CYCLONIC STORM ‘YAAS’ CENTRED ABOUT 40 KM EAST OF DHAMRA AND 90 KM SOUTH-SOUTHEAST OF http://BALASORE.TO CROSS NORTH ODISHA-WEST BENGAL COASTS TO THE NORTH OF DHAMRA AND SOUTH OF BALASORE NOON OF 26TH MAY AS A VSCS WITH WIND SPEED OF 130-140 KMPH.)

इससे पहले, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) ने चक्रवात के लिए अपनी तैयारियों के तहत ओडिशा और पश्चिम बंगाल में अब तक की सबसे अधिक टीमों को तैनात किया है।

आपदा बल ने पांच राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में तैनाती के लिए कुल 112 टीमों को तैयार किया है।

CYCLONE YAAS live updates in hindi

ओडिशा में सबसे अधिक 52 और बंगाल में 45 टीमों को तैनात किया गया है।

इनके अलावा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, झारखंड और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह में बाकी टीमों को तैनात किया गया है।

क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र, भुवनेश्वर के वैज्ञानिक डॉ उमाशंकर दास ने बताया कि जिले में धमरा और चांदबाली के बीच चक्रवात के दस्तक देने का अनुमान है।

IMD के महानिदेशक डॉ मृत्युंजय महापात्र ने बताया कि यास के मंगलवार शाम तक बहुत भीषण चक्रवाती तूफान में बदलने की और चांदबाली में सबसे ज्यादा नुकसान की आशंका है।

उन्होंने कहा कि चक्रवात के दस्तक देने के छह घंटे पहले और बाद तक इसका गंभीर असर देखने को मिलेगा।

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने गृह राज्य मंत्री डी एस मिश्रा को राज्य के उत्तरी हिस्से में हालात की निगरानी करने के लिए बालासोर भेजा है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि तटवर्ती जिलों में लोगों को सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाने का काम तेजी से हो रहा है और दोपहर तक 50,000 लोग सुरक्षित शिविरों में चले गए हैं।

उन्होंने बताया कि यास के तट तक पहुंचने के बहुत पहले ही यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।CYCLONE YAAS live updates in hindi

चक्रवात के दस्तक देने के दौरान समुद्र में 2-4.5 मीटर की लहरें उठने के अनुमान के चलते लोगों को को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है।

पश्चिम बंगाल में अब तक करीब आठ लाख से अधिक लोगों को बाहर निकाला गया है, जबकि ओडिशा में 11 लाख से अधिक लोगों को सुरक्ष‍ित स्‍थानों पर पहुंचाए गए हैं।

IMD ने कहा कि यह तूफान पिछले छह घंटे के दौरान 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-पश्चिमोत्तर दिशा की ओर बढ़ रहा है।CYCLONE YAAS live updates in hindi

ओडिशा के मयूरभंज जिले और पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर और दक्षिण 24 परगना जिलों में हवा की रफ्तार 100-120 किलोमीटर प्रति घंटे से बढ़कर 145 किलोमीटर प्रति घंटे की हो सकती है।

ओडिशा के पुरी, कटक, खुर्दा और जाजपुर जिले तथा पश्चिम बंगाल के झाड़ग्राम, पश्चिम मेदिनीपुर और उत्तरी 24 परगना जिलों में 80-90 किलोमीटर रफ्तार की हवाएं 110 किलोमीटर तक पहुंच सकती हैं।

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × four =

Back to top button