breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशराज्यों की खबरें
Trending

Delhi Triple Suicide case:घर को बनाया गैस चैंबर और मां-बेटियों ने कर ली खुदकुशी,साथ में छोड़ा सुसाइड नोट,जानें इनसाइड स्टोरी

पूरा घर जहरीली गैस चैंबर बन गया था,जिसका खुलासा खुद मृतकों ने अपने सुसाइड नोट में किया और लिखा-Too much deadly gas. दरवाजा खोलने के बाद माचिस या लाइटर न जलाएं, घर में काफी खतरनाक जहरीली गैस भरी हुई है।

Delhi-Triple-Suicide-case-Mother-and-two-daughters-committed-suicide-in-vasant-vihar-here-inside-story  

नई दिल्ली:सिर पर पिता का साया नहीं,मां-बहन बीमार और आर्थिक तंगी से बदहाल एक मां और उसकी दो बेटियों ने दिल्ली के वसंत विहार इलाके में शनिवार को आत्महत्या कर ली।

आत्महत्या के तरीके को देखकर पुलिस सहित हर कोई हैरान और परेशान है।

Delhi Triple Suicide case-Mother and two daughters committed suicide in vasant-vihar-here-inside-story -1
दिल्ली में मां-दो बेटियों ने की खुदकुशी

दिल्ली(Delhi)के पॉश इलाके वसंत विहार में शनिवार देर शाम एक रोंगटे खड़े कर देने वाला दर्दनाक हादसा हुआ,जिसमें एक फ्लैट में मां सहित दो बेटियां मृत पाई(Delhi-Triple-Suicide-case-Mother-and-two-daughters-committed-suicide-in-vasant-vihar)गई।

पूरा घर जहरीली गैस चैंबर बन गया था,जिसका खुलासा खुद मृतकों ने अपने सुसाइड नोट में किया और लिखा-Too much deadly gas. दरवाजा खोलने के बाद माचिस या लाइटर न जलाएं, घर में काफी खतरनाक जहरीली गैस भरी हुई है।

वसंत विहार अपार्टमेंट के हाउस नंबर 207 में मृत पाएं गए तीनों लोगों की पहचान हो गई है।मृतिका मां का नाम- मंजू है जोकि 54 वर्ष की है और उसके साथ मिले दो शव उनकी बेटियों  27 वर्षीय अंशिका (Anshika)और 25 वर्षीय अंकु (Anku) के है।

पुलिस मामले की जांच कर रही है।लेकिन शुरुआती जांच से पता चला है कि इस घर का मुखिया यानि मां मंजू के पति की मौत वर्ष 2021 के अप्रैल में कोरोना के कारण हो गई थी।

जिसके बाद से पूरा परिवार बहुत ज्यादा डिप्रेशन में चल रहा था और आर्थिक तंगी से भी जूझ रहा था। मां मंजू अपनी बीमारी के कारण बिस्तर पर थी।

दिल्ली(Delhi)के ट्रिपल सुसाइड केस में खुदकुशी के लिए जो तरीका अपनाया गया है। उसे जानकर हर कोई चौंक गया है। चूंकि मां-बेटियां आत्महत्या के लिए तैयारी बीते तीन महीनों से कर रही थी।

घर को किस तरह से गैस चेंबर में बदलना है,इसकी जानकारी उन्होंने यूट्यूब से ली थी। घर को जहरीली गैस से भरने के लिए उन्होंने सारा सामान अमेजन से ऑनलाइन मंगवाया था।

 

 

 

पुलिस ने अपनी शुरुआती जांच में बहुत ही सनसनीखेज खुलासे किए है जोकि इस प्रकार है।

Delhi-Triple-Suicide-case-Mother-and-two-daughters-committed-suicide-in-vasant-vihar-here-inside-story  

पुलिस जांच में सामने आया है कि अंशिका (Anshika)ने अंगीठी, फॉयल पेपर, टेप और अन्य सामान अमेजन से मंगवाया था। इनकी डिलीवरी 19 मई को हुई थी।

Delhi Triple Suicide case-Mother and two daughters committed suicide in vasant-vihar-here-inside-story -2
दिल्ली ट्रिपल सुसाइड केस

सामान आने के बाद अंशिका और उसकी बहन ने घर के हर दरवाजे और खिड़की को फॉयल पेपर और टेप की मदद से बंद कर दिया। जिससे ऑक्सीजन घर के अंदर न आ सके और घर में बनी जहरीली गैस बाहर न जा सके।

पुलिस के मुताबिक,घर में बनी मोनोऑक्साइड सहित अन्य जहरीली गैस से तीनों की मौत हुई है।

जांच में पता चला है कि कम से कम दो दिन तक घर को गैस चैंबर में बदलने के लिए तैयारी की गई थी। पुलिस ने तीनों शवों का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

 

 

माचिस न जलाएं,घर में जहरीली गैस भरी है…घर बनाया गैस चैंबर और लिखा 10 पेज का सुसाइड नोट

Delhi-Triple-Suicide-case-Mother-and-two-daughters-committed-suicide-in-vasant-vihar-here-inside-story  

घर के अंदर-अलग अलग दीवारों पर 10 पेज का सुसाइड़ नोट मिला है। पहला सुसाइड नोट चेतावनी के तौर पर गेट खोलते ही दिखाई दिया।

जिस पर लिखा था कि Too much deadly gas. दरवाजा खोलने के बाद माचिस या लाइटर न जलाएं, घर में काफी खतरनाक जहरीली गैस भरी हुई है।

दरअसल, ये नोट इसलिए लिखा गया था कि मौत के बाद जब पुलिस अंदर दाखिल हो तब कोई हादसा न हो. बेटियों की उम्र 21 से 25 साल के बीच थी. इन लोगों ने पॉलीथीन और टेप ऑनलाइन मंगाई थी.

Delhi Triple Suicide case-Mother and two daughters committed suicide in vasant-vihar-here-inside-story -3
दिल्ली वसंत विहार खुदकुशी केस डिटेल्स

घर के अंदर के सारे रोशनदान को पॉलीथिन से पैक किया गया था। घर में अंगीठी जलाई गई। घर का गैस सिलेंडर खोल दिया गया। इसके बाद मां और बेटियों ने दम तोड़ दिया।

पुलिस जब घर के अंदर दाखिल हुई तो उन्हें जहरीली गैस है…चेतावनी देता सुसाइड नोट मिला। फिलहाल फोरेंसिक टीम घर का मुआयना कर रही है और मामले की तफ्तीश जारी है।

इसके अलावा घर के अंदर मिले दूसरे नोट में ज्यादातर पर अंकिता की बुआ के बारे में लिखा गया है। साथ ही आर्थिक तंगी, बीमारी, रिश्तेदारों से दूरी और समाज से कटने को आत्महत्या का कारण बताया गया है।

Delhi Triple Suicide case-Mother and two daughters committed suicide in vasant-vihar-here-inside-story -4
दिल्ली वसंत विहार खुदकुशी केस डिटेल्स

 

 

 

घर के बगल वाला फ्लैट किराएंदारों से खाली कराया गया

Delhi-Triple-Suicide-case-Mother-and-two-daughters-committed-suicide-in-vasant-vihar-here-inside-story  

घर से मिले एक सुसाइड नोट में लिखा गया है कि तीन माह पहले ही घर की घरेलू सहायिका को हटा दिया गया था। साथ ही फ्लैट के बगल वाले उनके दूसरे फ्लैट को भी तीन माह पहले ही खाली करवा लिया गया था।

सुसाइड नोट के अनुसार यह फ्लैट इसलिए खाली करवाया गया था कि अगर उनके घर में आग लगती है तो दूसरे फ्लैट में रहने वाले किराएदारों की मौत न हो जाए।

19 मई को अंशिका ने आत्महत्या के लिए सामान मंगवाया था और 20 मई को ही दूध वाले को मना कर दिया था।

 

 

 

 

घर की नौकरानी को दे दिया जाए सामान

Delhi-Triple-Suicide-case-Mother-and-two-daughters-committed-suicide-in-vasant-vihar-here-inside-story  

पड़ोसियों ने बताया कि अंशिका ऑनलाइन कुछ काम करती थी, जिससे कुछ पैसे उसे मिल जाया करते थे। लेकिन इससे परिवार का गुजारा नहीं चल पा रहा था।

ऐसे में परिवार के यहां काम करने वाली घरेलू सहायिका भी उनकी मदद कर दिया करती थी। यही वजह है कि एक सुसाइड नोट में घरेलू सहायिका कमला का नाम भी लिखा है।

इसमें बताया गया है कि उनकी मौत के बाद घर में मौजूद जरूरत का सारा सामान कमला को दे दिया जाए। अगर वह सामान न ले तो यह सामान किसी भी गरीब व्यक्ति को जो इस्तेमाल कर सके उसे दे दिया जाए।

 

 

 

 

 

मां और एक बेटी थी बीमार

पिछले करीब डेढ़ साल ने मंजू बीमारी थी और वह बिस्तर से खड़ी तक नहीं हो पाती थी। मंजू बिस्तर पर ही दैनिक कार्य करती थी। इसके अलावा अंशु की भी तबीयत खराब चल रही थी। मां और अंशु की दवाइयों के लिए भी अंशिका के पास पैसे नहीं बचे थे।

 

 

 

 

 

 

हेल्‍पलाइन :
1) वंद्रेवाला फाउंडेशन फॉर मेंटल हेल्‍थ – 9999666555 अथवा [email protected]
2) TISS iCall – 022-25521111 (सोमवार से शनिवार तक उपलब्‍ध – सुबह 8:00 बजे से रात 10:00 बजे तक)

(अगर आपको सहायता की ज़रूरत है या आप किसी ऐसे शख्‍स को जानते हैं, जिसे मदद की दरकार है, तो कृपया अपने नज़दीकी मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ के पास जाएं)

 

Delhi को दहला रहा है फिर से कोरोना,600 पार नए केस,Mumbai में भी 45 दिनों में सबसे ज्यादा केस

Delhi-Triple-Suicide-case-Mother-and-two-daughters-committed-suicide-in-vasant-vihar-here-inside-story  

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button