breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशराज्यों की खबरें

यूपी: हाथरस के बाद बलरामपुर में भी दलित युवती के साथ गैंगरेप,दम तोड़ा,फिर रात में अंतिम संस्कार

उसे नशे के इंजेक्शन देकर दुष्कर्म किया गया। आरोपियों ने बेटी की कमर और पैर भी तोड़ दिए, इसलिए न तो वह खड़ी हो पा रही थी और न ही बोल पा रही थी....

UP after Hathras Balrampur ganagrape victim died after brutally beaten-funeral at night again

लखनऊ: हाथरस गैंगरेप कांड (Hathrasgangrape case) के बाद उत्तर प्रदेश की कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाती एक और गैंगरेप की घटना सामने आई है।

यूपी के बलरामपुर(Balrampur)में भी एक 22 वर्षीय दलित युवती के साथ दरिंदगी(Balrampur gangrape case) की गई और उसे भी बुरी तरह पीटा गया, इतना की अस्पताल पहुंचने से पहले ही युवती की मौत हो गई।

इस घटना में भी पीड़िता का अंतिम संस्कार यूपी पुलिस प्रशासन द्वारा रात के अंधेरे में ही कर दिया गया है। हालांकि कहा जा रहा है कि यहां पीड़िता के परिवार की अनुमति से अंतिम संस्कार किया गया।

हाथरस की निर्भया(Nirbhaya)के साथ बेहरहमी और पशुआत्मक तरीके से न केवल रेप किया गया बल्कि उसे इतना पीटा गया कि उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई

मौत के बाद भी उसका सम्मान नहीं किया गया और बिना परिजन रात के अंधेरे में यूपी पुलिस ने हाथरस रेप पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया।

इस पर पूरा विपक्ष और आम जनता में यूपी सरकार के खिलाफ बेहद गुस्सा है। अभी इस आक्रोश की आंधी थमी भी नहीं थी कि यूपी में महिलाओं की सुरक्षा-व्यवस्था पर सवाल उठाती एक और घटना सामने आ गई है।

UP after Hathras Balrampur ganagrape victim died after brutally beaten-funeral at night again

मंगलवार 29 सितंबर की शाम को जब देश हाथरस की निर्भया की मौत से गमगीन था तभी उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में एक और निर्भया की अस्मिता को तार-तार किया जा रहा था और उसे मरने के लिए छोड़ दिया गया।

यहां भी यूपी पुलिस (UP Police) ने अंतिम संस्कार में जल्दबाजी दिखाई।

 

जानें क्या है पूरा वाक्या

UP after Hathras Balrampur ganagrape victim died after brutally beaten-funeral at night again

दरअसल,यूपी के हाथरस के बाद अब बलरामपुर में भी एक 22वर्षीय दलित युवती के साथ गैंगरेप की वारदत सामने आई है।

यहां 22 वर्ष की छात्रा को पहले किडनैप किया। फिर नशे के इंजेक्शन से बेहोश कर 2 आरोपियों ने दुष्कर्म किया।

लड़की की हालत इतनी बिगड़ गई कि उसकी मौत हो गई। पुलिस ने साहिल और शाहिद नाम के आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

इनके खिलाफ गैंगरेप और हत्या का केस दर्ज किया गया है।

यह युवती मंगलवार सुबह10 बजे कॉलेज की फीस जमा कराने के लिए घर से निकली। लेकिन शाम तक नहीं लौटी तो घरवालों ने फोन किया लेकिन फोन बंद था।

फिर शाम तकरीबन 7 बजे युवती गंभीर हालत में रिक्शे से घर पहुंची। उसके हाथ पर कैनुला लगा था, बेहोशी की हालत में थी। बोल भी नहीं पा रही थी।

परिजन तुरंत डॉक्टर के पास ले गए। फिर डॉक्टर के कहने पर लखनऊ ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही युवती की मौत हो गई।

मरने से पहले बेटी ने मां से कहा कि पेट में बहुत जलन हो रही है, हम मर जाएंगे।

 

पीड़िता के आखिरी बोल-  हम मर जाएंगे‘…. मां

पीड़ित लड़की की मां ने बताया कि उनकी बेटी कॉलेज से घर वापस लौट रही थी कि रास्ते में एक कार में आएं 3-4 लोगों ने उसे अगवा कर लिया।

उसे नशे के इंजेक्शन देकर दुष्कर्म किया गया। आरोपियों ने बेटी की कमर और पैर भी तोड़ दिए, इसलिए न तो वह खड़ी हो पा रही थी और न ही बोल पा रही थी।बस इतना ही कह पाई कि पेट में बहुत तेज जलन हो रही है, हम मर जाएंगे।

 

पुलिस ने किराना स्टोर के मालिक को बताया मास्टरमाइंड

UP after Hathras Balrampur ganagrape victim died after brutally beaten-funeral at night again

पुलिस का कहना है कि वारदात गैंसड़ी गांव में एक किराना स्टोर के पीछे के कमरे में हुई। पीड़ित की सैंडल उसी कमरे के बाहर मिली हैं। दुकान मालिक ही घटना का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है। आरोपियों ने दुष्कर्म और मारपीट के बाद पास के ही डॉक्टर से पीड़ित का इलाज करवाने की कोशिश की थी।

एक डॉक्टर ने भी बताया कि लड़की के इलाज के लिए साहिल ने बुलाया था

नाम न बताने की शर्त पर एक डॉक्टर ने बताया, ‘साहिल नाम के लड़के का शाम 5 बजे फोन आया था। वह मुझे अपनी दुकान पर ले गया।

वहां पर उन्होंने कहा कि एक फैमिली मेंबर को देख लीजिए। मैंने देखा कि कमरे में लड़की के अलावा कोई और नहीं था, मैंने पूछा कि ये कौन है? उन्होंने कहा कि सरकारी सचिव की बेटी है।

मैंने कह दिया कि जब तक कोई महिला या बड़ा व्यक्ति नहीं आता, इलाज नहीं कर सकता। उन्होंने मुझे कहा कि आप अपने क्लीनिक जाइए, हम सेक्रेटरी को फोन कर लड़की को वहीं पर ले आएंगे। उसके बाद मुझे पता नहीं वे कहां गए।”

बलरामपुर गैंगरेप पीड़िता के अंतिम संस्कार में भी पुलिस ने दिखाई जल्दबाजी

उत्तर प्रदेश पुलिस पर निरंतर हिंदू कर्मकांडों का मुखौल उड़ाने के आरोप लग रहे है। खासकर जब सूबे में योगी आदित्यनाथ की सरकार है जो स्वंय को हिंदू धर्म के ठेकेदार दिखाते है।

न्यूज एजेंसी आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक, अंतिम संस्कार में पुलिस ने हाथरस के मामले की तरह ही जल्दबाजी दिखाई।

बलरामपुर की पीड़ित का का अंतिम संस्कार भी भारी पुलिस बल की तैनाती में मंगलवार रात को ही करवा दिया गया। यह बात भी सामने आ रही है कि पुलिस ने मामला दबाने की कोशिश की थी। हालांकि, लोगों का कहना है कि पीड़ित परिवार की सहमति से ही अंतिम संस्कार किया गया।

UP after Hathras Balrampur ganagrape victim died after brutally beaten-funeral at night again

पुलिस का दावा- लड़की के हाथ-पैरों में चोट नहीं थी
एसपी देवरंजन वर्मा का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ऐसा कोई जिक्र नहीं कि लड़की के हाथ-पैर टूटे हुए थे। मीडिया में चल रही खबरें गलत हैं।

 

विपक्ष ने फिर योगी सरकार पर निशाना साधा

 

राहुल गांधी ने कहा- भाजपा का नारा बेटी बचाओनहीं, ‘तथ्य छिपाओ, सत्ता बचाओ

अखिलेश यादव बोले- भाजपा सरकार अब लीपापोती न करे
उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा है कि हाथरस के बाद अब बलरामपुर में भी एक बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार और उत्पीड़न का घृणित अपराध हुआ है। भाजपा सरकार बलरामपुर में हाथरस जैसी लापरवाही और लीपापोती न करे, बल्कि अपराधियों पर तुरंत कार्रवाई करे।

UP after Hathras Balrampur ganagrape victim died after brutally beaten-funeral at night again

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

six + twelve =

Back to top button