breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशराज्यों की खबरें

हाथरस गैंगरेप पीड़िता का आधी रात में बिना परिवार अंतिम संस्कार,योगी ने किया 25 लाख मुआवजे का एलान

युवती की मां एम्बुलेंस के आगे सड़क पर लेट गई लेकिन पुलिस उसे हटाकर वहां से चलती बनी। पीड़ित मां दाह संस्कार के बाद असहाय होकर रोती रही...

 Hathras gangrape victim Midnight funeral-CM Yogi compensate family Rs 25Lakh

लखनऊ:हाथरस की निर्भया के साथ न केवल पशुआत्मक तरीके से दरिंदगी की गई बल्कि मरने के बाद उस इज्जत के साथ अंतिम संस्कार का पात्र भी नहीं बनने दिया गया।यूपी पुलिस ने पीड़िता का बिना परिवार जबरन आधी रात में अंतिम संस्कार कर दिया। इससे परिवार और लोगों में गुस्सा है।

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में एक 20 वर्षीय दलित युवती के साथ गैंगरेप करके उसे पीटा गया, उसकी जीभ काटी गई और उसके निजी अंगों को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया गया

हालत बिगड़ने पर जब 28 सितंबर पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल लाया गया तो उसने मंगलवार अस्पताल में दम तोड़ दिया। लेकिन इस पीड़िता के साथ दरिंदगी और हैवानियत का सिलसिला मौत के बाद भी जारी रहा।

परिवार ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश पुलिस प्रशासन ने आधी रात में बिना परिजनों के हाथरस रेप पीड़िता का अंतिम संस्कार कर (Hathras gangrape victim Midnight funeral)दिया।

इससे देशभर में यूपी पुलिस और प्रशासन के प्रति लोगों का गुस्सा चरम पर है।

इसी बीच अब उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगीआदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीड़िता के परिवार से बातचीत की।

योगी ने न केवल पीड़िता के परिवार को इंसाफ दिलाने का आश्वासन दिया है बल्कि हाथरस गैंगरेप पीड़िता (Hathras gangrape victim) की अस्मिता का मुआवजा 25 लाख देने का एलान किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज मामले की जांच के लिए एक विशेष टीम का गठन किया और मुकदमे के लिए एक फास्ट-ट्रैक कोर्ट का आदेश दिया।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनसे बात की थी और आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी सजा की मांग की थी।

योगी आदित्यनाथ ने कहा, “आदरणीय प्रधानमंत्री @narendramodi जी ने हाथरस की घटना पर बात की है और कहा है कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।” 

 

 

क्या है पूरा मामला?

 Hathras gangrape victim Midnight funeral-CM Yogi compensate family Rs 25Lakh

हाथरस गैंगरेप (Hathras Gangrape) पीड़िता का अंतिम संस्कार यूपी पुलिस ने मंगलवार की रात अंधेरे में करीब 2.30 बजे कर दिया।

आरोप है कि इस दौरान पुलिसवालों ने मृतक के परिजनों को घर में बंद कर दिया था।

देर रात के दृश्यों में कैप्चर किए गए घटनाओं में विचलित करने वाला दृश्य कैद हुआ है, जिसमें पीड़ित परिवार को पुलिस के साथ बहस करते हुए देखा गया है।

मृतक के रिश्तेदार खुद शव ले जाने वाली एम्बुलेंस के आगे आ खड़े हुए और गाड़ी की बोनेट पर लद गए लेकिन पुलिसवालों ने उन्हें हटाकर दाह संस्कार कर दिया।

युवती की मां एम्बुलेंस के आगे सड़क पर लेट गई लेकिन पुलिस उसे हटाकर वहां से चलती बनी। पीड़ित मां दाह संस्कार के बाद असहाय होकर रोती रही।

मृतक युवती के भाई का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें बताए बिना शव को घर से दूर ले गई और चुपचाप उसका अंतिम संस्कार कर दिया।

मृतक के पिता और भाई पुलिस एक्शन के खिलाफ विरोध में धरने पर बैठ गए।

इसके बाद पुलिस के अफसर उन्हें काली स्कॉर्पियो में बिठाकर कहीं और ले चले गए।

गांववालों ने भी इस दौरान पुलिस कार्रवाई का विरोध किया.इस घटना के बाद इलाके में पुलिस के खिलाफ भारी रोष है।

 Hathras gangrape victim Midnight funeral-CM Yogi compensate family Rs 25Lakh

कब हुई पूरी वारदातUP Hathras gangrape story

up-hathras-gangrape-accuse--victim-died-in-delhi-hospital_optimized

20 साल की पीड़िता पर 14 सितंबर को राजधानी दिल्ली से लगभग 200 किमी दूर स्थित हाथरस के एक गांव में हमला किया गया था।

आरोपी उसे उसके दुपट्टे से खींचकर खेतों में लेकर गए थे।वो अपने परिवार के साथ घास काट रही थी।

पीड़िता के परिवार का आरोप है कि यूपी पुलिस ने उनकी शिकायत पर पहले कोई एक्शन नहीं लिया, लेकिन मामले पर गुस्सा बढ़ने लगा, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई।

पीड़िता के भाई ने एक न्यूज चैनल को बताया ‘मेरी मां, बहन और बड़ा भाई एक खेत में घास काटने गए थे।

मेरा भाई घास का बड़ा बंडल लेकर घर चला गया और मेरी मां और बहन घास काटते रहे। दोनों एक-दूसरे से थोड़ी दूरी पर थे।

तभी चार-पांच लोग पीछे से आए और मेरी बहन का दुपट्टा उसके गले में डालकर उसे घसीटकर बाजरा के खेतों में ले गए।’

उसने आगे बताया, ‘मेरी मां को महसूस हुआ कि बहन गायब है। तब उन्होंने उसे ढूंढना शुरू किया, जिसके बाद मेरी बहन उन्हें बेहोश मिली।

उन्होंने उसका रेप किया था। पुलिस ने हमारी शुरुआत में कोई मदद नहीं की। कोई एक्शन नहीं लिया। उन्होंने चार-पांच दिनों बाद जाकर एक्शन लिया।’

हालांकि, यूपी पुलिस ने इन आरोपों को खारिज किया है। यूपी पुलिस की ओर से हाथरस के पुलिस अफसर प्रकाश कुमार का एक वीडियो जारी किया गया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि ‘हमने एक आरोपी को जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया था और उससे बाकी तीन के नाम निकलवाए, जिसके बाद उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया।’

 Hathras gangrape victim Midnight funeral-CM Yogi compensate family Rs 25Lakh

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen + sixteen =

Back to top button