breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें

Farmers Protest: 43 दिन के आंदोलन पर क्या आज लगेगा Break..? जानियें सबकुछ

श भर में कोरोना के बीच किसान आंदोलन जारी है l सरकार और किसानों के बीच आज दोपहर को 2 बजे विज्ञान भवन में नौवें दौर की बैठक होगी

farmers protest 9th round meeting with government today at 2pm

नई दिल्ली (समयधारा) :  देश भर में कोरोना के बीच किसान आंदोलन जारी है l

सरकार और किसानों के बीच आज दोपहर को 2 बजे विज्ञान भवन में नौवें दौर की बैठक होगी

कृषि कानूनों (Agriculture Laws) के विरोध में किसानों के आंदोलन (Farmers Protest) का आज 44वां दिन है।

देश की राजधानी की कई सीमाओं पर ठंड और बरसात के बीच भी किसान डटे हुए हैं।

आज एक बार फिर किसान नेता और सरकार बातचीत की मेज पर आमने-सामने होंगे। सरकार की कोशिश जारी है कि वो किसानों को मन लेंगे l

पर जिस तरह से हालात नजर आ रहे है l इस पर पेंच फंसा हुआ है l 

वहीं इससे एक दिन पहले यानी गुरुवार को किसानों ने ट्रैक्टर मार्च भी निकाला था।

farmers protest 9th round meeting with government today at 2pm

साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि ये तो सिर्फ एक ट्रेलर है, अगर सरकार हमारी मांगे नहीं मानती,

तो 26 जनवरी को हम दोबारा ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे।

आज होने वाली बैठक से पहले भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि लगता है कि

सरकार आज कुछ प्रस्ताव या ड्राफ्ट देगी, लेकिन हमारी मांगे वही रहेंगी कि तीनों कानूनों को वापस लिया जाए।

लगातार हो रही बेनतीजा बैठकों को लेकर टिकैत ने कहा कि सरकार बिना मुकदमे के ही हमें तारीख पर बुला लेती है

और हम भी हाजरी लगाने चले जाते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि या तो सरकार हमारी मांगे मान ले, नहीं तो हम मई 2024 तक धरना देने के लिए तैयार हैं।

farmers protest 9th round meeting with government today at 2pm

गाजीपुर बॉर्डर पर एक प्रदर्शनकारी किसान ने कहा कि आज की बैठक में हम उम्मीद करते हैं कि

आज शायद फैसला आ जाए, लेकिन अगर फैसला नहीं आया, तो जब तक सरकार हमारी मांगे नहीं मानेगी तब तक हमारा आंदोलन बढ़ता रहेगा, हम पीछे नहीं हटेंगे।”

बैठक से पहले केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी  ने कहा कि पहले कि बातचीत में किसान यूनियन के नेताओं का विषय था कि हम इसमें सुधार चाहते हैं।

सरकार सुधार के लिए तैयार है। मुझे विश्वास है कि आज की वार्ता में वे इस बात को समझेंगे।

किसान यूनियन के नेता सोचकर आएंगे कि समाधान करना है, तो समाधान अवश्य होगा।

उधर कल के ट्रैक्टर मार्च में आए किसानों का मानना था कि ट्रैक्टर मार्च का प्रभाव आज की होने वाली इस बैठक पर जरूर पड़ेगा।

कई किसानों ने कहा कि ये सिर्फ 26 जनवरी को निकाले जाने वाले ट्रैक्टर मार्च की तैयारी है।

farmers protest 9th round meeting with government today at 2pm

मगर किसानों के कल के मार्च को एक तरह से उनका शक्ति प्रदर्शन भी माना जा रहा है।

मालूम हो को पिछले 43 दिनों से किसान सिंघु, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर धरना दे रहे हैं।

इस बीच लगातार सरकार भी उन्हें मनाने का प्रयास करती रही,

लेकिन कई दौर की बातचीत विफल हो जाने के बाद गतिरोध बरकरार है और हो सकता है आज कोई समाधान निकले।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + seventeen =

Back to top button