Trending

Maharashtra Cabinet Expansion:महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार,अजित पवार को मिला वित्त और योजना विभाग,जानें डिटेल्स

आपको बता दें कि हाल ही में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में 2 जुलाई को NCP के अजित पवार सहित राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(Nationalist Congress Party)के नौ विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था। 

Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details-महाराष्ट्र(Maharashtra)में एकनाथ शिंदे(Eknath Shinde)-देवेंद्र फड़नवीस(Devendra Fadnavis)सरकार और अजित पवार के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार का आज शुक्रवार को कैबिनेट विस्तार किया(Maharashtra-Cabinet-Expansion)गया,

जिसमें हाल ही में महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री बनाएं गए एनसीपी नेता अजित पवार(Ajit Pawar)को वित्त और योजना विभाग सौंपा गया है और छगन भुजबल(Chhagan Bhujbal) को खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग (Food and Civil Supplies) का कार्यभार सौंपा गया(Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details)है।

आपको बता दें कि हाल ही में एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फड़नवीस के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार में 2 जुलाई को NCP के अजित पवार सहित राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी(Nationalist Congress Party)के नौ विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया(Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details)था। 

लेकिन अभी तक उनके बीच विभागों का बंटवारा नहीं हुआ था,जोकि आज शुक्रवार को उनके शपथ ग्रहण के 12 दिन बाद महाराष्ट्र मंत्रिमंडल विस्तार कर दिया गया है।

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) गुट के सदस्यों को आज के कैबिनेट विस्तार में वित्त और छह अन्य विभाग मिले हैं।

वित्त के अलावा, अजित पवार गुट को खाद्य और नागरिक आपूर्ति, सहकारी समितियां, महिला और बाल विकास, कृषि, राहत और पुनर्वास और चिकित्सा शिक्षा विभाग सौंपे गए(Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details)है।

अब, महाराष्ट्र मंत्रिमंडल, जिसमें अधिकतम 43 सदस्य हो सकते हैं, में भाजपा(BJP) के नौ मंत्री, शिंदे के नेतृत्व वाले शिवसेना(ShivSena)गुट के नौ और राकांपा(NCP) के नौ मंत्री हैं।

कुल संख्या में मुख्यमंत्री और दो उपमुख्यमंत्रियों को शामिल नहीं किया गया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पवार को वित्त और योजना विभाग मिला है, जबकि उनके एनसीपी सहयोगी छगन भुजबल को खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग मिला(Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details)है।

बड़ा झटका…! उद्धव ठाकरे से छिन गयी बाप की विरासत, शिंदे गुट को मिला शिवसेना नाम सहित चुनाव चिन्ह

 

 

 

 

महाराष्ट्र कैबिनेट विस्तार में जानें किसे क्या मंत्रालय मिला

इसके अलावा धर्मराव बाबा अतराम को खाद्य एवं औषधि प्रशासन, दिलीप वलसे पाटिल को सहकारिता, धनंजय मुंडे को कृषि विभाग, हसन मुशरिफ को मेडिकल शिक्षा विभाग, अनिल पाटिल को पुनर्वास और आपदा प्रबंधन विभाग, अदिति तटकरे को महिला एवं बाल विकास विभाग और संजय बंसोडे को खेल एवं युवा मामले का मंत्रालय सौंपा गया (Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details)है।

  1. अजित पवार– वित्त और योजना विभाग
  2. छगन भुजबल– खाद्य और नागरिक आपूर्ति विभाग
  3. धनंजय मुंडे– कृषि विभाग
  4. धर्मराव बाबा अतराम– खाद्य एवं औषधि प्रशासन
  5. दिलीप वलसे पाटिल– सहकारिता विभाग
  6. हसन मुशरिफ – मेडिकल शिक्षा विभाग
  7. अनिल पाटिल– पुनर्वास और आपदा प्रबंधन विभाग
  8. अदिति तटकरे- महिला एवं बाल विकास विभाग
  9. संजय बंसोडे– खेल विभाग

आपको बता दें कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता अजित पवार (Ajit Pawar) और उनकी पार्टी के 8 अन्य विधायकों ने अचानक ही 2 जुलाई को महाराष्ट्र सरकार के मंत्रियों के तौर पर शपथ लिया थ।

अजित पवार ने न सिर्फ एनसीपी को तोड़कर महाराष्ट्र सरकार के साथ गठबंधन किया बल्कि एनसीपी पार्टी और चुनाव चिन्ह पर भी दावा ठोंक दिया है,जिसके खिलाफ शरद पवार के नेतृत्व वाली एनसीपी ने भी चुनाव आयोग में याचिका दे रखी है।

अजित पवार की इस बगावत के साथ ही शिवसेना की ही तरह एनसीपी के भी दो धड़े बन गए है और  शरद पवार नीत NCP में फूट पड़ गई।

 

NCP प्रमुख शरद पवार ने बेटी सुप्रिया सुले को चुना अपना उत्तराधिकारी,बताया अजित पवार को क्यों नहीं सौंपी कमान

 

 

 

अब महाराष्ट्र सरकार में 29 कैबिनेट मंत्री

बता दें कि NCP के 9 नेताओं के शामिल होने के बाद महाराष्ट्र सरकार में अब 29 कैबिनेट मंत्री हैं।

बताया जा रहा है कि शिंदे नीत शिवसेना(ShivSena)के विधायकों ने पवार को वित्त और योजना विभाग दिये जाने पर आपत्ति जताई थी।

तटकरे के सरकार में शामिल होने के साथ पहली बार किसी महिला विधायक को एकनाथ शिंदे नीत सरकार में कैबिनेट मंत्री का पद मिला(Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details)है।

उद्धव ठाकरे(Uddhav Thackeray) नीत महा विकास आघाड़ी सरकार(MVA) में तटकरे राज्य मंत्री के तौर पर कई विभागों की जिम्मेदारी संभाल रही थीं.

राकांपा के वरिष्ठ नेताओं अजित पवार और प्रफुल्ल पटेल की बुधवार रात केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेताओं से मुलाकात के दो दिन बाद कैबिनेट की बैठक हुई।

डिप्टी सीएम अजित पवार ने पुष्टि की कि विभागों के बंटवारे की सूची मंजूरी के लिए राज्यपाल को भेज दी गई है।

सीएमओ अधिकारी कथित तौर पर पोर्टफोलियो वितरण की सूची को अंतिम रूप देने और राज्यपाल को सौंपने के लिए राजभवन पहुंचे। राज्यपाल से मंजूरी मिलने के बाद नामों की सूची आगे की कार्रवाई के लिए मुख्य सचिव को भेज दी जाएगी।

शरद पवार ने अपना इस्तीफा वापस लिया,बने रहेंगे NCP अध्यक्ष,अजित पवार ने ऐसे दी प्रतिक्रिया

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के नौ विधायकों ने 2 जुलाई को महाराष्ट्र सरकार में मंत्री पद की शपथ ली। इस अचानक कदम के कारण शरद पवार(Sharad Pawar)के नेतृत्व वाले संगठन में विभाजन हो गया।

पोर्टफोलियो आवंटन को लेकर अजित पवार गुट और शिंदे गुट के बीच कथित गतिरोध के कारण महाराष्ट्र कैबिनेट विस्तार में देरी हुई। इंडिया टुडे की एक अन्य रिपोर्ट में कहा गया है कि झगड़ा कथित तौर पर 10-11 जुलाई को सुलझा लिया गया था।

गुरुवार को महाराष्ट्र के डिप्टी सीएम देवेंद्र फड़णवीस ने कहा कि बीजेपी का शिवसेना के साथ भावनात्मक गठबंधन है और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ राजनीतिक गठबंधन है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी जो भी इसमें शामिल होने को इच्छुक है उसका स्वागत कर सकती है लेकिन ‘कांग्रेस जैसी सोच’ अस्वीकार्य है।

‘मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के साथ हमारा गठबंधन एक भावनात्मक गठबंधन है। भाजपा और सेना 25 साल से अधिक समय से एक साथ हैं।

भिवंडी में आयोजित पार्टी कार्यकर्ताओं की ‘महाविजय 2024’ कार्यशाला में फड़णवीस ने कहा, ”अजित पवार के नेतृत्व वाली राकांपा के साथ हमारा गठबंधन एक राजनीतिक गठबंधन है।”

 

ShivSena विवाद में सुप्रीम कोर्ट ने उद्धव बनाम शिंदे गुट के विधायकों की अयोग्यता पर फैसला टाला,अगली सुनवाई 1 अगस्त,संविधान पीठ का हो सकता है गठन

 

 

 

Maharashtra-Cabinet-Expansion-Ajit-Pawar-gets-Finance-planning-ministry-Here-Details

Show More

Varsa

वर्षा कोठारी एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। वर्षा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button