Trending

Pegasus spyware:पेगासस पर मोदी सरकार को बजट सत्र में घेरेगा विपक्ष,कन्नी काट रही सरकार,अलग से चर्चा नहीं

सड़क से लेकर संसद तक विपक्ष(Opposition)सहित सभी पेगासस जासूसी केस में मोदी सरकार का स्टैंड जानना चाहते है।

Pegasus-spyware-Opposition-demand-separate-discussion-in-Budget- session-Modi-govt-denial

नई दिल्ली:मोदी सरकार पेगासस जासूसी(Pegasus-spyware)कांड को लेकर एक बार फिर सवालों के घेरे में है।

सड़क से लेकर संसद तक विपक्ष(Opposition)सहित सभी पेगासस जासूसी केस में मोदी सरकार का स्टैंड जानना चाहते है।

खासकर जब एक बार फिर अमेरिका के अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स में पेगासस जासूसी में भारत सरकार की भूमिका का खुलासा हुआ है।

विपक्ष पेगासस सॉफ्टवेयर(pegasus software)मामले पर सोमवार को शुरू हुए बजट सत्र(Budget session)में चर्चा चाहता था,जिसे मोदी सरकार ने खारिज कर दिया(Pegasus-spyware-Opposition-demand-separate-discussion-in-Budget session-Modi-govt-denial)है।

SC on Pegasus : केंद्र को नोटिस दिया जाए, …तो आरोप गंभीर, अगली सुनवाई 10 अगस्त को

आपको बता दें कि अभी हाल ही में अमेरिका के अखबार ने अपनी एक और ताजा रिपोर्ट पब्लिश करते हुए खुलासा किया है कि भारत की मोदी सरकार(Modi govt) ने वर्ष 2017 में इजराइल के साथ दो अरब अमेरिकी डॉलर के रक्षा सौदे के हिस्से के रूप में पेगासस स्पाईवेयर(Pegasus-spyware)खरीदा था।

इस रिपोर्ट के सनसनीखेज खुलासे से विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है।

कांग्रेस(Congress)के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी(Rahul Gandhi) ने इसे सीधे-सीधे देश के साथ मोदी सरकार द्वारा किया गया देशद्रोह करार दिया है।उनका आरोपल है कि मोदी सरकार ने

अपने ही नागरिकों,विपक्षी नेताओं,न्यायपालिका,न्यायधीशों,समाज सेवियों,वकीलों और अपनी ही सरकार के कुछ लोगों की निगरानी के लिए पेगासस जासूसी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया है।

समाचार पत्र की हालिया रिपोर्ट के बाद पेगासस मुद्दा फिर से सुर्खियों में आ गया है।

पेगासस जासूसी (Pegasus-spyware) केस पर सियासी पारा चढ़ा हुआ है।

Pegasus Report : जासूसी कांड की गाज- राहुल गांधी, प्रशांत किशोर सहित इनका है नाम

कांग्रेस इस मुद्दे पर चाहती है कि मोदी सरकार संसद और देश के समक्ष स्पष्टीकरण दें।लेकिन सरकार हमेशा की तरह इस मुद्दे से कन्नी काट रही(Pegasus-spyware-Opposition-demand-separate-discussion-in-Budget-session-Modi-govt-denial) है।

अमेरिकी अखबार के ‘खुलासे’ के बाद विपक्ष केंद्र सरकार को घेर रहा है। कई आरोप लगाए जा रहे हैं।

समझा जा रहा है कि संसद सत्र में यह मुद्दा जोर-शोर से उछलेगा लेकिन सरकार ने पहले ही साफ कर दिया है कि वह इस मुद्दे पर चर्चा नहीं कराएगी।

संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने सोमवार को कहा कि पेगासस मुद्दे पर अब अलग से चर्चा की जरूरत नहीं है क्योंकि यह विषय न्यायालय में विचाराधीन(Pegasus-spyware-Opposition-demand-separate-discussion-in-Budget-session-Modi-govt-denial) है।

Supreme Court ने पेगासस जासूसी मामलें में जांच की मांग को माना, केंद्र सरकार को झटका

संसदीय कार्य मंत्री ने सर्वदलीय बैठक के बाद कहा
जोशी ने यह भी कहा कि अगर विपक्षी दल के सदस्य चाहें तो राष्ट्रपति(President) के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में भाग लेते हुए कोई भी मुद्दा उठा सकते हैं।

जोशी ने डिजिटल तरीके से आयोजित सर्वदलीय बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि बैठक में 25 पार्टियों के नेता (सदन में विभिन्न दलों के नेता) शामिल हुए।

रक्षा मंत्री और लोकसभा के उपनेता राजनाथ सिंह ने बैठक में सरकार का प्रतिनिधित्व किया।

जोशी ने कहा कि बजट सत्र के दौरान सदन के सुचारू संचालन के लिए सिंह ने सभी दलों से सहयोग का अनुरोध किया।

उन्होंने कहा कि जहां तक पेगासस(Pegasus)विषय का सवाल है, अब अलग से इस पर चर्चा की कोई आवश्यकता नहीं है, लेकिन विपक्षी नेता राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में कोई भी मुद्दा उठाने के लिए स्वतंत्र हैं।

 

Pegasus-spyware-Opposition-demand-separate-discussion-in-Budget- session-Modi-govt-denial

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button