breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें

कृषि कानून के विरोध में किसान संदेश के साथ राहुल गांधी का ट्रैक्टर मार्च

कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में कांग्रेस नेता राहुल गांधी सोमवार को ट्रैक्टर से संसद भवन पहुंचे

Rahul Gandhi drives tractor to Parliament protests government black farm laws

नई दिल्ली (समयधारा) : कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की संसद तो चल ही रही है l

पर आज एक और नया मोड़ आया l कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने आज सबको चौका दिया l

कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरोध में कांग्रेस नेता राहुल गांधी सोमवार को ट्रैक्टर  से संसद भवन (Parliament) पहुंचे।

Breaking News : आखिरकार कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने इस्तीफा दिया

Breaking News : आखिरकार कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने इस्तीफा दिया

राहुल गांधी अपने आवास से कांग्रेस नेताओं के साथ खुद ट्रैक्टर चलाकर संसद के लिए निकले।

उन्होंने कहा, “मैं किसानों के संदेश को पार्लियामेंट तक लेकर आया हूं।”

इस दौरान राहुल ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “मैं संसद में किसानों का संदेश लाया हूं।

वे (सरकार) किसानों की आवाज दबा रहे हैं और संसद में चर्चा नहीं होने दे रहे हैं।

उन्हें इन काले कानूनों को निरस्त करना होगा। पूरा देश जानता है कि ये कानून 2-3 बड़े कारोबारियों के पक्ष में हैं।”

 

Rahul Gandhi drives tractor to Parliament protests government black farm laws

राहुल ने कहा कि सरकार के अनुसार, किसान बहुत खुश हैं और जो (विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान) बाहर बैठे हैं,

वे आतंकवादी हैं, लेकिन हकीकत में किसानों का हक छीना जा रहा है।

बता दें कि हजारों किसान नवंबर से दिल्ली की तीन सीमाओं पर कृषि कानूनों को रद्द करने और फसलों के लिए

न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी के लिए एक नए कानून की मांग कर रहे हैं।

Friendship-Dosti पर सोशल मीडिया में वायरल बेहतरीन 45 शायरियां

वहीं पिछले हफ्ते मानसून सत्र की शुरुआत के बाद से, संसद में कृषि कानूनों और पेगासास कथित जासूसी केस,

जैसे काई मामलों के लेकर लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही हंगामे की भेंट रही है और सदन को स्थगित भी करना पड़ा है।

कांग्रेस के कुछ सांसदों ने कहा कि जब तक मामला सुलझ नहीं जाता, तब तक वे सदन को चलने नहीं देंगे।

उन्होंने संसद के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। शिरोमणि अकाली दल ने भी इस पर बहस की मांग की।

उधर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि कानून फायदेमंद हैं, अगर किसान मुद्दों को व्यक्त करते हैं तो

उन पर “बिंदु-वार” चर्चा की जा सकती है। किसानों और सरकार के बीच कई दौर की वार्ता विवादास्पद कानूनों पर गतिरोध को तोड़ने में विफल रही है।

 

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 3 =

Back to top button