breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

हिंदू मुस्लिमों के पूर्वज एक ही थे, हर भारतीय हिन्दू – मोहन भागवत

मोहन भागवत - हमारी मातृभूमि और समृद्ध विरासत इस देश में एकता का आधार है।

rss chief mohan bhagwat ne kaha ki hindu muslim ke purvaj ek hi the har bhartiy hindu 

पुणे/महाराष्ट्र (समयधारा) : कोरोना की तीसरी लहर आये न आये पर राजनीति तो जोरों-शोरों से जारी रहेगी l

कभी किसान आंदोलन तो कभी तालिबान वाला बयान, और इन सब में सबसे बड़ा मुद्दा हिन्दू-मुस्लिम का जिसे कोई भी राजनेता अपनाने से नहीं डरता l

चाहें वो मोदी हो या अमित शाह, ओवैसी हो या राहुल गांधी कोई पक्ष में तो कोई विपक्ष में बैठ कर जान बुझकर ऐसे विवादों को जन्म देता है जिससे समाज में अशांति व्याप्त हो l

समाज में वह किसी एक पक्ष का चाहे वो हिन्दू हो या मुसलमान उसका सबसे बड़ा भक्त कहलायें और अपनी राजनीति की गाड़ी को आगे सरकाएं l

अब ऐसा ही एक विवाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सरसंघचालक मोहन भागवत (Mohan Bhagwat speech) ने  दिया है l

अगर मुझे राष्ट्रपति पद के लिए नामित किया तो भी नहीं बनूंगा: मोहन भागवत

Covishield टीके की दूसरी डोज 4 हफ्ते बाद लेने की अनुमति दे केंद्र : केरल HC

उन्होंने कहा कि हिंदुओं और मुसलमानों के पुरखे (ancestors) एक ही थे और हर भारतीय हिंदू है।

हमारी मातृभूमि और समृद्ध विरासत इस देश में एकता का आधार है।

rss chief mohan bhagwat ne kaha ki hindu muslim ke purvaj ek hi the har bhartiy hindu 

पुणे में ग्लोबल स्ट्रेटेजिक पॉलिसी फाउंडेशन (Global Strategic Policy Foundation) की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में उन्हें बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया था।

उन्होंने कहा कि समझदार मुस्लिम नेताओं को कट्टरपंथियों के खिलाफ मजबूती से खड़े होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हिंदू शब्द मातृभूमि, पूर्वज और भारतीय संस्कृति के बराबर है। यह अन्य विचारों का अपमान नहीं है।

सब भारतीयों काDNAएक,इस्लाम को कोई खतरा नहीं,लिंचिंग हिंदुत्व के खिलाफ:भागवत

सब भारतीयों काDNAएक,इस्लाम को कोई खतरा नहीं,लिंचिंग हिंदुत्व के खिलाफ:भागवत

हमें मुस्लिम वर्चस्व के बारे में नहीं, बल्कि भारतीय वर्चस्व के बारे में सोचना है। 

अब उनके इस बयान पर विवाद होना लाजिम ही है और वाद-विवाद शुरू हो गया l

rss chief mohan bhagwat ne kaha ki hindu muslim ke purvaj ek hi the har bhartiy hindu 

इससे पहले भी उन्होंने DNA वाला विवादित बयान दिया था l 

RSS प्रमुख मोहन भागवत(RSS-chief-Mohan-Bhagwat) ने रविवार को राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के एक कार्यक्रम में कहा कि सब भारतीयों का डीएनए एक(all-Indians-DNA-same) है।

Tuesday Thoughts : वक़्त वो तराजू है जनाब, जो बुरे वक्त में अपनों का वजन बता देता है… 

भारत में इस्लाम को कोई खतरा (no-threat-to-Islam) नहीं है। मुसलमानों को डर के ‘डर के इस चक्र में’ नहीं फंसना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में लिंचिंग की घटनाएं हिंदुत्व के खिलाफ(lynching- against-Hindutva)है।

संघ प्रमुख मोहन भागवत(Mohan Bhagwat) रविवार को राष्ट्रीय मुस्लिम मंच द्वारा यहां ‘हिन्दुस्तानी प्रथम, हिन्दुस्तान प्रथम’ विषय पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे।

rss chief mohan bhagwat ne kaha ki hindu muslim ke purvaj ek hi the har bhartiy hindu 

उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि लोगों में इस आधार पर अंतर नहीं किया जा सकता कि उनकी पूजा करने का तरीका क्या है।

भागवत ने कहा, ‘भय के इस चक्र में न फंसें कि भारत में इस्लाम खतरे में है.’ उन्होंने कहा कि देश में एकता के बिना विकास संभव नहीं है।

1 नवंबर से इन फोन्स में नहीं चलेगा Whatsapp,चेक करें कहीं आपका फोन भी तो नहीं..

आरएसएस प्रमुख ने जोर देकर कहा कि एकता का आधार राष्ट्रवाद और पूर्वजों का गौरव होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हिन्दू-मुस्लिम संघर्ष का एकमात्र समाधान ‘संवाद’ है, न कि ‘विसंवाद’।

आरएसएस प्रमुख ने लिंचिंग (पीटकर मार डालने) की घटनाओं में शामिल लोगों पर हमला बोलते हुए कहा, ‘वे हिन्दुत्व के खिलाफ हैं।’

rss chief mohan bhagwat ne kaha ki hindu muslim ke purvaj ek hi the har bhartiy hindu 

हालांकि, उन्होंने कहा कि लोगों के खिलाफ लिंचिंग के कुछ झूठे मामले दर्ज किए गए हैं।

भागवत ने कहा, ‘हिन्दू-मुस्लिम एकता की बात भ्रामक है क्योंकि वे अलग नहीं, बल्कि एक हैं सभी भारतीयों का डीएनए एक है, चाहे वे किसी भी धर्म के हों।’

Live ENGvsIND 4th Test : भारत ने इंग्लैंड को 157 रनों से हराया, सीरीज में फिर 2-1 से आगे

उन्होंने कहा, ‘हम एक लोकतंत्र में हैं. यहां हिन्दुओं या मुसलमानों का प्रभुत्व नहीं हो सकता. यहां केवल भारतीयों का वर्चस्व हो सकता है।’

भागवत ने अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए कहा कि वह न तो कोई छवि बनाने के लिए कार्यक्रम में शामिल हुए हैं और न ही वोट बैंक की राजनीति के लिए।

उन्होंने कहा कि संघ न तो राजनीति में है और न ही यह कोई छवि बनाए रखने की चिंता करता है।

आरएसएस प्रमुख(RSS Chief) ने कहा, ‘यह (संघ) राष्ट्र को सशक्त बनाने और समाज में सभी लोगों के कल्याण के लिए अपना कार्य जारी रखता है।

Covishield टीके की दूसरी डोज 4 हफ्ते बाद लेने की अनुमति दे केंद्र : केरल HC

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 + 4 =

Back to top button