breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

Power Crisis: कोयले की कमी से देश में गहराया बिजली संकट,गर्मी में बिजली की मांग ने तोड़े सारे रिकॉर्ड

जी हां, भीषण गर्मी ने शुक्रवार दोपहर 2.50 बजे बिजली की मांग ने अभी तक सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले है।

Power-crisis-in-India-worsens-due-to-coal-crisis-electricity-demand-breaks-all-records

नई दिल्ली:आपकी बिजली कभी भी किसी भी वक्त गुल हो सकती है चूंकि देश में बिजली संकट बुरी तरह से गहरा गया(Power-crisis-in-India-worsens)है।

भारत के 12 से अधिक राज्यों में दिल्ली सहित भीषण गर्मी में बिजली संकट हो ज्यादा गहरा गया है।क्योंकि कई राज्य कोयला संकट(Coal crisis)से जूझ रहे है।

प्रकोप मचाती भीषण लू ने देश में बिजली की मांग को रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा दिया(electricity-demand-breaks-all-records-amid-extreme-heatwave)है।

जी हां, भीषण गर्मी ने शुक्रवार दोपहर 2.50 बजे बिजली की मांग ने अभी तक सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले है।

इसकी जानकारी खुद ऊर्जा मंत्रालय(Ministry of Power)ट्वीट करके(Power-crisis-in-India-worsens-due-to-coal-crisis-electricity-demand-breaks-all-records)दी।

ऊर्जा मंत्रालय (Power Ministry)ने स्वीकार किया है कि भारत में पीक पॉवर डिमांड (Power Demand) अब तक के सबसे रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है।

शुक्रवार को ऊर्जा की मांग 207111 मेगावॉट के स्तर पर पहुंच गई। इस बाबत मंत्रालय ने एक ट्वीट करके कहा, ऑल टाइम हाई डिमांड शुक्रवार दोपहर 2.50 बजे 207111 मेगावॉट के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच(Power-crisis-in-India-worsens-due-to-coal-crisis-electricity-demand-breaks-all-records)गई।

बिजली की ये रिकॉर्ड मांग दिल्ली, उत्तर भारत समेत देश के बड़े इलाके में जानलेवा लू (Delhi NCR Heatwave) के कहर के बीच सामने आई है।

माना जा रहा है कि अप्रैल में ही दिल्ली, यूपी समेत बड़े इलाकों में 11 दिनों से ज्यादा लू चलने के बीच बिजली की खपत बढ़ी है।

लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध(Russia-Ukraine war)के बीच आयातित कोयले के दाम में भारी इजाफे से संकट और बढ़ा है।

Solar Eclipse 2022:आज है इस वर्ष का पहला सूर्यग्रहण,सतर्क रहें इन राशियों के जातक

ज्यादातर बिजली संयंत्रों को पूरी क्षमता से उत्पादन के लिए कोयला नहीं मिल पा रहा है।

थर्मल पॉवर प्लांट में कोयले के स्टॉक की कमी(Coal shortage)की खबरों के बीच केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा है कि बिजली संयंत्रों में 2.2 करोड़ टन कोयला है, जो 10 दिनों के लिए पर्याप्त है।लगातार आपूर्ति भी बढ़ाई जा रही है।

झारखंड, हरियाणा, बिहार, पंजाब, महाराष्ट्र जैसे राज्यों में बिजली कटौती बढ़ती(Power Crisis)जा रही है।

दिल्ली सरकार(Delhi Govt)ने केंद्र को पत्र लिखकर कहा है कि बिजली की कमी से मेट्रो(Metro) और अस्पतालों में बिजली की किल्लत पैदा हो सकती(Power-crisis-in-India-worsens-due-to-coal-crisis-electricity-demand-breaks-all-records)है।

कोयला आपूर्ति बढ़ाने के लिए रेलवे ने 657 ट्रेन ट्रिप कैंसल कर दिया है, ताकि पावर प्लांट तक कोल रेक्स ज्यादा और जल्दी पहुंचाई जा सके। करीब 509 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है और 148 मेमू ट्रेन सेवाएं भी कैंसल कर दी गई हैं।

Power-crisis-in-India-worsens-due-to-coal-crisis-electricity-demand-breaks-all-records

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button