breaking_newsअन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल

रविवार सुविचार : शब्दों में बहुत शक्ति होती है..

शब्द किसी की मदद कर सकते है, शब्द किसी भी बात को ठीक कर सकते है, शब्द किसी को हर्ट भी कर सकते है,इस शक्ति का सावधानी से उपयोग करें

Sunday suvichar Sunday thoughts in hindi,

शब्दों में बहुत शक्ति होती है,

शब्द किसी की मदद कर सकते है

शब्द किसी भी बात को ठीक कर सकते है  

शब्द किसी को हर्ट भी कर सकते है    

इस शक्ति का सावधानी से उपयोग करें।’

“Words have great power.

The power to help,

the power to heal and the power to hurt.

So use this power carefully.” 

घर के बाहर भले ही दिमाग ले जाओ..

क्योंकि दुनियाँ एक ‘बाजार’ है.

लेकिन घर के अंदर सिर्फ दिल ले जाओ

क्योंकि वहाँ एक ‘परिवार’ है

101 Women's Day Thoughts
101 Women’s Day Thoughts

 ज़िन्दगी में कुछ दोस्ती

नादानों से भी ज़रूर रखना

क्योंकि जरुरत पड़ने पर

समझदार लोग अक्सर व्यस्त रहते हैं

Sunday suvichar Sunday thoughts in hindi

इंसान के परिचय की शुरुआत

भले ही चेहरे से होती होगी 

पर उसकी संपूर्ण पहचान तो उसकी 

वाणी, विचार एवं कार्यों से ही होगी 

कोई भी व्यक्ति हमारा

मित्र या शत्रु बनकर संसार में नही आता…

हमारा व्यवहार-शब्द 

लोगो को मित्र और शत्रु बनाते है

Anyone Do not come into

the world by becoming friends or enemies.

Our word of mouth

Make people friends and enemies

 

101 Women's Day Thoughts,  महिलाओं पर 101 प्रेरणादायक सुविचार, 136 Powerful Motivational Thoughts-Quotes-Suvichar in hindi,
101 Women’s Day Thoughts,  महिलाओं पर 101 प्रेरणादायक सुविचार

अपना सर्वश्रेष्ठ देंने से
कभी मत रुको
वो भी सिर्फ इसलिए
कि कोई आपको उसका
श्रेय नहीं देता l 

Never Stop Doing Your Best
Just Because
Someone Doesn’t Give You Credit

Sunday suvichar Sunday thoughts in hindi,

सभी समस्या माइंड और मेटर

की वजह से फंस जाती है  

अगर आप माइंड नहीं करेंगे तो 

कोई भी चीज मेटर नहीं होगी

वक्त और किस्मत पर

कभी घमंड मत करों 

क्यों की सुबह उनकी भी होती है 

जिन्हें कोई याद नहीं करता 

101 Women's Day Thoughts,  महिलाओं पर 101 प्रेरणादायक सुविचार, 136 Powerful Motivational Thoughts-Quotes-Suvichar in hindi,
101 Women’s Day Thoughts,  महिलाओं पर 101 प्रेरणादायक सुविचार

सीढिया उन्हे मुबारक हो

जिन्हे छत तक जाना है…

मेरी मन्जिल तो आसमान है…

रास्ता मुझे खुद बनाना है… 

पसंद उसे कीजिये जो
आप में परिवर्तन लाए

वरना प्रभावित तो
मदारी भी कर लेते हैं.

यह थॉट्स भी पढ़े : 

101 Women’s Day Thoughts- महिलाओं पर 101 प्रेरणादायक सुविचार

Show More

Dropadi Kanojiya

द्रोपदी कनौजिया पेशे से टीचर रही है लेकिन अपने लेखन में रुचि के चलते समयधारा के साथ शुरू से ही जुड़ी है। शांत,सौम्य स्वभाव की द्रोपदी कनौजिया की मुख्य रूचि दार्शनिक,धार्मिक लेखन की ओर ज्यादा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 − nine =

Back to top button