breaking_newsअन्य ताजा खबरेंक्रिकेटखेल
Trending

9 दिसंबर के बाद भी सौरभ गांगुली BCCI अध्यक्ष और जय शाह बनें रहेंगे सचिव

गौरतलब है कि बतौर अध्यक्ष सौरव गांगुली का कार्यकाल जुलाई 2020 में समाप्त हो चुका है...

Sourav Ganguly as BCCI president and Jay Shah as secretary may continue after 9 Dec

नई दिल्ली:सौरभ गांगुली बतौर बीसीसीआई अध्यक्ष (Sourav Ganguly as BCCI president)और जय शाह बतौर बीसीसीआई सचिव (Jay Shah as secretary)अपना कार्यकाल 9 दिसंबर के बाद भी कायम रख सकते है।

प्राप्त मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार,9 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट सिर्फ उन केसों पर सुनवाई करेगा जिन्हें हाईकोर्ट में हल करा जा सकता है।

हालांकि इससे पूर्व कहा जा रहा था कि सौरभ गांगुली और जय शाह के BCCI करियर पर 9 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट(Supreme court) फैसला सुना सकता है।

दरअसल,जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन बनाम जिला क्रिकेट फोरम कुलगाम, जम्मू और कश्मीर की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की पीठ ने मंगलवार को इस मामले को सूचीबद्ध करने का आदेश दिया।

इस मामले में एमिकस क्यूरी और वरिष्ठ अधिवक्ता पीएस नरसिम्हा ने संकेत दिया कि फैसला सुनाए जाने से पहले एक से अधिक मामले की सुनवाई होगी।

नरसिम्हा ने कहा, “नौ दिसंबर को इसका एक हिस्सा खत्म हो जाएगा और उसके कुछ समय बाद अंतिम सुनवाई होगी।”

उन्होंने कहा, “नौ दिसंबर को उच्च न्यायालयों द्वारा हल किए जाने वाले मुद्दों को सुना जाएगा, जो राज्य क्रिकेट संघों के अंतर-राज्य विवाद को लेकर है।

यह राज्यों के गठन से ज्यादा नहीं होगा, यह इसके बारे में होगा, कुछ सदस्यों को (संघ में) अनुमति नहीं दी जा रही है, कुछ सदस्यों को (संघों) से बाहर निकाला जा रहा है. यही सब शिकायतें हैं।”

 

Sourav Ganguly as BCCI president and Jay Shah as secretary may continue after 9 Dec

बीसीसीआई सुधारों के मामले में  होगी सुनवाई

नरसिम्हा ने साथ ही कहा कि बीसीसीआई सुधारों के मामले में दायर किए गए और जो कि उच्च न्यायालयों द्वारा तय किए जा सकते हैं, उनमें से केवल कुछ ही मामलो की नौ दिसंबर को सुनवाई की जाएगी।

कई राज्य क्रिकेट संघों और व्यक्तियों ने इस मामले में इंटरलोक्यूटरी एप्लिकेशन दायर किए हैं जिन्हें एक साथ सुना जा रहा है. बीसीसीआई कुछ महत्वपूर्ण सुधार चाहती है, जो सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त लोढ़ा समिति द्वारा सुझाए गए हैं और सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनुमोदित हैं।

इनमें मुख्य रूप से BCCI के पदाधिकारियों के लिए तीन साल की अनिवार्य कूलिंग-ऑफ पीरियड्स को हर तीन साल बाद है. बीसीसीआई में पदाधिकारियों के लिए अधिकतम कार्यकाल नौ साल का है, इसके अलावा राज्य संघों में नौ साल का है.

गौरतलब है कि बतौर अध्यक्ष सौरव गांगुली का कार्यकाल जुलाई 2020 में समाप्त हो चुका है।

सौरव गांगुली ने हालांकि अपना कार्यकाल बढ़वाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाली हुई है। सुप्रीम कोर्ट के फैसला सुनाने तक सौरव गांगुली अध्यक्ष पद पर बने हुए हैं।

 

 

Sourav Ganguly as BCCI president and Jay Shah as secretary may continue after 9 Dec

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − six =

Back to top button