breaking_newsअन्य खेल खबरेंअन्य ताजा खबरेंखेलदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

Paralympics में भारत का धमाका, दो गोल्ड मैडल सहित भारत की झोली में 7 पदक

Tokyo Paralympics 2020 : भाला फेंकने वाले सुमित अंतिल ने भारत को दूसरा गोल्ड मेडल दिलाया.

Tokyo Paralympics till now 7 medals for india including two gold medals

Tokyo (समयधारा) :  टोक्यो पैरालिंपिक 2020 (Tokyo Paralympics 2020) में भाला फेंकने वाले (Javelin throw) सुमित अंतिल (Sumit Antil) ने भारत को दूसरा गोल्ड मेडल दिलाया।

सुमित अंतिल ने 68.55 के विश्व रिकॉर्ड प्रयास के साथ पुरुषों की भाला फेंक F64 इवेंट में स्वर्ण पदक जीता।

इसी की साथ पैरालिंपिक में भारत को अब तक सात मेडल मिल चुके हैं।

इससे पहले निशानेबाज अवनि लेखरा ने सुबह महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग SH1 इवेंट का गोल्ड मेडल जीता था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टोक्यो पैरालंपिक में स्वर्ण पदक जीतने पर सुमित अंतिल को बधाई दी है।

उन्होंने कहा, “पैरालंपिक में सुमित अंतिल के रिकॉर्ड तोड़ प्रदर्शन पर देश को गर्व है। सुमित को स्वर्ण पदक जीतने के लिए बधाई और भविष्य के लिए शुभकामनाएं।”

Tokyo Paralympics 2020: निशानेबाज अवनि लखेड़ा ने भारत के लिए जीता पहला गोल्ड मेडल

Tokyo Paralympics 2020: निशानेबाज अवनि लखेड़ा ने भारत के लिए जीता पहला गोल्ड मेडल

हरियाणा के सोनीपत में पैरा जेवलिन थ्रोअर खिलाड़ी सुमित अंतिल के परिवार के सदस्य और दोस्तों ने डांस कर जश्न मनाया।

सुमित अंतिल ने टोक्यो पैरालिंपिक में 68.55 मीटर के विश्व रिकॉर्ड थ्रो के साथ पुरुषों की भाला फेंक में इवेंट मेडल जीता।

Tokyo Paralympics till now 7 medals for india including two gold medals

23 साल के सुमित ने अपने पांचवें प्रयास में 68.55 मीटर दूर तक भाला फेंका, जो दिन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन और एक नया विश्व रिकार्ड था।

2015 में मोटर बाइक दुर्घटना में उन्होंने बायां पैर घुटने के नीचे से गंवा दिया था।

उन्होंने 62.88 मीटर के अपने ही पिछले विश्व रिकार्ड को दिन में पांच बार बेहतर किया।

हालांकि उनका अंतिम थ्रो ‘फाउल’ रहा। उनके थ्रो की सीरीज 66.95, 68.08, 65.27, 66.71, 68.55 और फाउल रही।

आस्ट्रेलिया के मिचाल बुरियन (66.29 मीटर) और श्रीलंका के डुलान कोडिथुवाक्कू (65.61 मीटर) ने क्रमश:

सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल जीते। F64 स्पर्धा में एक पैर कटा होने वाले एथलीट कृत्रिम अंग (पैर) के साथ खड़े होकर हिस्सा लेते हैं।

दिल्ली के रामजस कॉलेज के छात्र अंतिल दुर्घटना से पहले पहलवान थे।

Tokyo Paralympics till now 7 medals for india including two gold medals

दुर्घटना के बाद उनके बायें पैर को घुटने के नीचे से काटना पड़ा। उनके गांव के एक पैरा एथलीट 2018 में उन्हें इस खेल के बारे में बताया।

वह पटियाला में 5 मार्च को पटियाला में इंडियन ग्रां प्री सीरीज 3 में ओलंपिक चैम्पियन नीरज चोपड़ा के खिलाफ खेले थे,

जिसमें वह 66.43 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ सातवें स्थान पर रहे थे, जबकि चोपड़ा ने 88.07 मीटर के थ्रो से अपना राष्ट्रीय रिकार्ड तोड़ा था।

अंतिल ने दुबई में 2019 वर्ल्ड चैम्पियनशिप में F64 भाला फेंक स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता था।

इससे पहले, 

भारतीय निशानेबाज अवनि लखेड़ा (Avani Lekhara) ने पैरांलिंपिक में इतिहास रचते हुए भारत को पहला गोल्ड मेडल जीता दिया है।

टोक्यो पैरालिंपिक 2020(Tokyo-Paralympics-2020)की शानदार जीत ने भारत का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है।

अवनि पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई (Shooter-Avani-Lekhara-First-Indian-Woman-wins gold-medal)हैं।

इतना ही नहीं, आज जैवलिन थ्रो में भी भारत को दो पदक मिले है। Tokyo Paralympics till now 7 medals for india including two gold medals

अब पैरालिंपिक में भारत ने एक के बाद एक कुल छह पदक जीत लिए है। पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला भाविनाबेन पटेल है।

निशानेबाजी में पहली बार भारत को पैरालिंपिक में स्वर्ण पदक अवनि लखेड़ा (Avani Lekhara) ने जीता दिया है।

उन्होंने महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 इवेंट में यह गोल्ड मेडल जीता है। 

Olympic मिलियें भारत के पदकवीरों/वीरांगनाओं से 1-Gold 2-Silver 4-Bronze

अवनि लखेड़ा (Avani Lekhara) ने फाइनल में 249.6 अंक हासिल किए। उन्होंने वर्ल्ड रेकॉर्ड की बराबरी की।

भारत की अवनि लखेड़ा ने फाइनल में 7वें स्थान के साथ क्वॉलिफाई किया था और कुल 621.7 अंक हासिल किए थे।

अवनि ने फाइनल में अपने खेल में बदलाव किया और गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है।

Tokyo Paralympics till now 7 medals for india including two gold medals

अवनि लखेड़ा ने निशानेबाजी में ऐतिहासिक जीत दर्ज की है और इस जीत पर राष्ट्रपति,उपराष्ट्रपति व प्रधानमंत्री सहित सभी गणमान्य हस्तियों ने अवनि लखेड़ा और अन्य खिलाड़ियों को पैरालिंपिक में भारत को पदक दिलाने के लिए बधाई सहित धन्यवाद दिया है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर अवनि को बधाई दी है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है कि, ‘अभूतपूर्व प्रदर्शन @AvaniLekhara! आपके मेहनती स्वभाव और शूटिंग के प्रति जुनून के कारण संभव हुआ, कड़ी मेहनत और अच्छी तरह से योग्य स्वर्ण जीतने के लिए बधाई।

Olympic Breaking : बजरंग ने भारत को कांस्य के रूप में छठा पदक दिलाया

यह वास्तव में भारतीय खेलों के लिए एक विशेष क्षण है। आपके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।’

Tokyo Paralympics till now 7 medals for india including two gold medals

यह भारत का इन खेलों की निशानेबाजी प्रतियोगिता में भी पहला पदक है। टोक्यो पैरालंपिक में भी यह देश का पहला स्वर्ण पदक है।

पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली वह तीसरी भारतीय महिला हैं।

रविवार को महिला टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल और ऊंची कूद के एथलीट निषाद कुमार ने रजत पदक जीते लेकिन विनोद कुमार का चक्का फेंक की एफ52 स्पर्धा में कांस्य पदक उनके क्लासीफिकेशन को लेकर विरोध दर्ज होने के कारण रोक दिया गया।

Tokyo Paralympics till now 7 medals for india including two gold medals

भारतीय पैरालंपिक समिति की अध्यक्ष दीपा मलिक रियो पैरालंपिक 2016 में गोला फेंक में रजत पदक जीतकर इन खेलों में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला बनी थी।

अवनि से से पहले भारत की तरफ से पैरालंपिक खेलों में मुरलीकांत पेटकर (पुरुष तैराकी, 1972), देवेंद्र झाझरिया (पुरुष भाला फेंक, 2004 और 2016) तथा मरियप्पन थंगावेलु (पुरुष्ज्ञ ऊंची कूद, 2016) ने स्वर्ण पदक जीते थे।

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × four =

Back to top button