breaking_newsHome sliderविभिन्न खबरेंविश्व

#China : चीनी ड्रैगन और भारतीय हाथी को साथ में नृत्य करना चाहिए-युद्ध नहीं

बीजिंग,13 मार्च : चीन ने सोमवार को भारत के इस बयान को सकारात्मक बताते हुए इसका स्वागत किया कि भारत बीजिंग से रिश्ते बढ़ाने और परस्पर सम्मान के आधार पर आपसी मतभेदों को सुलझाने के लिए तैयार है।

पिछले सप्ताह भारत-चीन संबंधों पर एक सकारात्मक रुख जताते हुए चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा था कि दोनों देशों को मतभेद दूर कर परस्पर विश्वास बढ़ाना चाहिए।

वांग ने कहा कि चीनी ड्रैगन और भारतीय हाथी को साथ में नृत्य करना चाहिए, युद्ध नहीं।

भारत ने भी ऐसी ही प्रतिक्रिया दी और कहा कि वह परस्पर सम्मान और एक दूसरे के हितों, चिंताओं और आकांक्षाओं की संवेदनशीलता के आधार पर मतभेदों से निपटते हुए आपसी संबंध विकसित करने का इच्छुक है।

वांग के बयान पर भारतीय प्रतिक्रिया पर बीजिंग की राय पूछने पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कांग ने कहा, “हमने भारत की तरफ से दिए गए सकारात्मक बयान देखे हैं।

आपने विदेश मंत्री यी के पिछले सप्ताह के बयान पर गौर किया होगा जिसमें उन्होंने भारत-चीन संबंधों को लेकर बात की थी।

उन्होंने भारत के साथ संबंधों को लेकर चीन की बुनियादी स्थिति के बारे में बताया था।”

पिछले साल भारत-चीन सीमा पर डोकलाम में दोनों देशों की सेनाओं के आमने-सामने आने पर भारत-चीन संबंधों में दरार आ गई थी।

दोनों देशों की सेनाओं के 73 दिन आमने-सामने डटे रहने के बाद पिछले साल अगस्त में ब्रिक्स सम्मेलन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चीन यात्रा से पहले यह विवाद शांत हुआ था।

मोदी ने सम्मेलन से इतर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात कर दोनों देशों के संबंधों में सुधार लाने की पहल की थी। इसके बाद दोनों देशों ने आपसी संबंध सुधारने की कोशिश की है।

पाकिस्तानी आतंकवादी मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र में प्रतिबंध लगवाने की भारत की कोशिश और परमाणु आपूर्ति समूह में भारत के प्रवेश के लिए चीन का विरोध तथा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में बीजिग की सड़क परियोजना भारत के चिंता के मुख्य मुद्दे रहे हैं।

–आईएएनएस

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − four =

Back to top button