breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविभिन्न खबरेंविश्व
Trending

सच्चे दोस्त मोदी को धन्यवाद दिया दोगले ट्रंप ने, मोदी ने कहा हम साथ मिलकर जीतेंगे

हाइड्रोक्सीक्लोक्वीन दवा के लिए ट्रंप ने भारत और मोदी को कहा शुक्रिया, मोदी ने तुरंत दिया जवाब

Covid19America Modi-says-happy-to-help on trump-thanks-for-hydroxychloroquine
नई दिल्ली, (समयधारा) l पूरे विश्व में कोरोना का कहर जारी है l
इस बीच पिछले दिनों मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन को लेकर अमेरिका और अन्य देशों के साथ भारत का तनाव बढ़ता जा रहा था l
इसे लेकर अमेरिका ने इसको लेकर भारत को धमकी तक दे दी थी l
पर भारत का अमेरिका समेत जरूरतमंद देशों को भारत ने हाइड्रोक्लोरोक्वीन दवा देने का फैसला किया तो अमेरिकी राष्टपति ट्रंप के सुर ही बदल गए l
ट्रंप ने ट्वीट कर कहा खास मौकों पर दोस्तों के बीच निकट सहयोग जरूरी है।
HCQ पर निर्णय लेने के लिए भारत और भारतवासियों का धन्यवाद।
Covid19America Modi-says-happy-to-help on trump-thanks-for-hydroxychloroquine
अपने मजबूत नेतृत्व के जरिए ना सिर्फ भारत बल्कि मानवता की मदद करने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद। 


इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए PM मोदी ने कहा है कि प्रेसिडेंट ट्रंप, आपके साथ पूरी तरह सहमत हूं।
इस तरह का समय दोस्तों को करीब लाता है। भारत-US पार्टनरशिप अभी सबसे मजबूत है।
Covid19America Modi-says-happy-to-help on trump-thanks-for-hydroxychloroquine
COVID-19 के खिलाफ जंग में मानवता की मदद के लिए भारत हर संभव काम करेगा। हम साथ मिलकर जीतेंगे।


अमेरिका समेत जरूरतमंद देशों को भारत ने हाइड्रोक्लोरोक्वीन दवा देने का फैसला किया तो प्रेसिडेंट ट्रंप ने ट्वीट कर इसके लिए धन्यवाद दिया। 
ट्रंप की धमकी के बाद भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन के निर्यात पर लगाई मुहर, सोशल मीडिया आया उबाल 
बता दें कि अमेरिका में मलेरिया की दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की करोना के  इलाज के तौर पर पहचान की गई है।
इसकी न्यूयॉर्क में 1,500 से ज्यादा मरीजों पर जांच की जा चुकी है।
कोरोना वायरस के इलाज में इसके कारगर होने की संभावना के चलते ट्रंप प्रशासन ने हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन की 3 करोड़ से ज्यादा गोलियां खरीदी हैं।
ट्रंप ने पिछले हफ्ते फोन पर हुई बातचीत में प्रधानमंत्री मोदी से मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली ये दवा भेजने का अनुरोध किया था।
Covid19America Modi-says-happy-to-help on trump-thanks-for-hydroxychloroquine
भारत इस दवा का प्रमुख उत्पादक है। भारत ने इसके एक्सपोर्ट पर रोक लगा दिया था जिसे मंगलवार को हटा दिया गया।
Breaking News : कोरोना से घबराकर ट्रंप ने दी दोस्त मोदी को धमकी
इसके पहले क्या-क्या हुआ 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकी के बाद भारत ने आखिरकार कोरोना के इलाज में कारगर दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन के निर्यात को मंजूरी दे ही (India Allow export Hydroxychloroquine after Trump threatens) दी।

सोमवार को खबर आई थी कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने भारत को धमकी दी है कि अगर भारत ने हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन (Hydroxychloroquine) की दवा का अमेरिका को निर्यात नहीं किया तो अमेरिका बदले की कार्रवाई कर सकता है।

जबकि इससे पहले शनिवार को ट्रंप ने इसी दवा के लिए पीएम मोदी से पहले आग्रह करने की बात कही थी और फिर सोमवार को अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन की दवा के लिए पीएम मोदी को धमकी देते दिखे।

उनके इस लहजे की भारत में काफी आलोचना हो रही है। अब ट्रंप की धमकी के 6 घंटे बाद भारत कोरोना के इलाज में कारगर मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन का निर्यात करने पर राजी हो गया (Covid19America Modi-says-happy-to-help on trump-thanks-for-hydroxychloroquine) है।

हालांकि केंद्र ने मंगलवार को पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि भारत कुछ देशों में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन दवा का निर्यात करेगा,लेकिन पहले देश की जरूरतों को प्राथमिकता देंगे।

अन्य देशों में कोरोना के कितने केस है, इस बात का भी ध्यान रखा जाएगा। वैसे भारत की स्टेटमेंट अमेरिका की धमकी के 6 घंटे बाद आया है।

हालांकि भारत द्वारा ट्रंप की धमकी दिए जाने के बाद हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन दवा के निर्यात पर लगी रोक हटाने को लेकर सोशल मीडिया पर हैशटैग #डरपोक_मोदी ट्रेंड करने लगा। यूजर्स भारत के इस कदम की आलोचना करने लगे।

गौरतलब है कि मंगलवार को भारतीय समयानुसार तड़के 4 बजे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने धमकी देते हुए कहा था कि अगर भारत उनके व्यक्तिगत आग्रह के बावजूद दवा नहीं भेजता तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।

ध्यान दें कि भारत में मलेरिया के इलाज की पुरानी और सस्ती दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन है। देश के स्वास्थ्यकर्मी इस दवा को कोरोना संक्रमण के बीच एंटी वायरल मेडिसिन के रूप में प्रयोग कर रहे है।

इसी कारण भारत ने बीते महीने ही हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था।

नासा के वैज्ञानिकों ने भी मलेरिया निरोधक हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्विन को कोरोना (Corona) से लड़ने में कारगर बताया था। इसलिए खुद अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप भी अपने देश और खुद अपने लिए भारत से हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन दवा की मांग कर रहा है।

Covid19America Modi-says-happy-to-help on trump-thanks-for-hydroxychloroquine

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + 2 =

Back to top button