breaking_newsअन्य ताजा खबरेंटेक्नोलॉजीराज्यों की खबरेंसोशल मीडिया
Trending

ANIUP को तबलीगी जमात की फेक न्यूज फैलाने पर नोएडा डीसीपी से लताड़, एजेंसी ने गलती सुधारी

कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए नोएडा के डीसीपी संकल्प शर्मा की तारीफ हो रही है...

नई दिल्ली:Corona news: ANI UP spreading Tablighi Jamat fake news object DCP Noida Sankal Sharmaक्या सच में कोरोनावायरस (Coronavirus) का संक्रमण देश में सिर्फ तबलीगी जमात (Tabligh Jamat )के कारण ज्यादा हुआ है? या इस प्रकार की Fake news मीडिया के एक विशेष वर्ग द्ववारा  फैलाकर जानबूझकर एक पार्टी विशेष के हित में काम किया जा रहा है। यह सवाल कई बार कई लोग ट्विवटर पर उठा चुके है।

अब इसप्रकार के दावे पर उस वक्त मुहर लग गई जब प्रतिष्ठित न्यूज एजेंसी एएनआई यूपी ने भी तबलीगी जमात से जुड़ी एक झूठी खबर को ट्वीट कर दिया और नोएडा के डीसीपी ने इसे फेक और गलत करार दिया।

इसका पता चलते ही यूजर्स ने एएनआई के खिलाफ फेक न्यूज फैलाने के लिए  एफआईआर दर्ज करने की मांग की। जाने माने सोशल वर्कर और प्रख्यात एडवोकेट प्रशांत भूषण ने भी एएनआई यूपी के खिलाफ फेक न्यूज फैलाने के तहत कार्रवाई की मांग की। यूजर्स ने हैशटैग #ANI_माफ़ी_माँगो ट्रेंड करके गुस्सा जताया।

लेकिन कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर फेक न्यूज पर लगाम लगाने के लिए नोएडा के डीसीपी संकल्प शर्मा  (DCP Noida Sankal Sharma) की तारीफ हो रही है, चूंकि उन्होंने ट्विटर पर ANI UP  की उस खबर को गलत और फेक करार दिया , जिसमें दावा किया गया था कि नोएडा के हरौला के सेक्टर 5 में जितने भी लोगों को क्वॉरंटीन किया गया है, वे तबलीगी जमात के लोगों के संपर्क में आएं थे।

नोएडा के डीसीपी संकल्प शर्मा ने तुरंत इसका संज्ञान लेते हुए एएनआई यूपी (ANI UP) को ट्वीट करके कहा कि ‘नोएडा के हरौला के सेक्टर 5 में जितने भी लोग क्वारंटीन किए गए है, वे कोरोना पॉजिटिवों के संपर्क में आए थे,कहीं पर भी तबलीगी जमात के लोगों का नाम नहीं लिया गया है। आप भ्रामक और फेक न्यूज फैैला रहे है।’

Corona news: ANI UP spreading Tablighi Jamat fake news object DCP Noida Sankal Sharma

न्यूज एजेंसी के द्वारा गलत फैक्ट रखने की गलती जानबूझकर है या सच में एक मानव गलती…यह अलग मुद्दा है। फिलहाल एएनआई यूपी ने नोएडा के डीसीपी संकल्प शर्मा द्ववारा लताड़ लगने पर तुरंत अपनी गलती का सुधार किया और वापस ट्वीट करके तबलीगी जमात मेंबर्स शब्द को हटा दिया।

लेकिन इसके बाद ट्वटिर पर लोगों ने एएनआई से माफी मांगने और नोएडा पुलिस द्वावरा एएनआई यूपी पर एफआईआर दर्ज करने की मांग कर दी।

यूजर्स ने आरोप लगाया कि जानबूझकर सत्तारूढ़ दल के एजेंडे को बढ़ाते हुए कोरोनावायरस के हर केस को तबलीगी जमात से जोड़ा जा रहा है ताकि मुसलमानों को टारगेट किया जा सकें।

लोगों ने ट्वीट करके नोएडा के डीसीपी संकल्प शर्मा की देश में सौहार्द का वातावरण बनाने और फेक न्यूज पर लगाम लगाने की दिशा में सरहानीय काम करने के लिए प्रशंसा की।

सुप्रीम कोर्ट की भी सीधी गाइडलाइन है कि कोरोनावायरस को लेकर देश में जो भी फेक न्यूज फैला रहे है, प्रशासन उनपर तुरंत कार्रवाई करें। इस वक्त देश महामारी से जूझ रहा है और ऐसे में सांप्रदायिक माहौल बनाएं रखना जरुरी है।

बतौर भारत के नागरिक हम सभी का कर्तव्य है कि हम किसी भी खबर की पूरी तरह पुष्टि करने के बाद ही उसे मैसेज के तौर पर आगे फॉरवर्ड करें या न्यूज के तौर पर पब्लिश करें।

 
समयधारा कभी भी कोई फेक न्यूज का प्रसार-प्रचार नहीं करता।
 
 
Corona news: ANI UP spreading Tablighi Jamat fake news object DCP Noida Sankal Sharma

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + nine =

Back to top button