breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराजनीति
Trending

पीएम मोदी:नवंबर तक 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन,पीएम गरीब कल्याण योजना जारी

हम लॉकडाउन में नियमों को लेकर जितना सतर्क थे लेकिन अनलॉक (Unlock) भारत में अब उतनी लापरवाही बढ़ती जा रही है जोकि बिल्कुल भी ठीक नहीं है...

नई दिल्‍ली: PM Modi speech to nation highlights- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनावायरस महामारी के दौरान छठी बार देश को संबोधित किया और अनलॉक 2.0 (Unlock 2.0) के आगाज़ सहित, कोरोना से और ज्यादा सतर्कता बरतने को लेकर अपनी कल्याणकारी योजनाओं के विस्तार के बारे में खुलकर देश को बताया।

पीएम मोदी ने राष्ट्र (PM Modi address to nation) के नाम जो भाषण दिया उसमें सबसे प्रमुख एलान है कि पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना (Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana) का विस्तार अब नवंबर तक कर दिया गया है,जिसके तहत 80 करोड़ से ज्यादा गरीबों को 5 किलो गेहूं या 5 किलो चावल मुफ्त दिया जाएगा।

पीएम नरेंद्र मोदी(Narendra Modi)ने आज एक हाई लेवल की मीटिंग की है।

इस बैठक में कोरोनावायरस (Coronavirus) के वैक्सीन (Vaccine) की तैयारियों के बारे में जानकारी ली।

पीएम ने यह जानना चाहा कि इस महामारी की वैक्सीन कब तक बाजार में आ जाएगी।

 

चलिए अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम दिए गए संबोधन की प्रमुख बातें बताते है:

PM Modi speech to nation highlights:

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में सबसे पहले कहा कि हम अब अनलॉक-2 (Unlock 2) में प्रवेश कर रहे है लेकिन कोरोना का प्रकोप जारी है।

हम लॉकडाउन में नियमों को लेकर जितना सतर्क थे लेकिन अनलॉक (Unlock) भारत में अब उतनी लापरवाही बढ़ती जा रही है जोकि बिल्कुल भी ठीक नहीं है।

हमें खुद भी सतर्क रहना होगा और अपने आसपास सभी को सतर्कता बरतने के लिए कहना होगा।

 -हम उस मौसम में भी प्रवेश कर रहे हैं, जहां सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार होते हैं। ऐसे में आपसे प्रार्थना है कि आप सभी अपना ध्यान रखें।

 – पीएम ने कहा कि त्योहारों का मौसम आ रहा है, जरूरतें और खर्चें बढ़ेंगे, ऐसे में सरकार ने फैसला किया है कि पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार होगा।

-80 करोड़ से ज्यादा भाइयों-बहनों को मुफ्त अनाज देने की योजना आगामी पांच महीनों तक जारी रहेगी। 80 करोड़ से अधिक लोगों को मुफ्त अनाज जुलाई, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर, नवंबर तक दिया जाएगा।

-मुफ्त राशन योजना में प्रत्येक परिवार को 1 किलों चना, 5 किलो गेहूं या 5 किलो चावल मुफ्त दिया जाएगा।

 -अनेक देशों की तुलना में कोरोना मृत्यु दर भारत में संभली स्थिति में है।समय पर लिए फैसलों ने लाखों लोगों के जीवन को बचाया। लेकिन हम यह भी देख रहे हैं कि जब से देश में अनलॉक हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक लापरवाही बढ़ती जा रही है।

पहले हम मास्क और सामाजिक दूरी, हाथ धोने को लेकर सतर्क थे लेकिन आज जब हमें ज्यादा सतर्कता की जरूरत है तो लापरवाही बढ़ना बहुत ही चिंता का कारण है।

 -पीएम ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था। अब सभी संस्थाओं और देश के नागरिकों को उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है।

विशेषकर कंटेनमेंट जोन पर हमें विशेष ध्यान देना होगा। जो लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं, उन्हें हमें रोकना, टोकना और समझाना भी होगा।

 -मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान केन्द्र व राज्य सरकार, सिविल सोसायटी के सदस्यों आदि ने पूरा प्रयास किया कि कोई गरीब भूखा न रहे। देश हो या इंसान, समय पर फैसला लेने से संकट का मुकाबला करने की पावर कई गुना बढ़ जाती है।

इसीलिए सरकार लॉकडाउन की शुरुआत में ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना लाई। इसमें पौने दो लाख का पैकेज घोषित हुआ।

-9 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में 18000 करोड़ रुपये डाले गए। 20 करोड़ से अधिक महिला जनधन अकाउंट होल्डर्स के अकाउंट में पैसे डाले गए।

-अमेरिका की कुल जनसंख्या से ढाई गुना अधिक लोगों को, ब्रिटेन की जनसंख्या से 12 गुना से अधिक लोगों को, यूरोपीय यूनियन की आबादी से दोगुने लोगों को हमारी सरकार ने मुफ्त अनाज दिया है।

 -जुलाई से धीरे-धीरे त्योहारों का माहौल बनने लगता है। 5 जुलाई को गुरु पूर्णिमा है, सावन शुरू हो रहा है, फिर 15 अगस्त, रक्षाबंधन, जन्माष्टमी, बिहू, दशहरा, दीपावली, छठी मैया की पूजा है।

त्योहारों का ये समय जरूरतें भी बढ़ाता है और खर्च भी बढ़ाता है। इसे ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दिवाली और छठ पूजा तक यानी नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाएगा।

यानी 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना जुलाई, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर, नवंबर में भी लागू रहेगी। इस योजना के तहत गरीबों के लिए पौने 2 लाख करोड़ रुपये का पैकेज दिया गया।

-ये 130 करोड़ देशवासियों के जीवन की रक्षा करने का अभियान है। भारत में गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है।

-गांवों में श्रमिकों को रोजगार देने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान तेज गति से शुरू कर दिया गया। इस पर सरकार 50 हजार करोड़ रुपये खर्च कर रही है।

-अब पूरे भारत के लिए एक राशन कार्ड की व्यवस्था हो रही है। यानी वन नेशन, वन राशन कार्ड। इसका सबसे बड़ा लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा जो रोजगार या दूसरे काम के लिए अपना गांव छोड़कर दूसरे राज्य या कहीं और जाते है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज गरीब को, ज़रूरतमंद को, सरकार अगर मुफ्त अनाज दे पा रही है तो इसका श्रेय प्रमुख रूप से दो वर्गों को जाता है। पहला– हमारे देश के मेहनती किसान, हमारे अन्नदाता।

दूसरा- हमारे देश के ईमानदार टैक्सपेयर. पीएम मोदी ने कहा, ”आपने ईमानदारी से टैक्स भरा है, अपना दायित्व निभाया है, इसलिए आज देश का गरीब, इतने बड़े संकट से मुकाबला कर पा रहा है. मैं आज हर गरीब के साथ ही, देश के हर किसान, हर टैक्सपेयर का हृदय से बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं, उन्हें नमन करता हूं”

 -साथियो, हम सारी एहतियात बरतते हुए आर्थिक गतिविधि को और आगे बढ़ाएंगे। हम आत्मनिर्भर भारत के लिए दिन-रात एक करेंगे। हम सब लोकल के लिए वोकल होंगे।

-मैं फिर आप सबसे प्रार्थना करता हूं, आप सभी स्वस्थ रहिए, दो गज की दूरी का पालन करते रहिए। गमछा, फेस कवर, मास्क का हमेशा उपयोग करिए। कोई लापरवाही मत बरतिए। धन्यवाद।

 

PM Modi speech to nation highlights

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + thirteen =

Back to top button