breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबिजनेसबिजनेस न्यूज
Trending

अब प्राइवेट सेक्टर के कर्मियों की भी बढ़ेगी सैलरी-जानें कितना होगा Salary increment

कोरोना की दूसरी लहर देश में सूनामी की तरह आई थी,लेकिन इसके बावजूद भी वित्तीय वर्ष 2021-22 के शुरुआत में भारतीय प्राइवेट कंपनियों ने अपना बेहतरीन जुझारू प्रदर्शन किया है।इस बात का खुलासा एक सर्वे में हुआ है।

Salary-hike-in-private-sector-know-Salary-increment

नई दिल्ली:सरकारी कर्मचारियों की सैलरी तो केंद्र और राज्य सरकार बढ़ी ही देती है लेकिन अब प्राइवेट सेक्टर के कर्मचारियों को भी वेतन वृद्धि(Salary-hike)मिल सकती है।

वैसे कई भारतीय ऑर्गेनाइजेशन्स(Indian-Organisations)ने अपने कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी कर भी दी है, लेकिन अभी भी बहुत से सेक्टर है जहां इजाफा होना शेष है।

दरअसल, कोरोना की दूसरी लहर(Corona second wave)देश में सूनामी की तरह आई थी,

लेकिन इसके बावजूद भी वित्तीय वर्ष 2021-22 के शुरुआत में भारतीय प्राइवेट कंपनियों ने अपना बेहतरीन जुझारू प्रदर्शन किया है। इस बात का खुलासा एक सर्वे में हुआ है।

Bank holidays September:सितंबर में कितने दिन बैंकों में रहेंगी छुट्टियां,देखें ये लिस्ट

सर्वे में कहा गया है कि कोरोना की महामारी(Coronavirus)के बावजूद भी इस वर्ष कंपनियां अपने कर्मचारियों के वेतन में औसतन 8.8 प्रतिशत की बढ़ोतरी(Salary-hike-in-private-sector-know-Salary-increment)करेंगी।

इतना ही नहीं,अगले वर्ष अर्थात 2022 में सैलरी वृद्धि 9.4 प्रतिशत तक रहेगी।

मंगलवार को जारी हुए एऑन के 26वें वार्षिक वेतन वृद्धि सर्वे के मुताबिक, 2022 को लेकर ज्यादातर कंपनियां आशान्वित हैं।

बिना UAN login के अपने PF का बैलेंस चेक कर,ऐसे निकालें सारा पैसा

अगले साल 98.9 प्रतिशत कंपनियां अपने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी(Salary-hike-in-private-sector)करेंगी।

वहीं 2021 में 97.5 प्रतिशत कंपनियों ने कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने की बात कही(Salary-hike-in-private-sector-know-Salary-increment) है।

इस सर्वे में कहा गया है कि विभिन्न क्षेत्रों की धारणा सकारात्मक है और भारतीय कंपनियां पुनरुद्धार की राह पर हैं।

सिलिंडर के दाम 10-20 रुपये नहीं पूरे 73 रुपये हुई महंगे, जाने नयें दाम

ज्यादातर कंपनियों का मानना है कि 2021-22 में वेतन वृद्धि 2018-19 के स्तर पर पहुंच जाएगी।

एऑन के मानव पूंजी कारोबार में भागीदार रूपंक चौधरी ने कहा, ‘‘यह वित्तीय सेहत और अर्थव्यवस्था में तेजी का मजबूत संकेत है।

स्पष्ट रूप से चीजें बेहतर हो रही हैं। वर्ष 2020 में वेतन वृद्धि 6.1 प्रतिशत रही थी।

वर्ष 2021 में इसके 8.8 प्रतिशत तथा 2022 में 9.4 प्रतिशत पर पहुंचने की उम्मीद है। यह 2018 और 2019 के महामारी-पूर्व के स्तर के बराबर होगा।”

सर्वे में कहा गया है कि महामारी की वजह से कंपनियों की डिजिटल यात्रा तेज हुई है और इससे लघु अवधि में डिजिटल प्रतिभाओं के लिए ‘जंग’ छिड़ी है।

1 अगस्त से बदल गए ये नियम,ATM कैश,IPPB महंगा,हॉलिडे में सैलरी-पेंशन,जानें यहां

इससे वेतन बजट बढ़ रहा है और साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी बदलने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है।

चौधरी ने कहा कि कंपनियों को अपनी प्रतिभा रणनीति को नए सिरे से परिभाषित करना होगा जिससे वे इस ‘जंग’ में टिकी रह सकेंगी।

उन्होंने कहा कि परंपरागत और गैर-परंपरागत क्षेत्रों की भारतीय कंपनियां डिजिटल क्षमताओं में निवेश कर रही हैं ताकि वे वृद्धि की रफ्तार को कायम रख सकें।

Salary-hike-in-private-sector-know-Salary-increment

Watch This:

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + fourteen =

Back to top button