breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

Amarnath Yatra: 30 जून से शुरु होगी अमरनाथ यात्रा, 43 दिनों तक चलेगी

आपको बता दें कि वर्ष 2019 में अमरनाथ यात्रा(Amarnath-Yatra)बीच में ही रद्द करनी पड़ी थी। चूंकि तब केंद्र सरकार ने यात्रा के बीच में ही जम्मू-कश्मीर(Jammu-Kashmir)से विशेष राज्य का दर्जा छिन्न लिया था और वहां से धारा 370 हटा दी थी।

श्रीनगर:Amarnath-Yatra-to-be-start-30-June:कोरोना के कारण बीते दो वर्षों से प्रतीकात्मक रूप में निकाली जा रही अमरनाथ यात्रा इस वर्ष 30 जून से शुरू होने जा रही है,जोकि 43 दिनों तक चलेगी।

एक लंबे इंतजार के बाद अब भक्त भोले शंकर के धाम अमरनाथ यात्रा पर 30 से जा(Amarnath-Yatra-to-be-start-30-June)सकेंगे।

जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल ने अमरनाथ यात्रा की शुरूआत को लेकर ट्वीट किया।

अमरनाथ यात्रा के कार्यक्रम को तय करने का निर्णय उप राज्यपाल मनोज सिन्हा की अध्यक्षता में हुई श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड की बैठक में लिया गया।

Online अमरनाथ यात्रा सिर्फ 1100 रुपये में, लाइव दर्शन-पूजा-प्रसाद सब कुछ

आपको बता दें कि वर्ष 2019 में अमरनाथ यात्रा(Amarnath-Yatra)बीच में ही रद्द करनी पड़ी थी।
चूंकि तब केंद्र सरकार ने यात्रा के बीच में ही जम्मू-कश्मीर(Jammu-Kashmir)से विशेष राज्य का दर्जा छिन्न लिया था और वहां से धारा 370 हटा दी थी।
तब जम्मू-कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया गया था।
फिर इसके बाद, COVID-19 महामारी के कारण पिछले दो वर्षों में केवल एक प्रतीकात्मक यात्रा निकाली गई।

राज्यपाल सिन्हा के कार्यालय ने ट्वीट किया- “आज श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड की बैठक हुई।

43 दिवसीय पवित्र तीर्थयात्रा 30 जून को सभी कोविड प्रोटोकॉल के साथ शुरू होगी और रक्षा बंधन के दिन परंपरा के अनुसार समाप्त होगी। हमने आगामी यात्रा को लेकर विभिन्न मुद्दों पर गहन चर्चा की।“

Jammu-Kashmir: थम नहीं रहा गैर कश्मीरियों का खून बहाने का सिलसिला,आतंकियों ने की दो और बिहारी मजदूरों की हत्या

 

 

Amarnath-Yatra-to-be-start-30-June

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button