breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

2-18 साल तक के बच्चों के लिए भारत बायोटेक की कोवैक्सीन की सिफारिश

विश्व में बच्चों के लिए कोविड वैक्सीन(COVID Vaccine Pfizer) सबसे पहले अमेरिकी कंपनी फाइजर ने तैयार की थी। अमेरिकी हेल्थ एजेंसी फूड एंड ड्रग रेगुलेटर की मंजूरी के बाद इसका इस्तेमाल भी शुरू हो चुका है।

Bharat-Biotech’s-Covaxin-for-children-aged-2-18-years-recommended

नई दिल्ली:बच्चों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए वैक्सीन(Vaccine)लगाने की मुहिम में अब जल्द ही बच्चे भी शामिल हो जाएंगे।

देश में टीकाकरण(Vaccination)से जुड़ी सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी(subject-expert-committee)ने भारत बायोटेक की कोवैक्सीन (Covaxin for Children) की सिफारिश 2 से 18 साल के बच्चों के लिए की(Bharat-Biotech’s-Covaxin-for-children-aged-2-18-years-recommended) है।

अब डीसीजीआई की अंतिम मंजूरी का इंतजार है।

देसी फार्मा कंपनी भारत बायोटेक (Bharat Biotech) ने  कोवैक्सीन को तैयार किया है। यह हैदराबाद में स्थित है।

Alert! Corona की दूसरी लहर नहीं हुई खत्म,त्योहारों में बरतें सावधानी-स्वास्थ्य मंत्रालय

अब कंपनी बीते काफी वक्त से बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन का ट्रायल (Corona Vaccine Trial Children)कर रही है।

इसके साथ ही जाइडस कैडिला सहित अन्य कंपनियां भी बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन का परीक्षण कर रही है।

Covishield टीके की दूसरी डोज 4 हफ्ते बाद लेने की अनुमति दे केंद्र : केरल HC

कोवैक्सीन को सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी की मंजूरी के बाद अब दवा नियामक(DCGI) अंतिम रूप से इस पर फैसला लेगा।

एक्सपर्ट कमेटी वैक्सीन के ट्रायल के निष्कर्षों का वैज्ञानिक परीक्षण करती है। वो तमाम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मानकों के आधार पर इसकी सिफारिश करती है।

Bharat-Biotech’s-Covaxin-for-children-aged-2-18-years-recommended

दवा नियामक अगर इस पर मुहर लगा देता है तो कोवैक्सीन को आपात इस्तेमाल के तहत मंजूरी मिल जाएगी और देश में बच्चों के टीकाकरण की राह खुल जाएगी।

अनलॉक होते ही आप भी बाहर घूमने जा रहे है या बच्चों को भेज रहे है पार्क,रखें इन बातों का ध्यान

भारत में स्कूलों को पूरी तरह खोलने के लिए बच्चों का टीकाकरण कार्यक्रम शुरू करने की मांग काफी तेज हो गई है।

देश में वैक्सीनेशन की कुल संख्या धीरे-धीरे 100 करोड़ के करीब पहुंचने के साथ ही इसके संकेत भी मिलने लगे हैं।

कोरोना की तीसरी लहर(Corona third Wave) में बच्चों के ज्यादा प्रभावित होने की आशंका को देखते हुए भी उनके वैक्सीनेशन की मांग हो रही है।

एम्स प्रमुख डॉ. रणदीप गुलेरिया पहले ही कह चुके हैं कि सितंबर अंत तक या अक्टूबर में बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन लांच की जा सकती है।

देश को COVID-19 वैक्सीन के 216 करोड़ डोज अगस्त से दिसंबर तक होंगे उपलब्ध:सरकार

गुलेरिया ने कहा कि बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए महत्वपूर्ण है. जाइडस कैडिला भी भारत में बच्चों के लिए वैक्सीन का ट्रायल कर रही है।

Bharat-Biotech’s-Covaxin-for-children-aged-2-18-years-recommended

विश्व में बच्चों के लिए कोविड वैक्सीन(COVID Vaccine Pfizer) सबसे पहले अमेरिकी कंपनी फाइजर ने तैयार की थी।

अमेरिकी हेल्थ एजेंसी फूड एंड ड्रग रेगुलेटर की मंजूरी के बाद इसका इस्तेमाल भी शुरू हो चुका है।

अमेरिका, ब्रिटेन समेत कुछ देश 16 साल से अधिक उम्र के बच्चों का वैक्सीनेशन कर रहे हैं।

 

Bharat-Biotech’s-Covaxin-for-children-aged-2-18-years-recommended

 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 5 =

Back to top button