breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशराज्यों की खबरें
Trending

Lakhimpur Kheri:मृत किसानों के लिए ‘आज किसान शहीद दिवस’,अंतिम अरदास में प्रियंका गांधी भी होंगी शामिल

आपको बता दें कि रविवार,3अक्टूबर को भाजपा नेताओं के लखीमपुर दौरे का विरोध कर रहे किसानों को गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा(Ashish Mishra) ने किसानों को अपनी कार से रौंद दिया था,जिसमें 4 किसानों की मौत हो गई थी और उसके बाद की हिंसा में चार अन्य लोग भी मारे गए थे। 

Lakhimpur-Kheri-Violence-‘Shaheed-Kisan-Diwas’Today-for-the-dead farmers

लखनऊ:लखीमपुर खीरी हिंसा(Lakhimpur-Kheri-Violence)में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि देने के लिए संयुक्त किसान मोर्चा के आव्हान पर आज,मंगलवार 12 अक्टूबर को ‘शहीद किसान दिवस'(‘Shaheed-Kisan-Diwas’Today)मनाया जा रहा है।

लखीमपुर खीरी के तिकोनिया गांव में मृत किसानों को अंतिम अरदास देने के लिए बहु संख्या में आज किसान जुट रहे(Lakhimpur-Kheri-Violence-‘Shaheed-Kisan-Diwas’Today-for-the-dead farmers)है। 

खबर है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी अंतिम अरदास में शामिल होने के लिए लखीमपुर खीरी जा रही(Priyanka-Gandhi-to-be-attend-Antim Ardas) है।

हालांकि ताजा अपडेट के अनुसार फिलहाल यूपी पुलिस(UP Police)ने उन्हें रास्ते में रोका हुआ है।

यह दूसरी बार होगा जब प्रियंका गांधी(Priyanka Gandhi) एक सप्ताह के भीतर ही दूसरी बार लखीमपुर खीरी(Lakhimpur kheri)का दौरा कर रही है।

Lakhimpur Kheri case:आखिरकार ‘मंत्री का बेटा’ आशीष मिश्रा पुलिस पूछताछ में हुआ शामिल,समर्थकों की भीड़ जुटी

आपको बता दें कि रविवार,3अक्टूबर को भाजपा नेताओं के लखीमपुर दौरे का विरोध कर रहे किसानों को गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा(Ashish Mishra) ने किसानों को अपनी कार से रौंद दिया था,जिसमें 4 किसानों की मौत हो गई थी और उसके बाद की हिंसा में चार अन्य लोग भी मारे गए थे। 

आशीष मिश्रा को सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court)के दखल के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है और आज से यूपी एसआईटी ने उन्हें तीन दिन की रिमांड पर लिया है।

लखीमपुर हिंसा के अगले ही दिन  प्रियंका गांधी वहां रवाना हुई थीं, लेकिन उन्हें सीतापुर के हरगांव में हिरासत में ले लिया गया(Priyanka Gandhi arrested in Sitapur) था।

गौरतलब है कि संयुक्त किसान मोर्चा (Sanyukt Kisan Morcha) ने बीते हफ्ते एलान किया था कि 12 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी के तिकोनिया गांव में यह अंतिम अरदास आयोजित की जाएगी।

महाराष्ट्र बंद : लखीमपुर हिंसा के विरोध में सत्ता पक्ष के बंद का व्यापक असर

Lakhimpur-Kheri-Violence-‘Shaheed-Kisan-Diwas’Today-for-the-dead farmers

पुलिस ने इस कार्यक्रम को देखते हुए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं।

उत्तर प्रदेश पुलिस के कर्मियों की छुट्टी पहले ही 18 अक्टूबर तक रद्द कर दी गई हैं।

मंगलवार को भी लखनऊ-सीतापुर-लखीमपुर हाईवे पर भारी बैरीकेडिंग और पुलिसकर्मी तैनात दिखे। तिकोनिया गांव में भी काफी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है।

3 अक्टूबर को किसानों को कुचले जाने की घटना में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) को आरोपी बनाया गया है।

आशीष मिश्रा को गिरफ्तार भी किया जा चुका है। तमाम किसान संगठनों(Farmers Union) के नेता इस अंतिम अरदास में शामिल होने वाले हैं।

आसपास के जिलों के लोगों के भी कार्यक्रम में शामिल होने की संभावना है। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) एक दिन पहले ही तिकुनिया पहुंच गए हैं।

Lakhimpur-Kheri-Violence-‘Shaheed-Kisan-Diwas’Today-for-the-dead farmers

लखीमपुर खीरी के आसपास हाईवे पर ऐसे तमाम बैनर भी दिखे हैं, जिसमें कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के लखीमपुर खीरी आने का विरोध किया गया है।

हालांकि जब बीकेयू-टिकैत गुट के जिला उपाध्यक्ष बलकार सिंह से पूछा गया कि क्या राजनेता इस प्रार्थना सभा में  शामिल हो सकते हैं तो उन्होंने कहा कि किसी भी नेता को संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं के साथ मंच साझा नहीं करने दिया जाएगा।

संयुक्त किसान मोर्चा के तहत करीब 40 किसान संगठन हैं, जो केंद्र के कृषि कानूनों(Farm laws) के खिलाफ करीब एक साल से आंदोलन कर रहे हैं।

 

 

Lakhimpur-Kheri-Violence-‘Shaheed-Kisan-Diwas’Today-for-the-dead farmers

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − 7 =

Back to top button