breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

किसानों के समर्थन में ट्वीट पर दिल्ली पुलिस ने ग्रेटा थनबर्ग पर दर्ज की FIR,बोली-अब भी किसानों के साथ

पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन की दिशा में काम करने वाली ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) एक अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता है,जिनके पर्यावरण आंदोलन को इंटरनेशनल ख्याति मिली है...

Greta Thunberg  tweeted in support farmers protest delhi police files FIR

नई दिल्ली:ग्रेटा थनबर्ग(GretaThunberg)ने किसानो आंदोलन (Farmers Protest) के समर्थन में ट्वीट किया तो दिल्ली पुलिस ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली (delhi police files FIR against Greta Thunberg)है।

अब आप जानना चाहते होंग कि ग्रेटा थनबर्ग आखिर है कौन?

दरअसल,पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन की दिशा में काम करने वाली ग्रेटा थनबर्ग (GretaThunberg) एक अंतर्राष्ट्रीय पर्यावरण कार्यकर्ता है,जिनके पर्यावरण आंदोलन को इंटरनेशनल ख्याति मिली है।

स्वीडन मूल की इस किशोरी के आंदोलनों के कारण ही विश्व के नेता अब जलवायु परिवर्तन पर काम करने को विवश हुए है।

ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट करके भारत के किसान आंदोलन(Farmers Protest) को समर्थन दिया है। तो देश की मशहूर हस्तियों ने सरकार के समर्थन में ट्वीट किया और इसे साजिश करार दिया।

स्‍वीडिश मूल की ग्रेटा थनबर्ग के खिलाफ दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने सेक्शन 153A और 120B के तहत यह केस दर्ज किया है।

लेकिन, दिल्‍ली पुलिस की ओर से FIR दर्ज किए जाने के बाद भी ग्रेटा थनबर्ग किसानों का समर्थन करने से पीछे नहीं हटी और उन्होंने फिर से नया ट्वीट करके कहा कि-

‘मैं अभी भी किसानों के समर्थन में खड़ी हूं और उनके शांतिपूर्ण आंदोलन को समर्थन करती हूं। नफरत, धमकी या मानवाधिकारों का उल्‍लंघन इसे बदल नहीं सकेगा #FarmersProtest..’

ग्रेटा थनबर्ग ने ट्वीट करके क्या कहा था?-Greta Thunberg tweeted in support farmers protest delhi police files FIR

गौरतलब है कि ग्रेटा थनबर्ग ने केन्द्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ किसानों के प्रदर्शनों के प्रति समर्थन व्यक्त किया था।

उन्‍होंने ट्वीट किया था, ‘हम भारत में किसानों के आंदोलन(Kisan Andolan) के प्रति एकजुट हैं।’

 इस पर भारत सरकार की ओर से कड़ी प्रतिक्रिया दी गई थी।

दिल्‍ली से बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने देश के आंतरिक मामलों में दखल के लिए ग्रेटा को आड़े हाथ लिया है।

मीनाक्षी लेखी ने कहा कि ग्रेटा के ट्वीट से जिस साजिश का हमें हमेशा अंदेशा था, उसका सबूत अब सामने आ गया है कि किस तरह से साजिश चल रही है।

उन्होंने कहा, ‘ग्रेटा थनबर्ग एक बच्ची है अगर मेरे हाथ में होता तो मैं उसे बाल पुरस्कार देती। उसका नाम नोबेल प्राइज से हटा देती।’

उन्होंने कहा, ‘नोबेल प्राइज वातावरण की सुरक्षा के लिए अच्छे कामों के लिए दिया जाता है लेकिन यहां तो जो लोग पराली जलाते हैं, वातावरण को प्रदूषित करते हैं।

पानी का दुरुपयोग करते हैं। ग्रेटा थनबर्ग उनके साथ खड़ी हो गई है। यह दोहरा चेहरा इस पूरे कार्यक्रम का अब सामने आ गया है।’

 

Greta Thunberg tweeted in support farmers protest delhi police files FIR

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 1 =

Back to top button