breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेश
Trending

Breaking: उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद में कर्फ्यू, पुलिस की लोगों से अपील घरों से न निकलें

नई दिल्ली: Delhi violence-Curfew in Jafrabad north-east Delhiउत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा की भयानक वारदातों को देखते हुए सबसे ज्यादा संवेदनशील इलाके जााफराबाद में दिल्ली पुलिस ने कर्फ्यू लगा दिया (Delhi violence-Curfew in Jafrabad north-east Delhi) है। मुनादी करकेलोगों से अपील की जा रही है कि घरों से बाहर न निकलें। कर्फ्यू में घरों से बाहर निकले के लिए पास लेना होता है।

सुप्रीम कोर्ट ने आज दिल्ली पुलिस में प्रोफेशनलिज्म की कमी का हवाला दिया है। उसके बाद दिल्ली पुलिस दिल्ली दंगों में अब थोड़ा एक्शन करती दिख रही (Delhi violence-Curfew in Jafrabad north-east Delhi) है। वर्ना रविवार रात से  शुरू हुई मंगलवार रात तक चली  दिल्ली  हिंसा (Delhi violence) मे्ं दिल्ली पुलिस की उदासीनता पर सवाल उठ रहे है।

delhi-caa-violence 5-killed 65-injured

तीन दिनो्ं की लगातार हिंसा के बाद हालात आज थोड़े से काबू मे्ं दिख रहे है। प्रभावित इलाकों में सुरक्षा बलों की भारी तादादी की गई है।

एनएसए  (NSA) चीफ अजित डोभाल ने भी उत्तर-पूर्वी दिल्ली की हिंसा का जायजा लिया।

दिल्ली हिंसा (Delhi violence) मे्ं उपद्रवियों का मौत का तांडव इतना रहा  है कि लोगों के घर, दुकानें, वाहन जला दिए गए है। 21 से ज्यादा मौतें हो चुकी है और घायलों की संख्या भी 189 से ज्यादा हो गई है। यह केवल जीटीबी अस्पताल का आंकड़ा है।

https://twitter.com/rohini_mohan/status/1232493220325511169?s=20
Curfew in Jafrabad north-east Delhi

दिल्ली हिंसा में जानें कब-क्या हुआ?

Delhi: violence between anti-CAA supporters-नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) से संबंधित प्रदर्शनों ने सोमवार को पूर्वोत्तर दिल्ली के मौजपुर और फफराबाद (जिसे जाफराबाद भी कहा जाता है) के इलाकों में हिंसक रूप ले लिया क्योंकि नागरिकता कानून के समर्थक और सीएए विरोधी एक दूसरे के साथ लगातार दूसरे दिन भिड़ (Delhi: violence between anti-CAA supporters) गए।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने पूर्वोत्तर दिल्ली के हिंसा ग्रस्त इलाकों के सभी सरकारी,प्राइवेट स्कूल बंद रखने की बात कही है और केंद्रीय एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल से इन हिंसा प्रभावित इलाकों में बोर्ड की परीक्षाओं को स्थगित की बात भी कही है।

दिल्ली पुलिस के एक हेड कांस्टेबल रतन लाल के सिर में चोट लगने के बाद पत्थरबाजी में मौत हो गई, जबकि झड़प के दौरान पुलिस उपायुक्त (डीसीपी), शाहदरा, अमित शर्मा सहित कई पुलिस कर्मी घायल हो गए।

गोली लगने से एक नागरिक मोहम्मद फुकरान की भी मौत होने की खबर (one police constable and a man died) है। झड़पों में घायल हुए प्रदर्शनकारियों की संख्या  फिलहाल अज्ञात है।

जाफराबाद और मौजपुर इलाकों में कई घरों और वाहनों को आग लगाकर प्रदर्शनकारियों के साथ क्षेत्र में तनाव बढ़ गया। चांद बाग और आसपास के इलाकों से भी हिंसा की सूचना मिली (Delhi: violence between anti-CAA supporters) थी।  

दिल्ली के जाफराबाद हिंसा पर गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी का भी बयान आया है। गृह राज्यमंत्री ने कहा है कि दिल्ली में ट्रंप के आगमन पर हिंसा भारत की छवि को खराब करने की कोशिश है। सरकार इससे सख्ती से निपटेगी।

 

अरविंद केजरीवाल ने गृहमंत्री अमित शाह से की अपील

सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के विरोध और समर्थन के दौरान उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कुछ हिस्सों में हिंसा के मद्देनजर कानून-व्यवस्था बहाल करने का अनुरोध किया है।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘दिल्ली के कुछ हिस्सों में शांति-व्यवस्था में गड़बड़ी की बहुत परेशान करने वाली खबरें आ रही हैं।

मैं माननीय उपराज्यपाल और केंद्रीय गृह मंत्री से शांति और सौहार्द सुनिश्चित करते हुए कानून-व्यवस्था बहाल किए जाने का अनुरोध करता हूं। किसी को भी माहौल खराब करने की अनुमति नहीं मिलनी चाहिए।’

पिंक लाइन पर पांच मेट्रो स्टेशन बंद-5 metro station gates closes

सीएए के विरोधियों और समर्थकों के मध्य हुई हिंसक झड़प के कारण पिंक लाइन मेट्रो पर पांच स्टेशन बंद कर दिए गए है।

दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) ने ट्वीट किया  है कि, ‘जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकलपुरी, जौहरी एंक्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिये गए हैं।

मेट्रो की ट्रेनें वेलकम मेट्रो स्टेशन तक ही जाएंगी।’

 

राहुल गांधी ने की है हिंसा की निंदा

राहुल गांधी ने ट्वीट किया है कि, ‘दिल्ली में आज की हिंसा परेशान करने वाली है और इसकी निंदा की जानी चाहिए।

शांतिपूर्ण विरोध स्वस्थ लोकतंत्र का प्रतीक है, लेकिन हिंसा को कभी भी उचित नहीं ठहराया जा सकता।

मैं दिल्ली के नागरिकों से अनुरोध करता हूं कि वे उकसावे में नहीं आएं और संयम, करुणा और समझ दिखाएं।’

 

कैसे शुरू हुई हिंसा?Delhi violence-Curfew in Jafrabad, north-east Delhi

सोमवार को, दो समूहों के बीच झड़पें हुईं: एक सीएए (CAA) के पक्ष में विरोध कर रहा था, जबकि दूसरा इसका विरोध कर रहा था।

Delhi-violencebetweenanti-CAAsupporters-1_optimized

दिल्ली के पूर्वोत्तर जिले के मौजपुर इलाके में सुबह 10 बजे के आसपास झड़पें शुरू हुईं, जहां दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर पथराव शुरू कर दिया।

जल्द ही, हिंसा बढ़ गई और लोग मौजपुर को जाफराबाद से जोड़ने वाली सड़क पर निकल आए। दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) का एक लंबा हिस्सा इस सड़क के साथ चलता है।

 यह इलाका तब तनाव की चपेट में आ गया जब नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) का विरोध कर रहे लोगों के एक बड़े समूह ने एक सड़क को अवरुद्ध कर दिया।

पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे क्योंकि दोनों समूहों के सदस्यों ने मौजपुर में एक दूसरे पर पथराव किया।

सुरक्षा कारणों से, मौजपुर-बाबरपुर मेट्रो स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए थे।

आज सुबह एक एहतियाती कदम उठाते हुए, दिल्ली मेट्रो ने एक ट्वीट में कहा कि जाफराबाद और मौजपुर-बाबरपुर स्टेशनों पर प्रवेश और निकास द्वार बंद रहेंगे और ट्रेनें इन स्टेशनों पर नहीं रुकेंगी।

 

Delhi violence-Curfew in Jafrabad, north-east Delhi

 

 

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 − 14 =

Back to top button