breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

India 75th Independence Day:पीएम मोदी ने राष्ट्रीय ध्वज फहरा देश को संबोधित किया,जानें भाषण की प्रमुख बातें

पीएम मोदी ने कहा क अमृतकाल की आज पहली 20-22 साल के नौजवानों जब देश आजादी के 100 साल मनाएंगा तो आप 40-50 साल के होंगे। आपके ऊपर आजादी के संकल्पों को पूरा करने का भार है। संकल्प कीजिए। मेरा देश विकसित देश होगा। हम मानव सभ्यता को विकसित करेंगे। हम जानते है भारत जब बड़े संकल्प करता है तो करके दिखाता है।

India-75th-Independence-Day-2022-celebrating-PM-modi-independence-day-2022-speech-highlights

नई दिल्ली:आज,सोमवार 15 अगस्त 2022 को भारतवर्ष अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा(75th-Independence-day-2022-India-celebrating)है।

आजादी के 75वें(Independence Day)जश्न के उपलक्ष्य में केंद्र की ओर से आजादी का अमृतोत्सव और हर घर तिरंगा कार्यक्रम भी आयोजित किए गए है। 

आज सुबह 7.30 बजे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लाल किले की प्राचीर पर नौवीं बार राष्ट्रीय ध्वज फहराया और देश को संबोधित(PM-Modi-hoist-national flag-9th-time-at-Red-Fort)किया।

अपने भाषण में पीएम मोदी ने  महात्मा गांधी, बाबा साहेब अंबेडकर और वीर सावरकर को आजादी दिलाने का श्रेय दिया लेकिन देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को इसका श्रेय नहीं दिया।

हालांकि फिर आजादी के बाद के योगदान में उन्होंने नेहरू जी का जिक्र किया। चलिए बताते है देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी के भाषण की प्रमुख बातें।

 

लाल किले को बहुत खूबसूरती से दुल्हन की तरह सजाया गया।

75th Independence day-2022-India-celebrating-PM-Modi-hoist-national flag-9th-time-at-Red-Fort
आज देश मना रहा आजादी का 75वां जश्न

पीएम मोदी जब राष्ट्रीय स्मारक लाल किला पहुंचे तो उन्हें तीनों सेनाओं की ओर से गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

हर साल की तरह इस वर्ष भी स्वतंत्रता दिवस समारोह (Independence-day-2022)के जश्न में खलल डालने के लिए आतंकियों के मंसूबे भी तैयार है। इसलिए दिल्ली पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों की ओर से लाल किले की सुरक्षा चाक-चौबंद की गई है।

लाल किले के नजदीक 10,000 से अधिक कर्मियों को तैनात किया गया है, जहां से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित किया।

इतना ही नहीं, दिल्ली,मुंबई सहित देश के विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्री भी अपने-अपने राज्यों में तिरंगा फहराकर राष्ट्रीय ध्वज(Tiranga) को नमन(75th-Independence-day-2022-India-celebrating-PM-Modi-hoisted-Tiranga-at-Red-Fort)किया।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

75वें स्वतंत्रता दिवस 2022 पर प्रधानमंत्री मोदी के भाषण की प्रमुख बातें:

India-75th-Independence-Day-2022-celebrating-PM-modi-independence-day-2022-speech-highlights

 

-आजादी के 75वर्ष पूर्ण होने पर देशवासियों को अनेक अनेक शुभकामनाएं, बहुत बहुत बधाई। न सिर्फ हिंदुस्तान का हर एक कोना, बल्कि दुनिया के हर कोने में किसी न किसी रूप में भारतीयों के द्वारा या भारत के प्रति अपार प्रेम रखने वालो के द्वारा विश्व के हर कोने में हमारा तिरंगा आन बान शान के साथ रहरा रहा है। मैं विश्व भर में फैले हुए भारत प्रेमियों को आजादी के अमृत महोत्सव की बहुत बहुत बधाई देता हूं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

देश को खोखला कर रहा है भ्रष्टाचार

पीएम ने कहा कि हम भ्रष्टाचार के लिए एक निर्णायक दिशा में बढ़ रहे हैं। मैं लाल किले की प्राचीर से बड़ी जिम्मेदारी के साथ कह रहा हूं कि भ्रष्टाचार दीमक की तरह देश को खोखला कर रहा है। हमें इसके खिलाफ लड़ाई को तेज करना है। आप मुझे आशीर्वाद दें और साथ दें ताकि इस लड़ाई को मैं लड़ पाऊं। इस जंग को देश जीत पाए और सामान्य नागरिकों की जिंदगी आन, बान शान से भर जाए। इसलिए मेरे देशवासियों यह चिंता का विषय है कि देश में भ्रष्टाचार के प्रति नफरत तो दिखती है, लेकिन कभी-कभी भ्रष्टाचारियों के प्रति नरमी बरती जाती है।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

भ्रष्टाचार के मुद्दे पर बोले पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि किसी के पास रहने को जगह नहीं और किसी के पास चोरी का माल रखने की जगह नहीं है। बीते 8 सालों में डायरेक्ट  बेनेफिट ट्रांसफर करते हुए हमने 2 लाख करोड़ रुपये की बचत की है। यह रकम गलत हाथों में जाते थे। जो लोग पिछली सरकारों में बैंकों को लूटकर भाग गए, उनकी संपत्तियां जब्त की जा रही हैं। उन्हें वापस लाने के प्रयास हो रहे हैं। भ्रष्टाचार के खिलाफ निर्णायक कालखंड में हम कदम रख रहे हैं। 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

भ्रष्टाचार के खिलाफ पीएम मोदी ने कर दिया खुला ऐलान

लाल किले से देश को संबोधित कर रहे पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार के मुद्दे का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘जिन्होंने देश को लूटा है, उन्हें लौटाना पड़े ऐसी स्थिति हम पैदा करेंगे।’ उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग में देशवासियों का सहयोग मांगा है।

 

-पीएम मोदी ने कहा कि हमारी विरासत पर हमें गर्व होना चाहिए। जब हम अपनी धरती से जुड़ेंगे। तभी तो ऊंचा ऊंड़ेंगे। जब हम ऊंचा उड़ेंगे, तो हम विश्व को भी समाधान दे पाएंगे। 
पीएम मोदी ने किया मेड इन इंडिया तोप का जिक्र
पीएम ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत, यह हर नागरिक का, हर सरकार का, समाज की हर इकाई का दायित्व बन जाता है। यह सरकारी एजेंडा नहीं है। यह समाज का जन आंदोलन है, जिसे हमें आगे बढ़ाना है। आज जब यह आवाज हमने सुनी, जिसकी लिए कान तरस गए। उन्होंने कहा कि 75 साल के बाद लाल किले से ध्वज को सलामी देने का काम मेड इन इंडिया तोप ने किया है।
-पीएम मोदी ने कहा- आने वाले 25 साल के लिए हमें उन पंच प्रण को लेकर अपने संकल्पों,समार्थ्यों को संकल्पित करना होगा। आज का दिन ऐतिहासिक है। जब मैं पंच प्रण की बात करता हूं।हमें उन पंच प्रण को लेकर 2047 में जब आजादी के 100 साल होंगे तो आजादी के दीवानों के सपनों को पूरा करना होगा।

तो पहला प्रण अब देश बड़े संकल्प लेकर चलेगा। बड़ा संकल्प है विकसित भारत,दूसरा प्रण-किसी भी कोने में हमारे मन और आदतों के भीतर गुलामी का एक अंश अभी भी है। उसे किसी भी हालत में बचने नहीं देना।
अब शत-प्रतिशत सैंकड़ों साल की गुलामी ने हमारे मनोभाव को बांधकर रखा है। हमें गुलामी की छोटी सी छोटी हमारे भीतर नजर आती है। हमें उससे मुक्ति पानी होगी।यह दूसरी प्राण शक्ति है।
तीसरी प्राण शक्ति हमें हमारी विरासत पर गर्व होना चाहिए। चूंकि इसी विरासत ने हमें स्वर्णिम काल दिया था। इसलिए इस विरासत पर हमें गर्व होना चाहिए। चौथा प्राण है-एकता और एकजुटता।
130 करो़ड़ देश वासियों में एकजुटता। न कोई अपना और न पराया। चौथा प्राण है। पांचवा प्राण है-नागरिकों का कर्तव्य। जिसमें प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री भी शामिल है।
-मेरे प्यारे देशवासियों जब सपने औऱ संकल्प बड़े होते है तो पुरुषार्थ भी बड़ा होता है। कोई कल्पना कर सकता है कि देश चालीस,ब्यालीस साल पहले जब उठ खडा़ हुआ था। संकल्प बड़ा था आजादी तो इसलिए हम आजाद हो सकें। संकल्प बड़ा था इसलिए हमने हासिल किया।
-पीएम मोदी ने कहा क अमृतकाल की आज पहली 20-22 साल के नौजवानों जब देश आजादी के 100 साल मनाएंगा तो आप 40-50 साल के होंगे। आपके ऊपर आजादी के संकल्पों को पूरा करने का भार है। संकल्प कीजिए। मेरा देश विकसित देश होगा। हम मानव सभ्यता को विकसित करेंगे। हम जानते है भारत जब बड़े संकल्प करता है तो करके दिखाता है।

 

 

 

 

 

 

-पीएम मोदी ने कहा कि भारत की नारी का संकल्प क्या होता है। भारत की नारी त्याग की क्या पराकाष्ठा कर सकती है। उन वीरांगनाओं को याद करते हुए हर हिंदुस्तानी गर्व से भर जाता है। उन्होंने रानी लक्ष्मीबाई, दुर्गाभाभी, बेगर हजरत महल जैसी की वीरांगनाओं को याद किया।

-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संविधान के निर्माता बाबा साहब आंबेडकर, सुभाष चंद्र बोस समेत कई महापुरुषों को नमन किया। उन्होंने कहा कि आज महापुरुषों को याद करने का दिन है।
-पीएम मोदी ने कहा कि 75 साल की यह हमारी यात्रा अनेक उतार चढ़ाव से भरी हुई है। इसके बीच भी हमारे देशवासियों ने उपलब्धियां की हैं। हार नहीं मानी है। संकल्पों को ओझल नहीं होने दिया है। इसलिए यह भी सच्चाई है कि सैकड़ों सालों की गुलामी के कालखंडों को भारत के मन को भारत की भावनाओं को गहरे घावल दिए हैं, गहरी चोटें पहुंची हैं, लेकिन उसके भीतर एक जिद भी थी, एक जुनून भी था। और उसके कारण अभावों के बीच भी और जब आजादी का रण अंतिम चरण में था, तो देश को हताश करने के लिए सभी उपाय किए गए… न जानें क्या क्या आशंकाएं व्यक्त की गईं, लेकिन इन्हें पता नहीं था कि यह हिंदुस्तान की मिट्टी है।
-पीएम मोदी ने कहा कि हिंदुस्तान का कोई कोना, कोई काल ऐसा नहीं था, जब देशवासियों ने सैंकड़ों सालों तक गुलामी के खिलाफ जंग न की हो, जीवन न खपाया हो, यातनाएं न झेली हो, आहुति न दी हो। आज हम सब देशवासियों के लिए ऐसे हर महापुरुष को, हर त्यागी और बलिदानी को नमन करने का अवसर है।
-पीएम मोदी ने कहा, ‘देश कृतज्ञ है मंगल पांडे, तात्या टोपे, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, चंद्रशेखर आजाद, असफाक उल्ला खां, राम प्रसाद बिस्मिल ऐसे अनगिनत ऐसे हमारे क्रांति वीरों ने अंग्रेजों की हुकूमत की नींव हिला दी थी।’

India-75th-Independence-Day-2022-celebrating-PM-modi-independence-day-2022-speech-highlights

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button