breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीति
Trending

Punjab के मुख्यमंत्री पद से कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने दिया इस्तीफा,कहा-विकल्प खुले है

पंजाब मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह ने मीडिया से मुखातिब होकर कहा कि- 'पिछले दिनों से जो कुछ हो रहा था, उससे मैं बहुत अपमानित महसूस कर रहा हूं। उन्हें(पार्टी आलाकमान)को जिसपर भरोसा है,उसपर बना दें।

Captain-Amarinder-Singh-resigns-as-Chief-Minister-of-Punjab

नई दिल्ली:गुजरात के बाद अब पंजाब(Punjab)के मुख्यमंत्री ने भी इस्तीफा दे दिया है।कैप्टेन अमरिंदर सिंह(Captain-Amarinder-Singh) ने पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया(Captain-Amarinder-Singh-resigns-as-Chief-Minister-of-Punjab) है।

उन्होंने यह फैसला कांग्रेस की विधायक दल की बैठक से पहले ही ले लिया।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह(Amarinder Singh)आज शाम चाढ़े चार बजे पंजाब के गवर्नर बनवारी लाल से मिले और उन्हें अपना इस्तीफा(Captain-Amarinder-Singh-resigns-as-Chief-Minister-of-Punjab) सौंपा।

उन्होंने कहा कि तीन-तीन बार कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई।बीते दिनों से जो कुछ हुआ, मैं बहुत अपमानित महसूस कर रहा हूं।मैं अपने साथियों से सलाह-मशविरा करके आगे का विकल्प तय करुंगा।

गौरतलब है कि अमरिंदर सिंह पहले भी कांग्रेस छोड़कर अकाली दल में जा चुके है और फिर अकाली दल छोड़कर वापस कांग्रेस का हाथ थाम चुके है। इसलिए पार्टी छोड़ते है तो यह कोई आश्चर्य नहीं होगा।

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले अपने पद से इस्तीफा देने का फैसला लिया और शाम 4:35पर गवर्नर से मिलकर उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया।

पंजाब कांग्रेस के नए अध्यक्ष बनें नवजोत सिद्दू, CMअमरिंदर ने कहा-साथ काम करेंगे

पंजाब मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह ने मीडिया से मुखातिब होकर कहा कि- ‘पिछले दिनों से जो कुछ हो रहा था, उससे मैं बहुत अपमानित महसूस कर रहा हूं। उन्हें(पार्टी आलाकमान)को जिसपर भरोसा है,उसपर बना दें। जब उनसे पूछा गया कि क्या कांग्रेस पार्टी छोड़ेंगे,तो उन्होंने कहा कि फिलहाल कांग्रेस में ही हूं। अन्य विकल्प भी खुले है।’

दरअसल,पंजाब कांग्रेस में लंबे समय से सियासी घमासान चल रहा है।

पंजाब में नए कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बीच अनबन की खबरें आएं दिन मीडिया की सुर्खियां बनती रही है।

पंजाब विधानसभा चुनाव(Punjab Assembly Polls 2022)से पहले मुख्यमंत्री पद से कैप्टेन अमरिंदर सिंह का इस्तीफा देना,राज्य में कांग्रेस के लिए कितना घातक होने वाला है,यह तो आने वाला वक्त ही बताएंगा।

लंबे समय से पंजाब कांग्रेस के भीतरखाने नेतृत्व परिवर्तन की बात चल रही थी। कई विधायकों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।

सूत्रों के मुताबिक, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से कहा, “इस तरह का अपमान सहकर पार्टी में बने रहना मुश्किल होगा।”

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, आज शाम को पंजाब के सियासी घमासान पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में सभी विधायकों को शामिल रहने को कहा गया है।

इस बैठक के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) खुद को पंजाब कांग्रेस में अलग-थलग महसूस कर रहे हैं।

यह मीटिंग कैप्टन के लिए मुश्किल हो सकती है। उनके विरोधी लगातार नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहे हैं।

सूत्रों के अनुसार,पंजाब में अमरिंदर सिंह सरकार काफी लंबे समय से अच्छा-प्रदर्शन नहीं कर रही थी।

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह खुद कई मौकों पर पार्टी लाइन से अलग राय मोदी समर्थक नजर आ रहे थे।

पंजाब विधायकों ने बकायदा कई बार खुद उनके कामकाज के तरीकों पर उंगलियां उठाई थी। कैप्टेन पर आरोप यह भी है कि उन्होंने सत्ता में आने पर विपक्षी दल अकाली के खिलाफ कोई मामला नहीं चलाया

और न ही उन्होंने सही तरह से पंजाब में प्रशासन चलाया,जिसके चलते कांग्रेस पंजाब में अपनी जमीन खो सकती थी।

नतीजा,एक-एक करके पंजाब कांग्रेस के विधायक कैप्टेन अमरिंदर सिंह के खिलाफ होते गए और आज शाम को कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले ही अमरिंदर सिंह ने पंजाब मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे(Captain-Amarinder-Singh-resigns-as-Chief-Minister-of-Punjab) दिया।

नवजोत सिंह सिद्धू : जानियें क्रिकेट की पीच से पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष बनने तक का सफ़र

Captain-Amarinder-Singh-resigns-as-Chief-Minister-of-Punjab

पंजाब सरकार में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच और कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मोहम्मद मुस्तफा ने ट्वीट कर भीतरी घमासान की स्थिति साफ कर दी है और कहा है कि आज कांग्रेस के लिए अच्छा लीडर चुनने का मौका है।

मोहम्मद मुस्तफा ने ट्वीट कर लिखा, “2017 में पंजाब ने हमें 80 विधायक दिए थे, लेकिन यह दु:खद है कि कांग्रेस पार्टी एक अच्छा मुख्यमंत्री पंजाब को नहीं दे पाई. पंजाब के दुख और दर्द को समझते हुए साढ़े चार साल बाद अब समय आ गया है कि मुख्यमंत्री का चेहरा बदला जाए.”

आखिरकार सिद्धू बनाये गए पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष

Captain-Amarinder-Singh-resigns-as-Chief-Minister-of-Punjab

कांग्रेस आलाकमान को 48 नाराज विधायकों की चिट्ठी के बाद पार्टी ने आज शाम चंडीगढ़ में कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई है।

माना जा रहा है कि इसमें नेतृत्व परिवर्तन पर चर्चा हो सकती है।

सूत्रों का कहना है कि नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच तीन नेताओं के नाम की चर्चा जोरों पर है।

इनमें पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख सुनील जाखड़, प्रताप सिंह बाजवा और बेअंत सिंह के पोते और सांसद रवनीत सिंह बिट्टू का नाम शामिल है।

 

सीएम के लिए तीन नामों की चर्चा

सूत्रों का कहना है कि नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच तीन नेताओं के नाम की चर्चा जोरों पर है।

इनमें पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख सुनील जाखड़, प्रताप सिंह बाजवा और बेअंत सिंह के पोते और सांसद रवनीत सिंह बिट्टू का नाम शामिल है।

 

Captain-Amarinder-Singh-resigns-as-Chief-Minister-of-Punjab

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

12 + fifteen =

Back to top button