breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराज्यों की खबरें
Trending

Cyclone Nivar Latest Updates: समुद्र तट से टकराया चक्रवाती तूफान निवार, पुडुचेरी-तमिलनाडु में भारी बारिश से जीवन ठप्प

बकौल मौसम विभाग, 25 तारीख की रात 11।30 बजे से 26 नवंबर की सुबह 2:30 बजे के बीच चक्रवात निवार पुदुचेरी के समुद्र तट से टकराया...

चेन्नई :Cyclone Nivar Latest Updates Hindi– देश पहले ही कोरोनावायरस(Coronavirus) और प्रदूषण (Pollution) से जूझ रहा है। ऐसे में एक और प्राकृतिक आपदा चक्रवाती तूफान निवार(Cyclone Nivar) के रूप में आ गई है।

चक्रवाती तूफान (Cyclone) निवार आधी रात के बाद पुडुचेरी-और तमिलनाडु में समुद्र तट से टकराया। टकराने के दौरान भीषण बारिश हुई और तेज हवाएं चली।

हवाओं की बेलगाम रफ्तार और तेज बारिश ने चेन्नेई और कुड्डलोर, महाबलीपुरम सहित कई शहरों में जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया। पुडुचेरी में जोरदार हवाओं के साथ तेजी से बारिश हो रही है।

चक्रवाती तूफान निवार के कारण हो रही तेज बारिश और तेज हवाओं के वीडियो यूजर्स ने सोशल मीडिया पर भी खूब शेयर किए।

बकौल मौसम विभाग, 25 तारीख की रात 11।30 बजे से 26 नवंबर की सुबह 2:30 बजे के बीच चक्रवात निवार पुदुचेरी के समुद्र तट से टकराया।

लेकिन राहत की बात यह है कि अब चक्रवाती तूफान निवार कमजोर हो रहा है और अति गंभीर श्रेणी से गंभीर श्रेणी में आ गया है लेकिन मौसम विभाग का कहना है कि खतरा अभी टला नहीं है।

Cyclone Nivar Latest Updates Hindi:

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, 26 नवंबर को तड़के 2:30 बजे तट से टकराने के साथ चक्रवात निवार की रफ्तार 120 किलोमीटर प्रति घंटे से घटकर 100-110 किलोमीटर प्रति घंटे हो गई।

यह तूफान उत्तर-उत्तर-पश्चिमी इलाके में आगे बढ़ रहा है। आगामी छह घंटों में यह और कमजोर हो जाएगा।

तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के अधिकारियों ने चक्रवाती तूफान से उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए कई उपाय किए हैं।

अभी तमिलनाडु और पुद्दुचेरी के कई इलाकों में भारी बारिश हो रही है।

 

चक्रवाती तूफान निवार का पल-पल का अपडेट:

Cyclone Nivar Latest Updates Hindi:

 – तटीय क्षेत्रों में गुरुवार तक भारी बारिश हो सकती है। निवार चक्रवात 120 से 130 किमी प्रति घंटे के बीच बेहद भारी बारिश और हवाएं लाएगा।145 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं।

निवार(Nivar) को पहले नंबर 1 श्रेणी “गंभीर चक्रवाती तूफान” की श्रेणी में रखा गया।हालांकि ताजा रफ्तार को देखकर अभी इसे नंबर दो श्रेणी “गंभीर” में रखा गया है। लेकिन कभी भी कुछ भी हो सकता है।

-चक्रवात निवार से घरों को नुकसान, बिजली लाइनों के उखड़ने और फसलों के नष्ट होने की संभावना है।

तमिलनाडु के आपदा प्रबंधन मंत्री आरबी उधयाकुमार ने कहा, “एहतियात के तौर पर राज्य भर में 1।45 लाख लोगों को 1,516 राहत शिविरों में स्थानांतरित किया गया है।”

राज्य के तट पर चेन्नई के दक्षिण में स्थित कुड्डलोर और नागपट्टिनम जिले, सबसे अधिक लोगों को निकाला गया है।

-तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई पलानीस्वामी ने लोगों से जहां तक ​​संभव हो सके घर पर रहने की अपील की और कहा कि 4,000 से अधिक “असुरक्षित” स्थानों की पहचान की गई है और स्थानीय अधिकारियों से कहा गया है कि वे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करें।

चेन्नई में सरकारी अधिकारियों ने एक बड़े जलाशय से पानी छोड़ा और गिरे पेड़ों को हटाया। एक वरिष्ठ बंदरगाह अधिकारी ने कहा कि शहर के बंदरगाह पर वेसल्स को समुद्र में ले जाया गया है

और जब तक कि चक्रवात चला नहीं जाता बंदरगाह संचालन बंद रहेगा। 2015 की बाढ़ की यादें ताजा होने के साथ, तमिलनाडु जल स्तर में तेजी से वृद्धि के खतरे को देखते हुए चार अन्य जलाशयों की भी निगरानी की जा रही है।

Cyclone Nivar Latest Updates Hindi:

-NDRF के प्रमुख एसएन प्रधान ने बताया कि तमिलनाडु, पुदुचेरी और पड़ोसी आंध्र प्रदेश में लगभग 1,200 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के जवान तैनात किए गए हैं।

-12 टीमें तमिलनाडु में (छह कुड्डालोर जिले में और दो चेन्नई में), सात आंध्र प्रदेश में और तीन पुडुचेरी में हैं। अतिरिक्त 20 टीमें ओडिशा के कटक, आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा और केरल के त्रिशूर में स्टैंडबाय पर होंगी।

-भारतीय नौसेना ने कहा है कि वह निवार की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। तमिलनाडु और पुडुचेरी दोनों सरकारों के अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में हैं।

नौसेना के जहाज, विमान और बचाव और गोताखोरी टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है।

-राज्य सरकारों को बिजली लाइनों और संचार नेटवर्क को व्यापक नुकसान की उम्मीद है, इस आशंका के साथ कि ग्रामीण क्षेत्रों में घर नष्ट हो जाएंगे और पेड़ उखड़ जाएंगे।

-दोनों सरकारों ने मछुआरों को भी चेतावनी दी है और तटीय और निचले इलाकों के हजारों लोगों को स्थानांतरित कर दिया है, जो लहरों की चपेट में आ सकते हैं।

-तमिलनाडु के कलपक्कम में मद्रास परमाणु ऊर्जा स्टेशन (एमएपीएस) में अलर्ट जारी किया गया है, जो ममल्लापुरम से लगभग 20 किमी दूर है।

-अधिकारियों ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि अधिकारी कार्रवाई के लिए मौसम की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं।

Cyclone Nivar Latest Updates Hindi

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी ने भी अलर्ट जारी किया है। राज्य में भारी वर्षा होने की उम्मीद है। नेल्लोर और चित्तूर जिले अलर्ट पर हैं,

क्योंकि कडप्पा, कुरनूल और अनंतपुर के कुछ हिस्सों में 11 से 20 सेंटीमीटर बारिश और हवा की गति 75 किमी प्रति घंटा तक रहने की उम्मीद है। मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है और निचले इलाकों में बाढ़ की चेतावनी दी गई है।

 गौरतलब है कि लॉकडाउन के मई महीने में सुपर साइक्लोन अम्फन ने दक्षिण बंगाल के कई इलाकों को प्रभावित किया था। इस आपदा के समय 98 लोग मारे गए थे।

अम्फन ने बड़े स्तर पर लोगों की प्रॉपर्टी को तबाह कर दिया था,गांवों को नष्ट कर दिया था और खेतों को बर्बाद कर दिया था।

इतना ही नहीं, बिजली की आपूर्ति को भी इस दौरान नुकसान हुआ था और लोगों का जीवन ठप्प हो गया था। अब चक्रवाती तूफान निवार से ऐसे ही हालात बनने की संभावना है।

 

Cyclone Nivar Latest Updates Hindi

(इनपुट एजेंसी से भी)

 

 

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 − four =

Back to top button