breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरें
Trending

Video:भारतीय रेलवे की 169वीं वर्षगांठ से एक दिन पहले मुंबई में रेल दुर्घटना,दादर-पुडुचेरी एक्सप्रेस के तीन डिब्बे बेपटरी,कोई घायल नहीं

यह घटना भारत में रेलवे की 169वीं वर्षगांठ से एक दिन पहले हुई है। भारत (और एशिया) में पहली यात्री ट्रेन 16 अप्रैल, 1853 को मुंबई और ठाणे के बीच चली थी।

Video-Mumbai-train-accident-Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail-at Matunga-station

मुंबई:भारतीय रेलवे की 169वीं वर्षगांठ(Indian Railway 169th Anniversary)से एक दिन पहले मुंबई में बड़ी रेल दुर्घटना(Mumbai-train-accident)हुई है।

15अप्रैल, शुक्रवार रात को दादर-पुडुचेरी एक्सप्रेस (ट्रेन नंबर 11005) के तीन कोच पटरी से उतर गए।अभी तक फिलहाल किसी के इस हादसे में घायल होने की कोई जानकारी नहीं(Video-Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail-at Matunga-station)है।

यह दुर्घटना माटुंगा रेलवे स्टेशन के पास हुई है। सेंट्रल रेलवे के अधिकारी के मुताबिक,रात तकरीबन 9:45 बजे दादर-पुडुचेरी(ट्रेन नंबर 11005)एक्सप्रेस को सीएसएमटी-गडग एक्सप्रेस के इंजन ने पीछे से टक्कर मार दी।

नतीजतन पुडुचेरी एक्सप्रेस के तीन डिब्बे पटरी से उतर(Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail)गए।

इस हादसे में किसी के अभी तक घायल होने की कोई खबर नहीं है।

जीआरपी ने ट्वीट कर बताया है कि रेलवे प्रशासन युद्धस्तर पर फंसे हुए यात्रियों को निकालने का काम कर रहे हैं। जीआरपी मुंबई के कई आला अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं।

जीआरपी ने यात्रियों से सहयोग की अपील करते हुए कहा है कि किसी भी इमरजेंसी की हालत में 1512 नंबर डायल कर सूचित करें।

Mumbai Local Trains:1फरवरी से मुंबईकरों के लिए सरपट दौड़ेगी लोकल,जानें टाइम स्लॉट

हादसे के बाद से मध्य रेलवे का परिचालन प्रभावित हो गया है।रेलवे सीपी के मुताबिक माटुंगा के पास चालुक्य एक्सप्रेस और मुंबई सीएसएमटी गडग एक्सप्रेस के बीच मामूली टक्कर हुई(Video-Mumbai-train-accident-Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail-at Matunga-station)है।

इस घटना में किसी के घायल होने की फिलहाल सूचना नहीं है। जीआरपी के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक उपनगरीय ट्रेनों की आवाजाही पर कोई फर्क नहीं पड़ा है और वो नियमित तौर पर चल रही है। 

दादर-पुडुचेरी एक्सप्रेस ट्रेन के तीन डिब्बे पटरी से उतरने(Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail) के बाद मध्य रेलवे की तरफ से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है।

रेलवे सीपी कैसर खालिद के मुताबिक गड़ग एक्सप्रेस ट्रेन को दादर स्टेशन ले जाया जा रहा है। ट्रेन में आरपीएफ की कड़ी तैनाती है और सभी यात्रियों का सामान सुरक्षित है।

viral video india:चंद सेकेंड्स में मुंबई की पार्किंग में खड़ी ये कार डूब गई,viral वीडियो

चालुक्य/पुडुचेरी एक्सप्रेस ट्रेन से यात्रियों को बाहर निकालने का काम जारी है और स्थिति सामान्य होने तक सभी आला अधिकारी मौके पर मौजूद रहेंगे। हादसे के दौरान क्षतिग्रस्त हुए विद्युत लाइन को ठीक किया जा रहा है।

यह घटना भारत में एक यात्री ट्रेन के पहली बार चलने की 169वीं वर्षगांठ से एक दिन पहले हुई है।

अधिकारी ने बताया कि दादर-पुडुचेरी चालुक्य एक्सप्रेस(Dadar Puducherry Express) दादर टर्मिनस के प्लेटफॉर्म 7 से डाउन फास्ट लाइन पर प्रवेश कर रही थी, तभी रात करीब पौने दस बजे रवाना हुई सीएसएमटी-गडग एक्सप्रेस ने उसे एक क्रॉसिंग पर पीछे से टक्कर मार दी।
घटना का एक वीडियो जो सोशल मीडिया(Mumbai Puducherry Express accident video)पर प्रसारित हुआ है और उसमें दिख रहा है कि पटरी से उतरने से पहले दो एक्सप्रेस ट्रेन के डिब्बे आपस में भिड़ गए. ऐसा होने पर कुछ यात्रियों को एक दूसरे को सचेत करते हुए भी सुना जा सकता है।

 

Video-Mumbai-train-accident-Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail-at Matunga-station

Video Credit: FPJ twitter handle

Video-Mumbai-train-accident-Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail-at Matunga-station

इस महीने मध्य रेल खंड पर यह दूसरी दुर्घटना है। इससे पहले, लोकमान्य तिलक-जयनगर एक्सप्रेस (पवन एक्सप्रेस) 3 अप्रैल, 2022 को महाराष्ट्र के नासिक के पास पटरी से उतर गई थी।

यह घटना भारत में रेलवे की 169वीं वर्षगांठ से एक दिन पहले हुई है। भारत (और एशिया) में पहली यात्री ट्रेन 16 अप्रैल, 1853 को मुंबई और ठाणे के बीच चली थी।

इस तरह भारतीय रेलवे शनिवार से अपनी सेवा के 170वें वर्ष में प्रवेश कर रही है।

 

 

 

 

Video-Mumbai-train-accident-Three-coaches-of-Dadar-Puducherry-Express-derail-at Matunga-station

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button