breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशलाइफस्टाइल
Trending

Ganesh Chaturthi: गणेश चतुर्थी पर भूल से भी न करना ये काम,वर्ना हो जाएगा अनर्थ!

गणेश जी की संकट चतुर्थी और करवा चौथ दोनों में ही चंद्रमा(Moon) के दर्शन का सर्वाधिक महत्व होता है। लेकिन क्या आपको पता है कि गणेश चतुर्थी(Ganesh Chaturthi don't see moon)के दिन चंद्र दर्शन करना वर्जित होता है।

Ganesh-Chaturthi-pe-chand-ko-kyo-na-dekhe

हिंदू धर्म में गणेश चतुर्थी(Ganesh-Chaturthi)का विशेष महत्व है। गणपति बप्पा(Ganpati Bappa)को समर्पित यह पर्व पूरे दस दिन धूमधाम से मनाया जाता है।

दरअसल,गणेश चतुर्थी का दिन भगवान गणेश जी(Ganesh Ji) का जन्मोत्सव होता है और इस साल गणेश चतुर्थी बुधवार,31 अगस्त 2022(Ganesh-Chaturthi 2022)को मनाई जा रही है।

हर महीने के कृष्ण और शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि गणेश(Ganesha)को अत्यंत प्रिय होती है।  गणेश जी को प्रसन्न करने के लिए भक्तजन इस दिन पूरे विधि-विधान और श्रद्धापूर्वक गणेश जी की आराधना करते है।

गणेश जी की संकट चतुर्थी और करवा चौथ(Karwa chauth)दोनों में ही चंद्रमा(Moon)के दर्शन का सर्वाधिक महत्व होता है। लेकिन क्या आपको पता है कि गणेश चतुर्थी(Ganesh Chaturthi don’t see moon)के दिन चंद्र दर्शन करना वर्जित होता है।

अब आप सोचेंगे कि गणेश चतुर्थी के दिन चंद्रमा के दर्शन क्यों(Ganesh-Chaturthi-pe-chand-ko-kyo-na-dekhe)करें?

जबकि संकट चतुर्थी में तो चंद्र दर्शन किया जाता है।

दरअसल,इसके पीछे पुराणों में एक कथा है। चलिए बताते है कि गणेश चतुर्थी के दिन चंद्र दर्शन क्यों नहीं करने(Why-not-see-the-moon-on-Ganesh- Chaturthi)चाहिए और अगर कर लिए है तो इसका निवारण क्या है।

पुराणों में आख्यान है कि जब भगवान शिव ने गणेश जी के सिर पर हाथी का सिर लगाकर उन्हें पुनर्जीवित कर दिया था। उस समय चंद्रमा ने उनका उपहास किया था। उस दिन गणेश चतुर्थी थी।

अपने उपहास के कारण गणेश जी ने चंद्रमा को श्राप दे दिया कि आज का दिन तुम्हारे लिए कलंक का दिन होगा।

गणेश चतुर्थी को तुम्हें कोई नहीं देखेगा। इस दिन तुम्हें जो भी व्यक्ति देखेगा, उसे कोई ना कोई झूठा आक्षेप या कंलक लग(Ganesh-Chaturthi-pe-chand-ko-kyo-na-dekhe)जाएगा। 

इस श्राप से घबराकर उससे मुक्ति के लिए चंद्रमा ने शिव से प्रार्थना की।

तब भगवान शिव(Lord Shiva)ने कहा कि गणेश जी के श्राप को मैं भी नहीं काट सकता हूं, किन्तु इसका समाधान है कि यदि किसी व्यक्ति को भूल से भी चंद्रमा का दर्शन हो जाए, तो गणेश वंदना,गणेश स्तुति, महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें।

द्वापर युग में भी श्रीकृष्ण भगवान(Lord Krishna)को भी चतुर्थी के चंद्रमा(Chandrama)के दर्शन करने से भी कलंक लग गया था। उनके ऊपर स्यामन्तक मणि चुराने का आरोप लग गया था।

इसलिए गणेश चतुर्थी की शाम को चंद्रमा के दर्शन नहीं करना चाहिए।

 

भूल कर भी न करें गणपति बाप्पा की स्थापना/पूजा के दौरान यह गलतियां…! नहीं तो..?

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

गणेश चतुर्थी पर गलती से चंद्र दर्शन हो जाएं तो क्या करें? –Ganesh Chaturthi pe chand ko dekh liya to kya upay kare

 

अब सवाल उठता है कि अगर गणेश चतुर्थी पर आप गलती से चंद्रमा के दर्शन कर लें तो कलंक या श्राप से बचने के लिए क्या करना(what-to-do-if-see-moon-on-Ganesh-Chaturthi)चाहिए?चलिए बताते है इसका उपाय।

-यदि भूलवश चंद्रमा का उस दिन दर्शन हो जाए तो पत्थर या कंकड उठाकर चंद्रमा की ओर फेंक देना चाहिए।

-इसलिए इसे पत्थर चौथ या कलंक चौथ भी कहते हैं।

-उसके पश्चात रात्रि को भगवान गणेश जी की वंदना और स्तुति करते हुए प्रार्थना करें तो उस दोष से निवृत्ति मिल जाती है।

 

 

Ganesh Chaturthi 2021:आज गणेश चतुर्थी पर इस शुभ मुहूर्त में बप्पा की करें पूजा

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

नोट: ऊपर दी गई जानकारी धार्मिक-प्रचलित मान्यताओं और आस्थाओं पर आधारित है,जिसे सिर्फ सामान्य ज्ञान प्रदान करने के लिए लिखा गया है।

 

 

 

Ganesh-Chaturthi-pe-chand-ko-kyo-na-dekhe

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button