breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंफैशनलाइफस्टाइल
Trending

Shanti Jayanti 2022:आज शनि जयंती-सोमवती अमावस्या पर करें ये उपाएं,धन-दौलत,सुख पाएं

इस वर्ष शनि जयंती 30 मई 2022,(Shani-Jayanti-2022 on 30 May)सोमवार को है और साथ ही सोमवती अमावस्या(Somvati Amavasya 2022) व वट सावित्री व्रत भी है।इसलिए आज बेहद दुर्लभ योग वाला दिन है।

Shani-Jayanti-2022-totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness

आज का दिन हिंदू पंचाग के अनुसार बहुत ही खास है। आज,सोमवार को सोमवती अमावस्या(Somvati Amavasya 2022) है और इसके साथ ही आज शनि जयंती(Shani Jayanti 2022) भी है।

ज्येष्ठ माह की अमावस्या तिथि चूंकि सोमवार,30 मई 2022 को पड़ी है।इसलिए इसे सोमवती अमावस्या(Somvati Amavasya)भी कहा जाता है।

आज के दिन शनि जयंती भी है जोकि न्याय और कर्म फल दाता शनिदेव(Shanidev)को समर्पित है। इसलिए आज का दिन बेहद दुर्लभ और सर्वार्थ सिद्धि योग वाला है।

Shani Jayanti 2022 totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness
शनि जयंती और सोमवती अमावस्या के उपाएं

मान्यता है कि ऐसा शुभ संयोग तकरीबन 30 साल बाद बन रहा है जबकि शनि जयंती,सोमवती अमावस्या और वट सावित्री  व्रत भी है।

जी हां, ज्येष्ठ माह की अमावस्या को ही वट सावित्री व्रत(Vat Savitri Vrat) भी पड़ता है।

इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की दीर्घायु के लिए व्रत रखती है और उनके अच्छे स्वास्थ्य और खुशहाल जीवन की कामना करती है।

शनिदेव (Shanidev)को ज्योतिष शास्त्र में कर्मफल दाता और न्यायप्रिय देवता के रूप में जाना जाता है।कहते है शनिदेव जिस पर प्रसन्न हो जाएं वो रंक से राजा बन जाता है और जिस किसी पर भी उनकी वक्र दृष्टि पड़ जाती है वह क्षण भर में राजा से रंक बन जाता है।

शनिदेव प्रत्येक मनुष्य को उसके कर्मानुसार(Karma)फल प्रदान करते है। बुरे कर्म वालों को उनके कर्मानुसार सजा देकर दंडित करते है तो अच्छे कर्म वालों को शुभ फल प्रदान करते है।

इसलिए हिंदू शास्त्र में शनिदेव को प्रसन्न करने के विभिन्न उपाएं बताये गए है,जिन्हें करके लोग शनि(Shani)की साढ़ेसाती(Sadesati)या शनि ढैय्या(Shani-dhaiya)से मुक्ति पाते(Shani-Jayanti-2022-Sadesati-or-Shani-dhaiya-se-mukti-ke-5-upay)है।

हिंदू पंचागानुसार,प्रति वर्ष ज्येष्ठ माह की अमावस्या(Amavasya)को शनि जयंती(Shani Jayanti) बहुत धूमधाम से मनाई जाती है।

इस वर्ष शनि जयंती 30 मई 2022,(Shani-Jayanti-2022 on 30 May)सोमवार को है और साथ ही सोमवती अमावस्या(Somvati Amavasya 2022) व वट सावित्री व्रत भी है।

इसलिए आज बेहद दुर्लभ योग वाला दिन है।

आज शनि जयंती और सोमवती अमावस्या के दिन कुछ उपाएं करने से आप कष्टों से मुक्ति पा सकते है और जीवन में धन-दौलत,सुख-समृद्धि से संपन्न हो सकते(Shani-Jayanti-2022-totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness)है।

अगर आपके ऊपर भी शनि की साढ़ेसाती या शनि ढैय्या चल रही है तो इस साल शनि जयंती पर कुछ अचूक उपाय या टोटके करने से आप शनिदेव को प्रसन्न कर सकते(shani-jayanti-on-30 May-totke)है और सोमवती अमावस्या पर इससे मुक्ति प्राप्त कर सकते(Shani-Jayanti-2022-totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness)है।

न्याय के देवता शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनि जयंती का दिन सर्वाधिक शुभ और उत्तम माना गया है।इसलिए शनि जयंती के दिन कुछ उपाय करने से आपको साढ़ेसाती और शनि ढैय्या से राहत मिल सकती है।

 

 

लेकिन उससे पूर्व बताते है कि वह कौन-कौन सी राशियां(Rashiya jinpe hai Sadesati or Shani Dhaiya)है जिनपर साढ़साती और शनि ढैय्या चल रही है:

मौजदूा वक्त में शनिदेव कुंभ राशि में विराजमान है। इसलिए कुंभ,मीन और मकर राशि वालों पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव चल रहा है।

कर्क व वृश्चिक राशि वालों पर शनि ढैय्या चल रही है। इस साल शनि जयंती पर शनिदेव अपनी स्वराशि कुंभ में विराजमान होंगे।

ग्रहों की यह स्थिति करीब 30 साल बाद बन रही है।

ऐसे में शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए नीचे बताए गए उपाय कई गुना फल प्रदान कर सकते हैं।

Shani-Jayanti-2022-totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness

sawan-ke-shaniwar-ke totke-shani sade sati-dur karne ke upay-3

 

 

शनि जयंती और सोमवती अमावस्या के दिन करें ये अचूक उपाय –

Shani-Jayanti-2022-totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness:

1.शनि जयंती के दिन शनिदेव की पूजा करते समय ‘ॐ शं शनैश्चराय नम:’ मंत्र का जाप व शनि चालीसा का पाठ करना चाहिए।

2.शनि जयंती के दिन छाया दान करना अति लाभकारी माना गया है। इस दिन कांसे के कटोरे में सरसों का तेल लें और उसमें अपना चेहरा देखें। उसके बाद कटोरे सहित इसे किसी गरीब या जरूरतमंद को दान कर दें। या फिर शनि मंदिर में रख दें।

3. शनि जयंती के दिन किसी शनि मंदिर में जाकर पूजा करें। उसके बाद शनिदेव को सरसों का तेल, काला तिल व काला उड़द अर्पित करें।

4.शनि जयंती के दिन किसी गरीब या जरूरतमंद को अपनी सामर्थ्य अनुसार मदद करें।

5.शनि जयंती के दिन पैसे, काले कपड़े, तेल, भोजन, तिल और उड़द आदि का दान करना शुभ माना जाता है।

 

सोमवती अमावस्या पर आप पितृ दोष से मुक्ति पा सकते है और इन उपायों से जीवन  में खुशहाली ला सकते है:

Shani-Jayanti-2022-totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness

-सबसे पहले आप ब्रह्म मुहूर्त में उठकर स्नानादि करें। उसके बाद सूर्य भगवान को जल अर्पण करें।

-पितृ दोष से मुक्ति पाने के लिए सोमवती अमावस्या के दिन ब्राह्मणों को भोजन जरूर करवाएं। साथ ही जरूरतमंद को दान देना लाभदायक है।

-सोमवती अमावस्या के दिन खुद स्नान करके पिंडदान किया जाता है। ऐसा करने से पित्तर खुश होते हैं।

-सोमवती अमावस्या के दिन छाता, खड़ाऊ, खीरा, ककड़ी, पंखा आदि गर्मी से बचने वाली चीजों को दान किया जाता है। ऐसा करने से घर में सुख समृद्धि आती है।

-सोमवती अमावस्या के दिन बरगद के पेड़ की पूजा की जाती है। मान्यता है कि इसमें बरगद के पेड़ की पूजा करने से त्रिदेवों का आशीर्वाद मिलता है। त्रिदेव यानि ब्रह्मा, विष्णु और महेश। साथ ही पितृदोष से भी मुक्ति मिल सकती है।

 

 

 

नोट:यहां दी गई जानकारी सामान्य प्रचलित मान्यताओं के आधार पर प्रदान की गई है। इस जानकारी की सटीकता को समयधारा प्रमाणित नहीं करता और न ही इनकी सत्यता के विषय में कोई दावा करता है। पाठकों से अनुरोध है कि किसी भी उपाय को अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ से सलाह-मशवरा अवश्य करें।

Sheetala Ashtami 2022:आज शीतलाष्टमी पर इस शुभ मुहूर्त में करें पूजा,जानें विधि,मां का प्रसाद

 

 

Shani-Jayanti-2022-totke-Somvati-Amavasya-upay-for-money-happiness

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button