breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंविभिन्न खबरेंविश्व
Trending

कोरोना के कहर से सबसे रईस भारतीय ने दुबई में खुदकुशी की

कोरोना दुबई : केरल के इस सबसे ज्यादा दौलतमंद अप्रवासी कारोबारी व 10 साल का गोल्ड कार्ड वीजाधारी ने 14 वें फ्लोर से कूदकर की आत्महत्या

JoyArakkal in Dubai Committed-Suicide

नई दिल्ली, (समयधारा) : देश भर में कोरोनावायरस का कहर कम होने का नाम ही नहीं ले रहा l पर विदेशों में हालात काफी बुरे है l 

उल्लेखनीय है कि गल्फ(Gulf) में अप्रवासी भारतीयों की भरमार है l बड़े-बड़े उद्योंगों पर भारतीयों का एकाधिकार है l

ऐसे ही  केरल के सबसे रईस अप्रवासी कारोबारी और गल्फ में ऑयल रिफाइनरीज के मालिक जॉय अरक्कल (Joy Arakkal) की मौत पिछले दिनों खुदकुशी करने से हुई है।

इस बात पर दुबई पुलिस ने अब इस पर मुहर लगा दी है। अरक्कल गल्फ रीजन (खाड़ी देशों) में लगातार घट रहे पेट्रोलियम की कीमतों से परेशान थे।

इस वजह से अरक्कल ने यह कदम उठाया। वह पिछले 20 साल से पेट्रोलियम बिजनेस में थे।

अरक्कल की रिफाइनरी फर्म इनोवा रिफाइनिंग एंड ट्रेडिंग की सालाना सेल 12.50 करोड़ डॉलर है।

स्थानीय पुलिस ने बताया कि अरक्कल ने 14वें फ्लोर से कूदकर अपनी जान दे दी।

JoyArakkal in Dubai Committed-Suicide

बर दुबई पुलिस स्टेशन के डारेक्टर ब्रिगेडियर अब्दुल्लाह खादिम बिन सरूर ने गल्फ न्यूज को बताया है,

“हमें यह पता चला कि एक इमारत की 14वीं मंजिल से कूदकर एक शख्स ने आत्महत्या कर ली।

इस बिजनेसमैन ने फाइनेंशियल दिक्कतों के कारण यह कदम उठाया था।” अरक्कल के परिवार में उनकी पत्नी सेलिना जॉय और दो बेटे अरुण और एश्ले हैं।

पुलिस ने इसमें किसी साजिश से इनकार किया है। अरक्कल के पार्थिव शरीर को एयर एंबुलेंस से भारत लाया गया था।

सरूर ने गल्फ न्यूज को बताया है, “जांच के बाद पता चला कि यह आत्महत्या है।”

UAE के शारजाह और रास अल खैमा में अरक्कल की ऑयल रिफाइनरीज हैं। सउदी अरब के दम्माम में भी एक रिफाइनरी है।

अरक्कल का कारोबार मुख्य रूप से कच्चा तेल निकालने, रिफाइनिंग के साथ पेट्रोलियम और पेट्रोलियम उत्पादों की बिक्री से जुड़ा था।

अरक्कल का शुमार उन चुनिंदा लोगों में था जिन्हें UAE ने 2019 में 10 साल का गोल्ड कार्ड वीजा दिया था।

कुछ दिन पहले ही यह खबर आई थी कि अरक्कल वायनाड में 45,000 स्क्वायर फुट में घर बनवा रहे हैं जिसका नाम अरक्कल पैलेस है।

करीब 50 साल से केरल के लोग पश्चिम एशिया के देशों में जा रहे हैं।

हालांकि हाल के दिनों में कोरोनावायरस संकट के कारण जब कच्चे तेल की कीमतें घटी हैं तो करीब 3.5 लाख लोग केरल वापस लौटे हैं।

(इनपुट एजेंसी से)

JoyArakkal in Dubai Committed-Suicide

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − ten =

Back to top button