breaking_newsअन्य ताजा खबरेंबिजनेसबिजनेस न्यूजविभिन्न खबरेंविश्व

भारत नहीं अमेरिका में भी महंगाई की मार, तोड़ा 41 साल का रिकॉर्ड

अमेरिका में महंगाई दर ने तोड़े कई रिकॉर्ड, सभी पूर्वानुमानों को किया ध्वस्त

us inflation 9point1 percent-highest-in-41-years america me mahnagai badi 

मुंबई (समयधारा) :  भारत ही नहीं अमेरिका भी महंगाई की मार को झेल रहा है l आज जारी महंगाई दर यानी US Inflation दर ने 41 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया l  

जून महीने में अमेरिका में महंगाई दर सभी पूर्वानुमानों को ध्वस्त करते हुए 9.1 फीसदी रही।

अमेरिका में साल 1981 के बाद पहली बार किसी महीने में महंगाई की दर इतनी अधिक रही है।

ऐसे में उम्मीद की जा रही है अमेरिका का केंद्रीय बैंक- फेडरल रिजर्व बढ़ती महंगाई को रोकने की कोशिश के तहत

इस महीने के अंत में एक बार फिर ब्याज दरों में बड़ी बढ़ोतरी कर सकता है।”

Sri Lanka में फिर लगी इमरजेंसी,राष्ट्रपति गोटाबाया देश छोड़कर भागे,गुस्साई जनता सड़कों पर उतरी

“अमेरिका के लेबर डिपॉर्टमेंट ने बुधवार 13 जुलाई को महंगाई के आंकड़े जारी किए।

लेबर डिपार्टमेंट ने बताया जून में पिछले साल की तुलना में कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स 9.1 फीसदी बढ़ा है।

वहीं पिछले महीने या मई की तुलना में यह 1.3 फीसदी बढ़ा है। मंथली आधार पर 2005 के बाद यह सबसे अधिक बढ़ोतरी है।

अमेरिका में महंगाई बढ़ने के पीछे प्रमुख कारण पेट्रोल, घरों के किराए और खाने-पीने के सामान की कीमतों में हुई बढ़ोतरी है।”

“अर्थशास्त्रियों ने मई महीने में महंगाई में मंथली आधार पर 1.1 फीसदी और सालाना आधार पर 8.8 फीसदी की बढ़ोतरी का अनुमान जताया था।

us inflation 9point1 percent-highest-in-41-years america me mahnagai badi 

एशियाई बाजारों में बढ़त का असर, भारतीय शेयर बाजार ऊपर

हालांकि ताजा आंकड़े इन अर्थशास्त्रियों के अनुमान से भी अधिक है।” 

“महंगाई में बढ़ने से अमेरिकी फेडरल रिजर्व बैंक पर अपनी मॉनिटरी पॉलिसी को सख्त करने का दबाव बढ़ गया है।

अनुमान लगाया जा रहा है कि फेडरल रिजर्व जुलाई महीने के अंत में ब्याज दरों में बड़ी बढ़ोतरी का ऐलान कर सकता है।

ऐसा माना जाता है केंद्रीय बैंकों के ब्याज दर बढ़ाने से बाजार में पैसे कम होता है और इससे महंगाई पर अंकुश लगाने में मदद मिलती है।”

अमेरिका से आये इन आकड़ों से विदेशी बाजारों में जबरदस्त दबाव का माहौल है l

आज भारतीय शेयर बाजार सहित विश्व के तमाम शेयर बाजारों में जोरदार गिरावट का रुख रहा l

और यह गिरावट आगे भी जारी रह सकती है l 

(इनपुट एजेंसी से भी)

Show More

Dharmesh Jain

धर्मेश जैन www.samaydhara.com के को-फाउंडर और बिजनेस हेड है। लेखन के प्रति गहन जुनून के चलते उन्होंने समयधारा की नींव रखने में सहायक भूमिका अदा की है। एक और बिजनेसमैन और दूसरी ओर लेखक व कवि का अदम्य मिश्रण धर्मेश जैन के व्यक्तित्व की पहचान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button