breaking_newsअन्य ताजा खबरेंराजनीतिक खबरेंविश्व
Trending

Sri Lanka में फिर लगी इमरजेंसी,राष्ट्रपति गोटाबाया देश छोड़कर भागे,गुस्साई जनता सड़कों पर उतरी

राजपक्षे के देश छोड़ने के बाद रानिल विक्रमसिंघे (Ranil Wickramasinghe acting president of SriLanka now)को कार्यकारी राष्ट्रपति बनाया गया है। लेकिन जनता का गुस्सा उनपर भी फूट रहा है।

Sri-Lanka-declares-emergency-once-again-after-President-Rajapaksa-fled-the-country-protesters-on-road

श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे देश छोड़कर परिवार सहित मालदीव भाग गए (Srilanka President Rajapaksa fled the country)है।

आर्थिक संकट(SriLanka Economic Crisis)से जूझती जनता को बदहाल करके राजपक्षे के श्रीलंका छोड़ने की खबर से जनता और ज्यादा गुस्सा गई और देश में विरोध-प्रदर्शन और ज्यादा तेज हो गए।

नतीजा श्रीलंका में एक बार फिर से इमरजेंसी लगा दी गई(Sri-Lanka-declares-emergency-once-again) है।

राजपक्षे के देश छोड़ने के बाद रानिल विक्रमसिंघे (Ranil Wickramasinghe acting president of SriLanka now)को कार्यकारी राष्ट्रपति बनाया गया है। लेकिन जनता का गुस्सा उनपर भी फूट रहा है।

गोटाबाया के देश छोड़कर भागने से गुस्साएं प्रदर्शनकारियों ने  प्रधानमंत्री कार्यालय को घेर लिया(Sri-Lanka-declares-emergency-once-again-after-President-Rajapaksa-fled-the-country-protesters-on-road) है।

पुलिस प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए आंसूगैस (Teargas) के गोले दाग रही है लेकिन प्रदर्शनकारी बेकाबू नज़र आ रहे हैं।

श्रीलंका में संकट(SriLanka Crisis)इतना गहरा गया है कि पश्चिमी प्रांत में कर्फ्यू लगा दिया गया है।

श्रीलंका में नेशनल टीवी का प्रसारण रोक दिया गया है चूंकि प्रदर्शन करती जनता राष्ट्रीय टीवी चैनल में पहुंच गई। जगह-जगह सरकारी संस्थानों पर गुस्साई जनता का प्रदर्शन जारी है।

Sri-Lanka-declares-emergency-once-again-after-President-Rajapaksa-fled-the-country-protesters-on-road

 

Sri Lanka violence: प्रदर्शनकारियों ने PM महिंदा राजपक्षे के पैतृक घर को लगाई आग,PM का इस्तीफा,सांसद-पूर्व मंत्री के भी घर फूंके,Video

 

 

 

 

श्रीलंका के आर्थिक संकट से जुड़ी अहम बातें:

Sri-Lanka-declares-emergency-once-again-after-President-Rajapaksa-fled-the-country-protesters-on-road

 

1.श्रीलंका(Sri Lanka)में राष्ट्रपति गोटाबाया (Gotabaya Rajapaksa)) के मालदीव भागने के बाद भड़के दंगों को देखते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय ने देश में एक बार फिर आपातकाल (Emergency) घोषणा की है।

बुधवार को यह खबर मिलने के बाद जनता का गुस्सा और बढ़ गया और फिर से भारी विरोध प्रदर्शन भड़क गए।

 

 

2.रानिल विक्रमसिंघे (Ranil Wickramasinghe) देश के कार्यकारी राष्ट्रपति होंगे। उन्होंने पहले ही सर्वदलीय सरकार बनने पर प्रधानमंत्री पद से इस्तीफे की पेशकश की थी।  

 

 

 

3.राष्ट्रपति गोटाबाया ने वादा किया था कि वो 13 जुलाई को इस्तीफा देंगे लेकिन गिरफ्तारी की बढ़ती आशंका को देखते हुए वो इस्तीफे से पहले ही देश से भाग गए । इसके बाद गुस्साए विरोध प्रदर्शन गोटाबाया के खिलाफ नारे लगा रहे हैं और उनके इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

 

 

 

 

 

4.सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों ने बताया कि वो संसद की ओर बढ़ेगें और वहां तब तक विरोध प्रदर्शन करेंगे जब तक राष्ट्रपति पद से इस्तीफा नहीं दे देते।  प्रदर्शनकारी रानिल विक्रमसिंघे के इस्तीफे की मांग भी कर रहे हैं। 

 

Sri Lanka economic crisis:श्रीलंका कंगाली की कगार पर इमरजेंसी लागू,भारत ने 40,000 टन डीजल दिया

 

5.सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प हुई। प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए  आंसू गैस छोड़ी जा रही है और पानी की बौछारों का प्रयोग किया जा रहा है लेकिन इसका प्रदर्शनकारियों पर कोई असर होता नजर नहीं आ रहा है।

 

Sri-Lanka-declares-emergency-once-again-after-President-Rajapaksa-fled-the-country-protesters-on-road

 

 

 

6.इससे पहले श्रीलंका में मई महीने में अभूतपूर्व आर्थिक संकट और सरकार विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए दो सप्ताह पहले आपातकाल लागू किया गया था। लेकिन फिर बाद में सरकार ने हालात सुधरते देख 21 मई को आपातकाल हटा लिया था।

श्रीलंका : 10 दिनों तक श्रीलंका में आपातकाल, सांप्रदायिक संघर्षों का नतीजा

 

 

7.उस दौरान श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने एक महीने के अंदर दूसरी बार छह मई की मध्यरात्रि आपातकाल लागू किया था।  

 

 

श्रीलंका : 10 दिनों तक श्रीलंका में आपातकाल, सांप्रदायिक संघर्षों का नतीजा

 

 

 

8.श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे देश छोड़कर फरार हो गए हैं। जानकारी के अनुसार बुधवार तड़के उन्होंने अपने देश से मालदीव के लिए उड़ान भरी है।

 

 

 

9.राष्ट्रपति के रूप में, राजपक्षे को गिरफ्तारी से छूट प्राप्त है। माना जा रहा है कि हिरासत में लिए जाने की संभावना से बचने के लिए वे पद छोड़ने से पहले विदेश चले गए।

10.दरअसल गोटाबाया राजपक्षे ने बुधवार को इस्तीफा देने और “सत्ता के शांतिपूर्ण हस्ताांतरण” का रास्ता साफ करने का वादा किया था। लेकिन इससे पहले ही वे देश से भाग गए।

 

 

Sri-Lanka-declares-emergency-once-again-after-President-Rajapaksa-fled-the-country-protesters-on-road

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button