breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंविभिन्न खबरेंविश्व
Trending

चीन के बाद अमेरिका ने भी दिया भारत को बड़ा झटका, H1-H1B वीजा पर लगाई रोक

डोनाल्ड ट्रंप ने H-1B सहित दूसरे फॉरेन वर्क वीजा को इस साल के अंत तक के लिए निलंबित, गूगल के CEO सुंदर पिचई ने किया विरोध

us-trump-suspends h-1b-h4-visas-till-2020-end google-ceo-sundar-pichai-oppose

वाशिंगटन : लगता है कोरोना वायरस का इफ़ेक्ट आगे और भयानक रूप दिखाएगा l

विश्व में कोरोना ने कहर मचा रखा है l इसका सबसे ज्यादा असर अमेरिका जैसे विकसित देश में हुआ है l 

अमेरिका में कोरोना के कुल केस 23.55 लाख को पार कर गया है l अब इस वजह से अमेरिका में बेरोजगारी दर बढ़ गयी है l

अब यूएस प्रेसीडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने H-1B सहित दूसरे फॉरेन वर्क वीजा को इस साल के अंत तक के लिए निलंबित करने की घोषणा की है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी सरकार को एच-1बी वीजा सिस्टम में सुधार करने

और योग्यता आधारित आव्रजन की दिशा में आगे बढ़ने का निर्देश दिया है l 

व्हाइट हाउस के अधिकारियों ने यह बात कही. ट्रंप ने इस साल के अंत तक एच-1 बी वीजा समेत

अन्य कार्य वीजा को अस्थायी तौर पर सस्पेंड करने के लिए आदेश जारी किया l

us-trump-suspends h-1b-h4-visas-till-2020-end google-ceo-sundar-pichai-oppose

इसके बाद व्हाइट हाउस ने बयान में कहा, “अमेरिका योग्यता आधारित आव्रजन प्रणाली की ओर बढ़ रहा है l”

ट्रंप सरकार अधिक-कुशल श्रमिकों को प्राथमिकता देने और अमेरिकी नागरिकों की नौकरियों की सुरक्षा के लिए आव्रजन प्रणाली में सुधार करेगा l

व्हाइट हाउस ने कहा कि इन सुधारों के तहत, H-1B वीजा कार्यक्रम में उन लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी,

जिन्हें काफी ज्यादा वेतन की पेशकश की जा रही है l इसके अलावा, ट्रंप सरकार सभी खामियों को भी दूर करेगी l

जिसका फायदा उठाकर  कंपनियां अमेरिकी कामगारों की जगह सस्ते विदेश कर्मचारी रखते हैं l 

व्हाइट हाउस ने कहा कि इन सुधारों से अमेरिकी कामगारों की रक्षा होगी l 

साथ ही अमेरिका में सिर्फ उन कर्मचारियों को प्रवेश मिलना सुनिश्चित होगा जो कि काफी कुशल है l

ट्रंप सरकार की ओर से एच-1बी वीजा जारी करने अस्थाई रोक लगाने से भारतीय पेशेवरों पर असर पड़ सकता है.

H-1B वीजा एक गैर प्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को विदेशी पेशेवरों को कुछ खास व्यवसायों में नियोजित करने की अनुमति देता है l 

भारतीय आईटी पेशेवरों के बीच इसकी काफी अधिक मांग है. अमेरिका में हर साल 85,000 एच-1 बी जारी करने की सीमा है l 

अधिकारी ने बताया कि पिछले साल इस वीजा के लिए 2,25,000 आवेदन प्राप्त हुए थे l 

( इनपुट सोशल मीडिया से भी )

us-trump-suspends h-1b-h4-visas-till-2020-end google-ceo-sundar-pichai-oppose

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

Back to top button