breaking_newsअन्य ताजा खबरेंअपराधदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंराज्यों की खबरें
Trending

बड़ी खबर : हैदराबाद एनकाउंटर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, सभी जांच एजेंसीयों पर रोक

जांच आयोग को छह महीने में देनी होगी रिपोर्ट, SC ने हाईकोर्ट और NHRC की जांच पर रोक लगायी, 3 सदस्यों का आयोग करेगा जांच 

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

नई दिल्ली, (समयधारा) : देश के दुसरे निर्भया कांड कहे जाने वाले हैदराबाद दिशा मर्डर केस के आरोपियों के

एनकाउंटर में आज सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा फैसला लेते हुए कहा कि सभी जांच एजेंसीयों पर रोक लगा दी है l

सुप्रीम कोर्ट ने एक निष्पक्ष जांज की बात करते हुए कहा कि चारों आरोपियों की मौत पर एक जांच आयोग बैठेगा l

जांच आयोग को छह महीने में देनी होगी रिपोर्ट l SC ने हाईकोर्ट और NHRC की जांच पर रोक लगायी l 3 सदस्यों का आयोग करेगा जांच  l 

गौरतलब है की 

हैदराबाद की पशु महिला डॉक्टर की रेप करके जिंदा जलाने की हैवानियत करने वाले चारों आरोपियों का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया है।

इन चारों ने ही महिला डॉक्टर के साथ दरिंदगी की थी। तब से सड़क से लेकर संसद तक आरोपियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग हो रही थी। 

इस खबर के फैलते से ही सोशल मीडिया पर हैशटैग #encounter व #hyderabadpolice और #justiceforpriyanakareddy टॉप पर ट्रेंड करने लगे।

पुलिस का दावा  है कि सभी चारों आरोपियों ने भागने की कोशिश की थी और तभी पुलिस की ओर से हुई फायरिंग में चारों आरोपी मारे गए।

फिल्मी अंदाज में भले ही हत्या व बलात्कार के इन आरोपियों को सजा मिली लेकिन सवाल अभी भी उठ रहे है।

हालांकि पीड़िता के माता-पिता ने अपनी बेटी के साथ हैवानियत  करने वाले आरोपियो के साथ हुए एनकाउंटर पर खुशी जताई है और कहा है कि अब उन्हें लग रहा है कि उनकी बेटी के साथ इंसाफ हुआ है।

https://twitter.com/ishalinipandey/status/1202785133541019655?s=20

पुलिस ने कहा है कि आज  तड़के 3 बजे से 6 बजे के बीच  एनकाउंटर हुआ है।

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

सूत्रों के अनुसार, कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करने के पश्चात पुलिस चारों आरोपियों को घटनास्थल पर लेकर गई थी। जिससे सीन ऑफ क्राइम (रिक्रिएशन) की जांच की जा सकें।

पुलिस ने बताया कि तभी अचानक एक आरोपी ने एक पुलिसवाले का हथियार छीन लिया और भागने की कोशिश की तब पुलिस अधिकारियों को एनकाउंटर करना पड़ा।

हैदराबाद के आरोपियोें  के एनकाउंटर पर पुलिस का कहना है कि अगर वो आऱोपी भाग जाता तो बहुत ज्यादा हंगामा हो जाता।

इसलिए पुलिस के पास कोई दूसरा रास्ता नहीं था। नतीजतन जवाबी गोलीबारी में हैदराबाद की डॉक्टर के साथ हैवानियत करने वाले चारों आऱोपियों का एनकाउंटर करना पड़ गया।

सूत्रों के अनुसार, इस मामले की पूरी जानकारी के लिए पुलिस कमिश्नर प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते है।

आरोपियो के परिवार वालों ने क्या कहा था जानें:

हैदराबाद (Hyderabad) में पशुओं की महिला डॉक्टर के साथ हुए सामूहिक बलात्कर और फिर उसे हैवानियत के साथ जिंदा जलाने की खबर ने देश को झकझोर दिया है और साथ ही उनमें से एक आरोपी की मां की ममता को भी इतना शर्मसार कर दिया है कि उन्होंने अपने आरोपी बेटे को भी जिंदा जला देने की बात कह दी (Hyderabad doc gang rape-murder case update)है।

इस जघन्य अपराध में शामिल चारों आरोपियों के परिवारों ने स्पष्ट रूप से कहा है कि अगर उनके बेटों को सजा-ए-मौत दी जाती है तो वे इसकी खिलाफत नहीं करेंगे।

महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप करके जिंदा जलाने (Hyderabad doc gang rape-murder case update) की दरिंदगी करने में शामिल रहे एक आरोपी की मां ने कहा है कि जैसा उस पीड़िता के साथ किया गया है,ठीक वैसे ही आरोपियों को भी जिंदा जला देना चाहिए।

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

गौरतलब है कि निर्भया कांड की तरह एक बार फिर से महिलाओं के प्रति हैवानियत की हदें पार करते इस केस ने पूरे देश में गम और गुस्से का उबाल ला दिया है।

सड़क से लेकर सोशल मीडिया (Social Media) तक सभी हैदराबाद की पीड़िता डॉक्टर के लिए इंसाफ की मांग कर रहे है और अपराधियों के लिए मौत से भी बदत्तर सजा देने की गुहार लगा रहे है।

फांसी पर लटकाओं या जिंदा जलाओं-

Hyderabaddocgangrape-murdercaseupdate_optimized

हैदराबाद की महिला डॉक्टर के साथ दरिंदगी (Hyderabad doc gang rape-murder case) को पशुआत्मक तरीके से अंजाम देने वाले चार आरोपियों में से एक आरोपी सी केशवुलु की मां श्यामला ने कहा है कि , ‘उसे फांसी पर लटका दीजिए या जला दीजिए, उन लोगों ने जैसा डॉक्टर के साथ किया है उसका रेप करने के बाद। वैसा ही उनके साथ करो’

आरोपी की मां का ये बयान अपने आप में एक मिसाल है कि उन्होंने एक मां से ऊपर एक महिला के दर्द को रखा है। वे कहती है कि ‘मैं डॉक्टर के परिवार का दर्द समझती हूं। मेरी भी एक बेटी है और मुझे पता है कि महिला का परिवार किस दर्द से गुजर रहा है। मेरे बेटे ने अपराध किया है, ये पता होने के बाद भी अगर मैं उसका बचाव करूं तो लोग ताउम्र मुझसे नफरत करेंगे।‘

इस आरोपी की मां श्यामला ने आगे बताया कि गुरुवार सुबह जब पुलिस उनके बेटे को पूछताछ के लिए अपने साथ लेकर गई तो उनके पति ने निराश होकर घर छोड़ दिया।

वे बताती है कि केशवुलु की शादी महज पांच महीने पहले उसी की पसंद की लड़की से हुई थी।

 किसी ने घर में उसपर कोई दबाव नहीं डाला क्योंकि उसे किडनी की बीमारी थी।

हम 6 महीने पर उसे इलाज के लिए हैदाराबाद के निम्स अस्पताल में ले जाते थे।

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

बलात्कार-हत्या के बाद आरोपी गया घर-Hyderabad doc gang rape-murder case update

breaking-news-in-hindi Hyderabad priyanka-reddy-murdered latest-news-updates, Priyanka चिल्ला भी ना सकी मदद के लिए "हैदराबाद की निर्भया"

जोलू नवीन और जोलू शिवा दोनों आरोपी भी गुडगांडला के निवासी है। चौथा आरोपी मोहम्मद आरिफ नजदीक के जकलैर गांव का है।

जब पत्रकारों ने आरिफ की मां मूले बी से बात की तो वे पूरी तरह से टूट गई थीं।

आरिफ कुकर्म को अंजाम देने के बाद घर आया था। मां मूले बी ने बताया कि , ‘उसने मुझे बताया कि उसकी गाड़ी से एक ऐक्सिडेंट हो गया है जिसमें एक लड़की की मौत हो गई।’

आरोपी के पिता हुसैन ने कहा कि उन्हें बेटे के अपराध के बारे में कुछ नहीं पता था।

उन्होंने अपने बेटे के लिए आगे कहा कि ‘वह जिस सजा के लायक उसे वह मिलनी चाहिए।’

आरोपियों के गांववाले उनके कुकृत्य पर शर्मसार है और लोकल लोगों व छात्रों के समूह दोनों गांवो में रैलियां कर रहे है और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त एक्शन लेने की मांग कर रहे है।

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

गौरतलब है कि इस केस के चलते एएसआई समेत तीन पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है और तेलंगाना (Telangana) की राज्यपाल ने संवैधानिक व कानूनी तौर पर हर संभव कोशिश करने का भरोसा दिलाया है।

उन्होंने कहा कि, वह कोशिश करेंगी कि पशु चिकित्सक के परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिले और मामले की सुनवाई दैनिक आधार पर हो।

सौंदरराजन (Soundararajan) ने कहा कि पुलिस को जल्द से जल्द जांच पूरी करने और आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र दायर करने को कहा जाएगा।

जानें कैसे हुई थी हैदराबाद की महिला डॉक्टर की निर्मम हत्या और रेप:

 

पुलिस की जांच से पता चला है कि इस घिनौनी घटना के एक आरोपी मोहम्‍मद आरिफ ने हैवानियत के दौरान पीड़‍िता का मुंह दबा रखा था l 

ताकि उसकी चीखों को कोई सुन न सके। वह तड़पती रहीं और दरिंदे उनके साथ हैवानियत करते रहे।

माना जा रहा है कि सांस नहीं ले पाने के कारण हैदराबाद की इस ‘निर्भया’ की मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को पकड़ा है l

 माना जा रहा है की एक सोची समझी साजिश के तहत उन्होंने इस घिनौनी घटना को अंजाम दिया l

इस बीच पुलिस ने कहा है कि आरोपियों ने ही साजिश के तहत स्‍कूटी से हवा न‍िकाल दी थी,

ताकि वे महिला डॉक्‍टर को अपने जाल में फंसाकर वारदात को अंजाम दे सकें।

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

गौरतलब है कि 26 वर्षीय पशुओं की डॉक्टर प्रियंका रेड्डी की जलाकर निर्मम हत्या कर दी गई है।

प्रियंका रेड्डी का जला हुआ शव शादनगर से लगभग 30 किलोमीटर दूर गुरुवार की सुबह पाया गया है।

गौरतलब है कि पशु चिकित्सक प्रियंका रेड्डी (Priyanka Reddy) बुधवार से लापता हो गई थी

और उन्हें शादनगर कस्बे के निकट चतनपल्ली पुल के नीचे बुरी तरह जली हालत में मृत पाया गया (Hyderabad) है। पुलिस ने इस बात की पुष्टि की है।

पशु चिकित्सक महिला डॉक्टर की मिट्टी के तेल से जलाकर निर्मम हत्या (Priyanka Reddy murder) करने पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और गुरुवार की रात से ही ट्विटर पर हैशटैग #RIPPriyankaReddy टॉप पर ट्रेंड करने लगा।

दरअसल पीड़िता डॉक्टर शादनगर में अपने घर से कोल्लुरु गांव के एक पशु चिकित्सालय में जा रही थी, जहाँ वह पिछले एक साल से काम कर रही थी।

पुलिस ने कहा कि पीड़िता शमशाबाद में फंसी हुई थीं, जब उनका दोपहिया वाहन पंचर हो गया था।

पीड़िता की बहन भाव्या ने कहा कि प्रियंका ने उसे शाम करीब 9.15 बजे फोन किया था।

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

उसने यह भी कहा कि उसने कहा था कि किसी ने उसे पंक्चर टायर की मरम्मत के लिए लिफ्ट की भी पेशकश की थी।

भाव्या ने पुलिस को यह भी बताया कि प्रियंका ने उन्हें सूचित किया था कि वह डरी हुई महसूस कर रही थी

क्योंकि वह एक ऐसे स्थान पर फंसी हुई थी जहाँ बहुत सारे अंजान आदमी और ढ़ेर सारे लदे ट्रक खड़े थे।

उसने पुलिस को बताया कि उसने प्रियंका को निकटतम टोल गेट तक चलने और वहां इंतजार करने के लिए कहा था।

भाव्या ने आगे कहा कि “मैंने उसे वाहन छोड़ने के लिए कहा। लेकिन जब मैंने कुछ समय बाद फोन किया, तो उसका फोन बंद आ रहा था।“

पीड़िता के बुरी तरह से जले हुए शरीर को स्थानीय लोगों द्वारा पुल के नीचे खोजा गया, जिन्होंने पुलिस को सूचित किया।

परिवार के सदस्यों, जिन्होंने तब तक पहले से ही पुलिस कंप्लेंट दर्ज कर दी थी, उन्हें उस जगह पर आने के लिए कहा गया, जहां पीड़िता का शव मिला था।

परिवारवालों ने उसे पहने हुए लॉकेट की मदद से पहचाना। शव को पोस्टमार्टम के बाद उसके परिजनों को सौंप दिया गया।

शमशाबाद के डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने संवाददाताओं को बताया कि “हम इलाके से सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रहे हैं।

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

जले हुए शव के बारे में आज सुबह 7:30 बजे पुलिस को सूचना दी गई। हमें शक है कि उसे मिट्टी के तेल से  भिगोया गया और फिर जला दिया गया।”

पुलिस ने उन लोगों को ट्रैक करने के लिए 10 टीमों का गठन किया है, जिन्होंने प्रियंका को फंसाया और मार डाला

उसका वाहन अभी तक नहीं मिला है और इससे पुलिस को अहम सुराग मिल सकते हैं।

महिला डॉक्टर के सरकारी कर्मचारी पिता ने कहा कि, “जिसने भी ऐसा किया है उसे मौत की सजा दी जानी चाहिए।”

 (इनपुट एजेंसियों से भी)

big-news-supreme-court-verdict-on-hyderabad-encounter-ban-on-all-investigating-agencies

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × one =

Back to top button