breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबीमारियां व इलाजहेल्थ
Trending

Covaxin लेने के बाद किसी भी पैरासिटामोल या दर्द निवारक की सिफारिश नहीं की जाती है: भारत बायोटेक

अक्सर वैक्सीन लगने के बाद होने वाले साइड इफेक्ट या दर्द से बचने के लिए लोगों को सलाह दी जाती है कि वह पैरासिटामोल(paracetamol)या अन्य दर्द निवारक दवाएं ले सकते है,लेकिन क्या यह सलाह खुद कोवैक्सीन टीका निर्माता कंपनी भारत बायोटेक ने दी है?तो इसका जवाब है नहीं।

No-paracetamol-or-pain-killers-are-recommended-after-vaccinated-with Covaxin-says-Bharat-Biotech

नई दिल्ली:देश में कोरोना फिर से ओमिक्रोन(Omicron)के रूप में आतंक मचाने को तैयार खड़ा है।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि दिल्ली में तो कोरोना की तीसरी लहर(Corona third wave) आ चुकी है।

बढ़ते कोरोना केसों के मद्देनजर स्वास्थ्य मंत्रालय ने 15 से 18 साल तक के किशोरों के लिए देश में टीकाकरण भी शुरु कर दिया है। 

देश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम के तहत बच्चों को भी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन का टीका दिया जा रहा है।

हालांकि 18 साल से ऊपर के वयस्कों को कोवैक्सीन(COVAXIN) और कोविशील्ड(COVISHIELD) का टीका मुख्य तौर पर फ्री में उपलब्ध है और इसके अलावा स्पूतनिक वी और अन्य कोविड वैक्सीन जनता को मुहैया कराई जा रही है।

अक्सर वैक्सीन लगने के बाद होने वाले साइड इफेक्ट या दर्द से बचने के लिए लोगों को सलाह दी जाती है कि वह पैरासिटामोल(paracetamol)या अन्य दर्द निवारक दवाएं ले सकते है,लेकिन क्या यह सलाह खुद कोवैक्सीन टीका निर्माता कंपनी भारत बायोटेक ने दी है?तो इसका जवाब है नहीं।

Covaxin और Covishield लेने के 2 महीनों बाद कम होने लगती हैं एंटीबॉडीज:स्टडी

जी हां,देसी कोरोना रोधी टीका(Covid19 vaccine)बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक(Bharat-Biotech)ने बुधवार को एक प्रेस नोट जारी करके बताया

कि ‘कोवैक्सीन का टीका लगने के बाद किसी भी पैरासिटामोल या दर्द निवारक की सिफारिश नहीं की जाती(No-paracetamol-or-pain-killers-are-recommended-after-vaccinated-with Covaxin-says-Bharat-Biotech)है।’

जबकि अभी तक हम सभी ने देखा है कि कई वैक्सीन सेंटर्स पर कोवैक्सीन लगने के बाद होने वाले प्रभावों से उभरने के लिए पैरासिटामोल या किसी अन्य दर्द निवारक को लेने की सलाह दी जाती है।

ऐसे में भारत बायोटेक का यह बयान बहुत अहम है।

देश में बड़ों और अब बच्चों के लिए कोरोना रोधी टीका कोवैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने घोषणा की है कि हमें यह फीडबैक मिला है कि कुछ वैक्सीन सेंटर्स बच्चों को कोवैक्सीन के साथ-साथ 500 ग्राम की तीन पैरासिटामोल टेबलेट्स का भी सेवन करने की सिफारिश कर रहे है।

हम आपको बता दें कि कोवैक्सीन का टीका लगने के बाद किसी भी पैरासिटामोल या अन्य दर्द निवारक दवा के सेवन की सिफारिश नहीं की जाती(No-paracetamol-or-pain-killers-are-recommended-after-vaccinated-with-Covaxin-says-Bharat-Biotech) है।

30,000 व्यक्तियों पर किए गए हमारे क्लिनिकल ट्रायल  में से तकरीबन 10-20 फीसदी व्यक्तियों पर टीके का साइड इफेक्ट पाया गया है और इनमें से भी टीका लगने के बाद ज्यादातर लक्षण हल्के होते है।

ब्राजील के साथ कोवैक्सीन एक्‍सपोर्ट डील में ‘धांधली’ के आरोप,कांग्रेस PM पर हमलावर

जोकि एक-दो दिन में खुद-ब-खुद ठीक हो जाते है और इनसे उभरने के लिए किसी दवाई की जरुरत नहीं पड़ती।

टीका लगने के बाद जब आप किसी डॉक्टर से कंसल्ट करते है,केवल तभी दवाई का परामर्श दिया जाता है। 

पैरासिटामोल को अन्य कोविड वैक्सीन का टीका लगने के साथ लेने की सलाह दी जाती है,न कि कोवैक्सीन का टीका लेने के साथ।

टीका लगने के बाद भी देशभर में ढाई लाख से ज्यादा लोगों को हुआ कोरोना संक्रमण:सूत्र

No-paracetamol-or-pain-killers-are-recommended-after-vaccinated-with Covaxin-says-Bharat-Biotech

Show More

Reena Arya

रीना आर्य www.samaydhara.com की फाउंडर और एडिटर-इन-चीफ है। रीना आर्य ने पत्रकारिता के महज 6-7 साल के भीतर ही अपने काम के दम पर न केवल बड़े-बड़े ब्रांड्स में अपनी पहचान बनाई बल्कि तमाम चुनौतियों और पारिवारिक जिम्मेदारियों को निभाते हुए समयधारा.कॉम की नींंव रखी। हर मुद्दे पर अपनी ज्वलंत और बेबाक राय रखने वाली रीना आर्य एक पत्रकार, कंटेंट राइटर,एंकर और एडिटर की भूमिका निभा चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × one =

Back to top button