breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशबीमारियां व इलाजराज्यों की खबरेंहेल्थ
Trending

अब रूसी कोरोना वैक्सीन Sputnik V भी बनाएगा सीरम इंस्टिट्यूट, DCGI ने सशर्त दी मंजूरी

डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज भारत में रूस के स्पूतनिक V टीके का प्रोडक्शन कर रही है....

 DCGI gives permission serum-institute to manufacture Sputnik V

नई दिल्ली:DCGI यानि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) को कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी (Sputnik V) बनाने की सशर्त मंजूरी दे दी है।

हालांकि डॉ. रेड्डीज लैबोरेट्रीज भारत में रूस के स्पूतनिक V टीके का प्रोडक्शन कर रही है

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) की कंपनी SII अपने पुणे स्थित प्लांट में वैक्सीन का परीक्षण, विश्लेषण और फिर इसका निर्माण करेगी।

दरअसल कंपनी ने कुछ दिनों पहले वैक्सीन के परीक्षण, विश्लेषण व निर्माण के लिए DCGI के पास आवेदन किया था।

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने बताया है कि हमें स्पूतनिक वी के लिए प्राथमिक मंजूरी मिल गई है लेकिन असल मायने में इस वैक्सीन के निर्माण में अभी कुछ और महीने लगेंगे।

इस दौरान हमारा फोकस कोविशील्ड(Covishield) और कोवोवैक्स(Covax)पर ही होगा।

ध्यान दें कि भारत में लगाई जा रही कोविशील्ड का निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट ने ही किया है।

SII को इस रूसी वैक्सीन के लिए टेस्ट लाइसेंस मिला है।

इसका मतलब यह है कि वैक्सीन की जांच अथवा निर्माण के उद्देश्य से यह लाइसेंस दिया गया है। इस लाइसेंस के तहत वैक्सीन बेची नहीं जा सकती।

 DCGI gives permission serum-institute to manufacture Sputnik V

बताते चलें कि भारत में कोविशील्ड के अलावा भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और रूस की स्पूतनिक वी को भी आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिल चुकी है।

अभी तक स्पूतनिक वी का निर्माण डॉक्टर रेड्डीज लेबोरेटरीज द्वारा किया जा रहा है। यह वैक्सीन 65 से ज्यादा देशों में पंजीकृत है।

गौरतलब है कि स्पूतनिक वी की प्रभावकारिता 91।6 फीसदी है। यह प्रभावकारिता भारत में लगाई जा रही दोनों वैक्सीन (कोविशील्ड और कोवैक्सीन) से ज्यादा है। भारत में इस स्पूतनिक वी का इस्तेमाल 14 मई से शुरू हुआ था।

बीते मंगलवार को स्पूतनिक वी की 30 लाख खुराक की एक खेप हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंची।

जीएमआर हैदराबाद एयर कार्गो (GHAC) की ओर से जारी एक प्रेस रिलीज के मुताबिक, रूस से विशेष चार्टर विमान RU-9450 के जरिए मंगलवार को तड़के 3।43 मिनट पर स्पूतनिक वी वैक्सीन की 30 लाख खुराक यहां पहुंची।

 

 DCGI gives permission serum-institute to manufacture Sputnik V

 

(इनपुट एजेंसी)

 

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 − 5 =

Back to top button