breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें
Trending

Delhi के जंतर-मंतर पर आज किसान महापंचायत,बॉर्डर पर कड़ी सुरक्षा,लंबा जाम,जानें मुख्य मांगे

जंतर मंतर पर यह पंचायत सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक आयोजित की जाएगी। इस पंचायत के समापन के बाद महामहिम राष्ट्रपति जी(President)को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

Delhi-Farmers-mahapanchayat-at-Jantar-Mantar-today-here-demands

नई दिल्ली:दिल्ली(Delhi)में आज सोमवार का दिन पूरी तरह बवाल वाला शुरु हुआ है। जहां एक ओर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और बीजेपी के बीच वार-पलटवार जारी है, तो वहीं आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर किसान महापंचायत(Delhi-Farmers-mahapanchayat-at-Jantar-Mantar-today)है।

बड़ी संख्या में किसान विरोध-प्रदर्शन(Farmers Protest)करने के लिए दिल्ली के जंतर-मंतर पर आज जुट रहे है।

जिसके कारण दिल्ली पुलिस(Delhi Police)ने दिल्ली की सीमाओं पर कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था की(Security-tighten-on-Delhi-borders)है और इसके कारण दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे पर सराय काले खां के पास ग़ाज़ियाबाद से दिल्ली की तरफ कई किलोमीटर लंबा ट्रैफिक जाम लगा है।

यहां तक कि एम्बुलेंस भी फंसी है। संयुक्त किसान मोर्चा अराजनैतिक ने 22 अगस्त को दिल्ली के जंतर-मंतर पर किसान महापंचायत का ऐलान किया है।

जानकारी के मुताबिक यह एक दिन का कार्यक्रम होगा, जो पूर्ण तौर पर शांति व अनुशासन के साथ आयोजित किया जाएगा।

जंतर-मंतर पर आज किसानों के विरोध-प्रदर्शन(Farmers Protest)के आह्वान से पहले सिंघू बॉर्डर(Singhu-Border)पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

साथ ही राजधानी में आने वाले वाहनों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

Breaking News:हम तीनों कृषि कानून वापस लें रहे है: पीएम मोदी का एलान

जंतर मंतर पर यह पंचायत सुबह 11 बजे से शाम 4 बजे तक आयोजित की जाएगी। इस पंचायत के समापन के बाद महामहिम राष्ट्रपति जी(President)को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

संयुक्त किसान मोर्चा (अराजनैतिक) ने जानकारी देते हुए बताया कि यदि सरकार किसी भी तरह का व्यवधान डालने का प्रयास करेगी तो उसके लिए सरकार स्वयं जिम्मेदार होगी।

दरअसल किसान पंचायत की तरफ से कई मांगे की जा रही।इनमें प्रमुख मांगे (Delhi-Farmers-mahapanchayat-at-Jantar-Mantar-today-here-demands)है

-लखीमपुर खीरी नरसंहार के पीड़ित किसान परिवारों को इंसाफ मिले,

-किसान आंदोलन के दौरान जेलों में बंद किसानों की रिहाई की जाएं।

-लखीमपुर खीरी नरसंहार के मुख्य दोषी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी की गिरफ्तारी की जाए।

इसी के साथ मांग की गई है कि स्वामीनाथन आयोग के C2+50% फॉर्मूले के अनुसार MSP की गारंटी का कानून बनाया जाए और देश के सभी किसानों को कर्जमुक्त किया जाए। बिजली बिल 2022 रद्द किया जाए।

Farmers Protest:ट्रैक्टर रैली हिंसा के बाद किसान आंदोलन में फूट,अलग हुए दो गुट

किसानों की प्रमुख मांग ये भी है कि गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाया जाए और गन्ने की बकाया राशि का भुगतान तुरन्त किया(Delhi-Farmers-mahapanchayat-at-Jantar-Mantar-today-here-demands)जाए।

वहीं किसान आंदोलन(Kisan Andolan)के दौरान दर्ज किए गए सभी मुकदमे वापस लेने के साथ अग्निपथ योजना का मुद्दा भी काफी अहम है।

ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक, सोमवार सुबह 10 बजे से जंतर मंतर पर किसान महापंचायत शुरू होगी, जिसमें करीब 4-5 हजार लोगों के शामिल होने की संभावना है।

नतीजतन टॉलस्टॉय मार्ग, संसद मार्ग, जनपथ, विंडसर प्लेस, कनॉट प्लेस, अशोक रोड, बाबा खड़क सिंह मार्ग, पंडित पंत मार्ग समेत आस-पास के कई रास्तों पर दिनभर कंजेशन रहने की संभावना है।

साथ ही लोकल पुलिस भी कई जगह बैरिकेडिंग कर सकती है। इसलिए ट्रैफिक पुलिस ने लोगों से सुबह एक्स्ट्रा टाइम लेकर घर से निकलने और कंजेशन से बचने के लिए निजी वाहनों के बजाय मेट्रो का इस्तेमाल करने की सलाह दी है।

यह भी पढ़े:

 

 

UP: मुजफ्फरनगर किसान महापंचायत में ‘वोट की चोट’ से BJP के खिलाफ लामबंदी,27 सितंबर को भारत बंद

Delhi-Farmers-mahapanchayat-at-Jantar-Mantar-today-here-demands

Show More

shweta sharma

श्वेता शर्मा एक उभरती लेखिका है। पत्रकारिता जगत में कई ब्रैंड्स के साथ बतौर फ्रीलांसर काम किया है। लेकिन अब अपने लेखन में रूचि के चलते समयधारा के साथ जुड़ी हुई है। श्वेता शर्मा मुख्य रूप से मनोरंजन, हेल्थ और जरा हटके से संबंधित लेख लिखती है लेकिन साथ-साथ लेखन में प्रयोगात्मक चुनौतियां का सामना करने के लिए भी तत्पर रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button