breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशराजनीतिराज्यों की खबरें

योगी सरकार की गलत नीतियों से दुखी होकर गाजियाबाद में बाल्मीकि समाज के लोग हिन्दू धर्म छोड़ने को मजबूर हुए- संजय सिंह

संजय सिंह ने कहा कि गाजियाबाद में 236 वाल्मीकि और जाटव समाज के लोगों ने हिंदू धर्म को छोड़कर बौद्ध धर्म अपना लिया। हम उन भाइयों से हाथ जोड़कर अपील करते हैं कि आपको डरने की जरूरत नहीं है, हम आपके साथ हैं....

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

(प्रेस विज्ञप्ति)नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने गाजियाबाद में बाल्मीकि समाज के लोगों द्वारा धर्म परिवर्तन करने पर योगी सरकार की आलोचना की है।

पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद संजय सिंह (SanjaySingh) ने कहा कि योगी सरकार की गलत नीतियों से दुखी होकर गाजियाबाद में बाल्मीकि समाज(Valmiki community)के लोग हिन्दू धर्म (leave Hinduism) छोड़ने को मजबूर हुए।

उन्होंने कहा कि हम बाल्मीकि समाज के साथ हैं और उनकी लड़ाई लड़ते रहेंगे। यूपी में हो रहीं तमाम घटनाओं का हवाला देते हुए मैने प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है और उनसे तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की है।

वहीं, कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर के नाती राज रतन अंबेडकर पर पैसा लेकर धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाकर भाजपा ने पूरे दलित और बहुजन समाज को अपमानित किया है।

दलित समाज बिकने वाले नहीं है, हम अपने मान सम्मान के लिए लड़ेंगे और आने वाले समय में भाजपा को सबक सिखाएंगे। इस दौरान मौजूद विधायक राखी बिड़लान ने कहा कि गाजियाबाद में धर्म परिवर्तन करने वाले बाल्मीकि समाज के लोगों के प्रति सहानुभूति जताने की बजाय भाजपा उनको आतंकवादी कह रही है, यह बहुत ही शर्मनाक है।

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने यूपी में दलितों पर हो रहे अत्याचार को लेकर शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेस कांफ्रेंस की।

sanjay-singh-hit-back-yogi-adityanath_optimized

सांसद संजय सिंह ने कहा कि यूपी में पिछले कुछ महीनों में जिस प्रकार के हालात पैदा हुए हैं, उसको लेकर हम सबकी चिंताएं बढ़ गई हैं। यह साफ हो चुका है कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी प्रदेश के अंगर जातीय दंगे कराना चाहते हैं।

वो समाज को बांटने के काम में पूरी तरह से जुट गए हैं।

सीएम योगी (UP CM Yogi) यूपी में 94 प्रतिशत बनाम 6 फीसदी का झगड़ा कराना चाहते हैं। सीएम योगी इन लोगों को भड़काकर आपसी दंगे और हिंसा कराना चाहते हैं।

संजय सिंह ने आगे कहा कि इसी मामले पर मैंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है और उसमें तमाम घटनाओं के उदाहरण दिए हैं।

मैंने चिट्ठी में लिखा है कि किस प्रकार से यूपी के हाथरस में दलित बच्ची का सामूहिक बलात्कार किया जाता है, उसकी जान चली जाती है।

जब मां बिलखकर कहती है कि बेटी तो मर गई है, हमें उसका चेहरा तो देखने दो, तब सबूत मिटाने के लिए आदित्यनाथ की सरकार पेट्रोल छिड़क कर रात के अंधेरे में उसके शव को जला देती है।

इस मामले पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा था कि अगर वो किसी अमीर की बेटी होती तो क्या तुम उसे इस तरह रात के अंधेरे में जला देते। लेकिन इस बेशर्म सरकार पर कोई फर्क नहीं पड़ा।

उन्होंने कहा, बलिया में भाजपा नेता ने सीओ, एसडीएम और पुलिस के सामने एक पाल समाज के व्यक्ति की सीने पर गोली मारकर हत्या कर दी।

पूरी सरकार उस हत्यारे को बचाने में लग गई। यूपी सरकार हाथरस के आरोपियों को बचाने में भी लगी हुई है। यूपी के सीएम योगी की वजह से प्रदेश में जातीय दंगों की स्थिति पैदा हो गई है।

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

इसीलिए मैंने पीएम मोदी से तत्काल हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है। चुनाव से पहले पीएम वाल्मीकि समाज के लोगों के पैर धोकर पीते हैं और आपके सीएम योगी आदित्यनाथ वाल्मीकि, दलित और जाटव समाज के लोगों को अपमानित करते हैं।

उनको धर्म परिवर्तन करने पर मजबूर करते हैं। आज योगी आदित्यनाथ की कार्यप्रणाली की वजह से हिंदू धर्म पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है।

संजय सिंह ने कहा कि गाजियाबाद में 236 वाल्मीकि और जाटव समाज के लोगों ने हिंदू धर्म को छोड़कर बौद्ध धर्म अपना लिया। हम उन भाइयों से हाथ जोड़कर अपील करते हैं कि आपको डरने की जरूरत नहीं है, हम आपके साथ हैं।

अगर हमें अपना जीवन भी देना पड़ा, तब भी हम आपके साथ खड़े मिलेंगे। आपको योगी आदित्यनाथ से डरने की जरूरत नहीं है और दबाव में आकर झुकने की जरूरत नहीं है।

हम जान की बाजी लगाकर आपकी मदद करेंगे, हमारी पूरी पार्टी आपके साथ खड़ी है। आप दुखी होकर, मजबूरी में, पीड़ित होकर और बेटी को न्याय न मिलने पर हिंदू धर्म छोड़ने का फैसला न लें। हम आपके साथ हैं।

उन्होंने आगे कहा कि आज पूरे दलित समाज को भाजपाई कह रहे हैं कि वह आतंकवादियों से पैसे ले रहे हैं। भाजपाई कह रहे हैं कि यह लोग दाऊद इब्राहीम और आईएसआई से पैसा लेकर धर्म परिवर्तन कर रहे हैं।

कितने शर्म की बात है कि आप वाल्मीकि और जाटव समाज के लोगों के बारे में इतना घटिया सोच रहे हैं। आप दलितों को आतंकवादी और आईएसआई से जोड़ रहे हैं।

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

योगी जी अपको और आपके नेताओं को शर्म आनी चाहिए। आपको सोचना चाहिए कि आखिर क्यों आपकी नीतियों से परेशान होकर यह लोग धर्म छोड़ने पर मजबूर हुए। कल पूरी यूपी में अलग-अलग बस्तियों में वाल्मीकि और जाटव समाज के लोगों को निशाना बनाकर पीटा गया, उनको अपमानित किया गया।

कल लखनऊ में हमारे कार्यकर्ताओं के घरों में पुलिस ने छापेमारी की। उनके परिवार को अपमानित किया गया।

संजय सिंह ने आगे कहा कि हमारे एक दलित समाज के कार्यकर्ता विनोद, जो विकलांग है, उसे यूपी के सीएम अजय सिंह बिष्ट का थानेदार दिनेश सिंह बिष्ट घसीटकर थाने ले जाता है।

उसे पूरी रात थाने में रखा जाता है। इस मामले पर मैंने लखनऊ के सीपी, थानेदार और अन्य अधिकारियों से बात की। मैंने डीजीपी को टैग कर ट्वीट किया और पूछा कि किस जुर्म में हमारे दलित और विकलांग बच्चे को थाने में रखा गया है लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।

आदित्यनाथ जी एक दलित विकलांग को घसीटकर थाने में बंद कराना ठाकुरों की पहचान नहीं है। आप एक अत्याचारी और अन्यायी सीएम हो और यह पूरी यूपी देख रहा है।

उन्होंने आगे कहा, जिस प्रकार से कल आपने पुलिस के माध्यम से दलित विकलांग को माफियाओं की तरह घर से उठाया है। मैं उसकी शिकायत एससी-एसटी आयोग में करूंगा।

मैं इसकी शिकायत मानव अधिकार में करूंगा और इलाहाबाद हाईकोर्ट में भी मुकदमा दायर करूंगा। यूपी में इस प्रकार की दादागिरी हम नहीं चलने देंगे।

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

मैं योगी जी से कहना चाहता हूं कि आपका वाल्मीकि, दलित, जाटव, पाल, यादव और अन्य समाज विरोधी चेहरा जनता के सामने आ चुका है। इन सभी समाज के सामने योगी जी अपना विश्वास खो चुके हैं।

भाजपा के चेहरे को यह लोग पहचान चुके हैं और इन लोगों को अब बिलकुल भी भाजपा पर भरोसा नहीं रहा है। जो गुनाह भाजपा ने इन लोगों के साथ किया है समय आने पर यह लोग इसका करारा जवाब देंगे।

प्रेस वार्ता में मौजूद आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं दिल्ली केबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आखिरकार भाजपा का असली चाल-चरित्र जनता के सामने बेनकाब हो ही गया।

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की राजनीति ही जातिवाद पर पक्षपात पर और गरीब पिछड़े वर्ग के उत्पीड़न पर आधारित है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी के नाती श्री राज रतन अंबेडकर जी के बारे में भाजपा के लोगों द्वारा यह कहा जाना कि यह सब लोग पैसा लेकर धर्म परिवर्तन करवा रहे हैं,

यह लोग दाऊद इब्राहिम से मिले हुए हैं, यह लोग आईएसआई के एजेंट हैं, यह आरोप न केवल राजरत्न अंबेडकर जी का ही नहीं, बल्कि पूरे दलित समाज का अपमान है।

जिस प्रकार की भाषा भारतीय जनता पार्टी के नेता इस्तेमाल कर रहे हैं यह दलित समाज के लोगों को गाली देने के बराबर है। दलित समाज के लोग अब यह अपमान कतई नहीं सहेंगे।

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार का आरोप दलित समाज के लोगों पर लगाया जा रहा है, भाजपा के लोग कान खोल कर सुन ले दलित समाज बिकने वाले लोगों में से नहीं है।

जिस प्रकार से आज पूरे उत्तर प्रदेश में दलित समाज के लोगों के साथ अभद्र व्यवहार किया जा रहा है, मारपीट की जा रही है, उनकी बच्चियों के साथ बलात्कार की घटनाएं हो रही है, अब समय आ गया है कि पूरे देश का दलित समाज एक होकर भारतीय जनता पार्टी को सबक सिखाने का काम करेगा।

प्रेस वार्ता में मौजूद आम आदमी पार्टी की विधायक राखी बिड़लान ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए दलित समाज के लोगों पर आतंकवादियों से मिले होने का आरोप लगा रही है, आई एसआई का एजेंट बता रही है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूरी भारतीय जनता पार्टी को शर्म आनी चाहिए कि हाथरस में एक दलित परिवार की बेटी के साथ हुई शर्मनाक घटना के बाद इंसाफ ना मिलने की वजह से दुखी होकर दलित समाज के लोगों ने हिंदू धर्म को त्याग कर बौद्ध धर्म अपनाया, तो उनको दिलासा दिलाने की बजाय, उन्हें सांत्वना देने की बजाय भाजपा के लोग उन्हें आई एस आई का एजेंट बता रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पूरी भारतीय जनता पार्टी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बात को कान खोल कर सुन ले कि अब देश का दलित जाग गया है।

उन्होंने कहा की जिस प्रकार से योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश के अंदर दलितों पर अत्याचार कर रहे हैं और ठाकुर समाज के लोग जो खुलेआम दलितों के साथ मारपीट करते हैं, उनकी बच्चियों के साथ बलात्कार करते हैं, उन को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं, मैं योगी आदित्यनाथ जी से कहना चाहती हूं कि यह ठाकुरों की पहचान नही है।

ठाकुर बेटियों की इज्जत लूटते नहीं है बल्कि उनकी अस्मत बचाने के लिए जान की बाजी तक लगा देते हैं, उनकी इज्जत ढकने के लिए उस पर आँचल डालते हैं।

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

योगी आदित्यनाथ पर करारा प्रहार करते हुए राखी बिड़लान ने कहा कि आप अपने आप को हिंदू धर्म का ठेकेदार बताते हैं, तो मैं आप से पूछना चाहती हूं कि क्या हिंदू धर्म बेटियों की अस्मत लूटना सिखाता है? क्या हिंदू धर्म गरीबों का, मजदूरों का, दलितों का, निर्बल का शोषण करना सिखाता है?

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से भारतीय जनता पार्टी के लोग दलित समाज के लोगों को, बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर के वंशजों को आई एस आई का एजेंट बता रहे हैं, समय आने पर यही दलित और पिछड़ा समाज जो इस देश में 85 प्रतिशत की भागीदारी रखता है, भारतीय जनता पार्टी और उसके नेताओं को सत्ता से उखाड़ फेंकने का काम करेंगे और उन्हें यह बताएंगे कि असली हिंदू कौन क्या होता है।

उन्होंने कहा कि यह कोई पहली घटना नहीं है, इससे पहले भी चाहे भाजपा नेता चिन्मयानंद स्वामी हो या भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर हो या फिर हाथरस की घटना के चारों आरोपी हो हर मामले में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार आरोपियों के साथ खड़ी नजर आई है, आरोपियों को बचाने का काम करते हुए नजर आए हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चुनौती देते हुए राखी बिड़लान ने कहा कि यदि योगी आदित्यनाथ जी इस बात को साबित कर दें कि इन लोगों ने पैसा लेकर धर्म परिवर्तन किया है, यह लोग आईएसआई के साथ मिले हुए हैं तो मैं अपना जीवन त्याग दूंगी।

परंतु यदि वह इस बात को साबित नहीं कर पाए तो सार्वजनिक तौर पर दलित समाज से और देश से माफी मांगे और तुरंत प्रभाव से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दें।

क्योंकि भारतीय जनता पार्टी झूठ के आधार पर बनी में पार्टी है, भारतीय जनता पार्टी के तमाम लोग झूठ की राजनीति करते हैं, इसीलिए इन सभी को बाबा भीमराव अंबेडकर के अनुयाई आईएसआई के एजेंट नजर आते हैं।

पठानकोट में आतंकवादी हमले का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि आईएसआई के असली एजेंट तो यह भाजपा वाले हैं, जो इस देश के सैनिकों पर हुए आतंकवादी हमले की जांच के लिए भी पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई को बुलाते हैं।

राखी बिड़लान ने कहा कि असली आतंकवादी तो भाजपा के वह लोग हैं, जो इस देश के गरीब पिछड़े और दलित वर्ग को दबाने की साजिश कर रहे हैं।

परंतु यह भाजपा वाले कान खोल कर सुन लें  कि इस देश के संविधान ने हमें इतनी ताकत दी है कि भाजपा के इस अत्याचार के खिलाफ हम लगातार अपनी आवाज बुलंद करते रहेंगे।

UPCM’s-wrongpolicies-forced-Valmiki-community-to-leave-Hinduism-in-Ghaziabad-Sanjay Singh

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − 5 =

Back to top button