breaking_newsअन्य ताजा खबरेंदेशदेश की अन्य ताजा खबरेंबीमारियां व इलाजहेल्थ
Trending

Alert!बहरुपिया कोरोना के अब सामने आएं ये नए लक्षण,मुंबई में भी बढ़े केस,जानें यहां

अब बहरुपिया कोरोना नए लक्षणों(covid-19-New-symptoms)के साथ एक बार फिर कहर बरपाने को तैयार है। Maharashtra कोविड टास्क फोर्स ने सतर्क किया है कि बीते कुछ हफ्तों में कोरोना के नए लक्षण सामनेआएं है,

covid-19-New-symptoms-hearing-loss-dry-mouth-conjunctivitis-others

मुंबई:अभी तक कोरोनावायरस के लक्षण,बुखार,खांसी-नजला-जुखाम(Cough-cold)और गले में खराश और थोड़ा शरीर में दर्द ही माना जाता था,लेकिन अब बहरुपिया कोरोना नए लक्षणों(covid-19-New-symptoms)के साथ एक बार फिर कहर बरपाने को तैयार है।

Corona third wave: What experts including WHO have to say about the third wave, क्या हम COVID19 को लेकर जरूरी सावधानियां/एहतियात बरत रहे हैं?हमारी थर्ड वेव की तैयारी पुख्ता है? आज हम यहां इसी मुद्दे पर विस्तार में बात करेंगे.

Maharashtra कोविड टास्क फोर्स(COVID-Task-Force)ने सतर्क किया है कि बीते कुछ हफ्तों में कोरोना के नए लक्षण सामने(covid-19-New-symptoms-hearing-loss-dry-mouth-conjunctivitis-others)आएं है,

जिनमें-कोरोना मरीजों में सुनने की समस्या,आंखें आना,मुंह सूखना सरीखे लक्षण दिख रहे है।

दरअसल, महाराष्ट्र की राजधानी और देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में पिछले 3 सप्ताह में कोरोनावायरस के प्रतिदन केस दोगुने हो गए(Mumbai rates high covid cases) है।

COVID-19 third Wave:आ गई कोरोना की तीसरी लहर:मुंबई की मेयर का दावा

COVID-19: मार्केट से खरीदें फल-सब्जी के साथ घर आ सकता है कोरोना,समझ लें कैसे है धोना

इतना ही नहीं, यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 38% बढ़ी है। साथ ही राज्य में पॉजिटिविटी रेट भी बढ़ गया है। इसके पीछे कोरोना के नए लक्षणों का हाथ माना जा रहा है।

इसलिए कोविड टास्क फोर्स ने डॉक्टरों और लोगों को नए लक्षणों को लेकर सतर्क किया है।

अभी बीती 16 अगस्त को ही मुंबई ने Coronavirus की दूसरी लहर का सबसे कम संक्रमण का आँकड़ा (190 नए केस ) दर्ज किया था, अब 20 दिनों में ही कोरोना के मामले दोगुने  से भी बढ़कर एक दिन में 500 के क़रीब पहुंच गए हैं।

मुंबई में 20 दिन पहले की तुलना में एक्टिव पेशेंट 38% बढ़ गए तो पॉजिटिविटी रेट जो 0.7% थी वो बढ़कर 1.15% पर आ गई है।इन्हीं 20 दिनों में सील की गयीं इमारतें भी 21 से 44 यानी दोगुनी हो गई है।

COVID-19 से मौत के बचाव में वैक्सीन की पहली डोज 96.6% प्रभावी,दोनो डोज 97.5% तक प्रभावशील:केंद्र सरकार

 

बुखार,खांसी, जुखाम के अलावा अब ये है COVID-19 के नए लक्षण

covid-19-New-symptoms-hearing-loss-dry-mouth-conjunctivitis-others

मुंबई में कोविड नए लक्षणों के साथ रूप बदल रहा है,इसका असर देश के अन्य राज्यों पर भी पड़ना तय है।

बढ़ते कोरोना केसों के चलते महाराष्ट्र की कोविड टास्क फोर्स ने कोरोना के नए लक्षणों(corona new symptoms)को लेकर आगाह किया है।

अभी तक कोरोना के लक्षणों में बुखार, सूखी खांसी, स्वाद/गंध की कमी, गले में खराश, सिरदर्द, थकान तो शामिल है।

covid 19 New symptoms hearing loss-dry mouth- conjunctivitis including others
कोरोना के नए लक्षण

लेकिन अब  सामने आ रहे नए कोरोना लक्षणों में-सुनने की समस्या, मुंह सूखना, तेज़ सिरदर्द,कंजंक्टिवायटिस यानी आंख आना, स्किन रैशेज या स्किन में जलन, दस्त और ठंड लगना या चक्कर आना सरीखी समस्याएं भी शामिल हैं।

covid-19-New-symptoms-hearing-loss-dry-mouth-conjunctivitis-others

इतना ही नहीं, इस बार लक्षणों की शुरुआत में ही कमज़ोरी और बदनदर्द तेज़ या तीव्र दिख रहे हैं।

अगर यह 6 लक्षण है तो बिना पता लगे आपको हो सकता है कोरोना

बीकेसी जंबो सेंटर, की डॉ सोनाली कीर्तने बताती हैं, ’40 साल के मेल पेशेंको आज ही भर्ती किया है, ठंड लगकर फ़ीवर आने की उनकी समस्या क़रीब  पांच दिनों से इनमें थी, लेकिन इनमें अलग यह है कि पहले के मरीज़ों की तुलना में इनमें बदन दर्द और कमजोरी काफ़ी ज़्यादा है।’

महाराष्ट्र टास्क फ़ोर्स के डॉक्‍टर राहुल पंडित कहते हैं, ‘नए लक्षणों में कंजंक्टिवायटिस दिख रहा है, कुछ कोविड मरीज़ों में सुनने की भी दिक़्क़त दिख रही है, मुंह सूखने की मरीज़ों में शिकायत दिख रही है।

वहीं दूसरी लहर के दौरान जो गैस्ट्रोइंटेस्टिनल मामले थे वो अब भी दिख रहे हैं।

मरीज़ों में पेट ख़राब होने से शुरुआत होती है फिर कोविड निकलता है और जो मरीज़ अस्पताल में आ रहे हैं अधिकतम को साँस की दिक़्क़त होती है तब ही ये अस्पताल आते हैं।

Covaxin और Covishield लेने के 2 महीनों बाद कम होने लगती हैं एंटीबॉडीज:स्टडी

‘विशेषज्ञ बताते हैं कि फ़िलहाल क़रीब 40% कोविड मरीज़ों को ऑक्‍सीजन की ज़रूरत पड़ रही है।

कोविड जंबो हॉस्पिटल के डीन  डॉक्‍टर राजेश डेरे ने बताया, ‘अभी इस बार जितने मरीज़ आए हैं उनमें क़रीब 30-40% में ऑक्‍सीजन की ज़रूरत पड़ी है मुझे लगता है शायद दूसरी वेव के दौरान मुंबई में जितनी ऑक्सिजन की ज़रूरत रही शायद उतनी ही रहे या मार्जिनल राइज़ दिखे। मुझे नहीं लगता ज़्यादा फ़र्क़ दिखेगा।

‘कोविड सेंटरों में बड़ी संख्या में बेड ख़ाली हैं, पर शहर में जिस तरह से बीते क़रीब तीन हफ़्तों में मामले बढ़े हैं उससे पूरी व्यवस्था अलर्ट पर है।

covid-19-New-symptoms-hearing-loss-dry-mouth-conjunctivitis-others

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − two =

Back to top button